हटा

  • Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Hata News
  • "जियो और जीने दो' के जयघोष के साथ पालकी पर निकली भगवान श्रीजी की भव्य शोभायात्रा
--Advertisement--

"जियो और जीने दो' के जयघोष के साथ पालकी पर निकली भगवान श्रीजी की भव्य शोभायात्रा

भास्कर संवाददाता | तेंदूखेडा नगर की सकल जैन समाज ने भगवान महावीर जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया।सुबह से ही तीनों जैन...

Dainik Bhaskar

Mar 30, 2018, 04:20 AM IST
भास्कर संवाददाता | तेंदूखेडा

नगर की सकल जैन समाज ने भगवान महावीर जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया।सुबह से ही तीनों जैन मंदिरों में गाजे बाजों के साथ भगवान का भव्य अभिषेक हुआ। दोपहर में भगवान श्रीजी की शोभा यात्रा निकाली गई। इस दौरान पूरे नगर को भव्य रूप सजाया गया था।

जैन समाज के प्रत्येक घरों के सामने रंगोलियां सजाई गई थीं। जगह-जगह स्वागत गेट लगाए थे। शोभायात्रा में बैंड बाजे गाजे साथ भजन मंडलियां भजन गाते चल रही थीं। शोभा यात्रा सबसे पहले पंचायती मंदिर से शुरू हुई जो मुख्य मार्गों से होकर विद्यानगर में भगवान शांतिनाथ के मंदिर पहुंची, जहां पूजा आरती हुई।

इसके अलावा गल्ला मंडी मैदान से विद्यानगर, सुपर मार्केट से सिविल कोर्ट पहुंची। सिविल कोर्ट के पास श्रीराम भक्त सेवा समिति के कार्यकर्ताओं के द्वारा पुष्पवर्षा की गई। रास्ते में जैन समाज के प्रत्येक घरों में भगवान श्रीजी की आरती और श्रीफल भेंट किए। जगह जगह शुद्ध पीने के पानी की व्यवस्थाएं की गई थी।

बांदकपुर में हुआ विशेष पूजन: बांदकपुर। जिले के प्रसिद्ध तीर्थ क्षेत्र जागेश्वरधाम बांदकपुर में भगवान महावीर स्वामी के जन्मोत्सव पर सकल दिगंबर जैन समाज द्वारा पारसनाथ दिगंबर जैन मंदिर से भव्य शोभायात्रा निकाली गई। इस दौरान जगह-जगह भगवान का पूजन व स्वागत किया गया। नगर भ्रमण के बाद शोभायात्रा का वापस मंदिर में समापन हुआ।

भगवान महावीर स्वामी की जयंती पर नगर में भव्य शोभायात्रा निकाली गई।

मुनिश्री प्रबुद्ध सागर के सानिध्य में निकली शोभायात्रा

जबेरा/बनवार .जैन धर्म के अंतिम तीर्थंकर भगवान महावीर स्वामी की जयंती गुरुवार को धूमधाम से मनाई गई। नगर में विराजमान आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज के शिष्य मुनिश्री प्रबुध्द सागर जी महाराज के सानिध्य में नगर में शोभायात्रा निकाली गई। जिसमें श्रीजी को पालकी में विराजमान कर नगर के मुख्य मार्गोँ से शोभायात्रा निकाली। जगह-जगह लोगों ने आरती उतारकर स्वागत किया। इसके साथ ही घर-घर रंगोली सजाई गई। दोपहर में जैन मंदिर प्रांगण में श्रीजी का अभिषेक, शांतिधारा एवं पूजन किया गया। वहीं बनवार अंचल के चंडी चौपरा में भी 16 सौ वर्ष प्राचीन अतिशय श्री शांतिनाथ भगवान की 14 फीट खड़गासन प्रतिमा का विशाल पूजन, अभिषेक व शांतिधारा की गई। कमल सिंघई, ज्ञानी, धर्मचंद जैन, अनुराग चौधरी, श्रीपाल सिंघई, सौरभ मोदी, विमलेश जैन, अरुण जैन शामिल रहे।

भास्कर संवाददाता | तेंदूखेडा

नगर की सकल जैन समाज ने भगवान महावीर जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया।सुबह से ही तीनों जैन मंदिरों में गाजे बाजों के साथ भगवान का भव्य अभिषेक हुआ। दोपहर में भगवान श्रीजी की शोभा यात्रा निकाली गई। इस दौरान पूरे नगर को भव्य रूप सजाया गया था।

जैन समाज के प्रत्येक घरों के सामने रंगोलियां सजाई गई थीं। जगह-जगह स्वागत गेट लगाए थे। शोभायात्रा में बैंड बाजे गाजे साथ भजन मंडलियां भजन गाते चल रही थीं। शोभा यात्रा सबसे पहले पंचायती मंदिर से शुरू हुई जो मुख्य मार्गों से होकर विद्यानगर में भगवान शांतिनाथ के मंदिर पहुंची, जहां पूजा आरती हुई।

इसके अलावा गल्ला मंडी मैदान से विद्यानगर, सुपर मार्केट से सिविल कोर्ट पहुंची। सिविल कोर्ट के पास श्रीराम भक्त सेवा समिति के कार्यकर्ताओं के द्वारा पुष्पवर्षा की गई। रास्ते में जैन समाज के प्रत्येक घरों में भगवान श्रीजी की आरती और श्रीफल भेंट किए। जगह जगह शुद्ध पीने के पानी की व्यवस्थाएं की गई थी।

बांदकपुर में हुआ विशेष पूजन: बांदकपुर। जिले के प्रसिद्ध तीर्थ क्षेत्र जागेश्वरधाम बांदकपुर में भगवान महावीर स्वामी के जन्मोत्सव पर सकल दिगंबर जैन समाज द्वारा पारसनाथ दिगंबर जैन मंदिर से भव्य शोभायात्रा निकाली गई। इस दौरान जगह-जगह भगवान का पूजन व स्वागत किया गया। नगर भ्रमण के बाद शोभायात्रा का वापस मंदिर में समापन हुआ।

अहिंसा बाइक रैली निकली

हटा। भगवान महावीर स्वामी जयंती पर नगर में निकाली गई भव्य शोभायात्रा।

हटा।जैन धर्म के 24 वें तीर्थंकर भगवान महावीर स्वामी का जन्मकल्याणक महोत्सव पर तीन दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया। प्रथम चरण में सरकारी कार्यालयों के आसपास गरीब एवं निराश्रित जरूरतमंदों के लिए फाइल बैग भेंट किए गए। भारतीय जैन युवा मिलन एवं जैन महिला मिलन के द्वारा फाइल वितरण का कार्यक्रम निरंतर तीन दिन तक जारी रहा एवं इसे आगे बढ़ाने की भी बात कही गई। बुधवार को शाम नगर में अहिंसा बाइक रैली पार्श्वनाथ दिगंबर जैन बड़ा मंदिर से निकाली गई, जो बडा बाजार होते हुए मंदिर मस्जिद चौराहा, तीन बत्ती तिराहा, प्यासी मोहल्ला होते हुए रतन बजरिया, गौरीशंकर मंदिर, चंडी जी मंदिर, अंधियारा बगीचा होते हुए बड़ा बाजार स्थित जैन वेदी पर पहुंची। जहां सभी ने दीप प्रज्जलन करते हुए अहिंसा की ताकत एवं अहिंसा के महत्व को बताते नगर के रूबाईकार स्व. रामकुमार खरे अनुज की रुबाइयों का उल्लेख करते हुए कहा कि एटमबम के स्टाक से मिटती नहीं हिंसा, हिंसा को मिटाने के लिए भगवान महावीर चाहिए। तीसरे दिन जन्मकल्याणक महोत्सव के अवसर पर नगर के चारों जैन मंदिर में प्रातःकाल से ही भक्तों का एकत्रित होना प्रारंभ हो गया था। सभी मंदिरों में मंगलाचरण के साथ अभिषेक, शांतिधारा, आरती, पूजन एवं शांति विधान हुआ। जिसमें बड़ी संख्या में लोगों ने सामूहिक अभिषेक पूजन किया।

X
Click to listen..