Hindi News »Madhya Pradesh »Hata» 30 सालों में 2.5 एकड़ कम हुई तालाब की जमीन

30 सालों में 2.5 एकड़ कम हुई तालाब की जमीन

सागर| आपको जानकर हैरानी होगी कि पिछले 30 सालों में तालाब की तकरीबन एक हेक्टेयर (2.5 एकड़) जमीन कम हो गई है। इसका कारण है...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 30, 2018, 04:20 AM IST

30 सालों में 2.5 एकड़ कम हुई तालाब की जमीन
सागर| आपको जानकर हैरानी होगी कि पिछले 30 सालों में तालाब की तकरीबन एक हेक्टेयर (2.5 एकड़) जमीन कम हो गई है। इसका कारण है अतिक्रमण। तालाब के अंदर तक पक्के निर्माण हो चुके हैं। जिनकी रिपोर्ट तैयार बनने के बाद भी अफसर कार्रवाई करने से बच रहे हैं। दरअसल, तालाब की जमीन पर सांसद लक्ष्मीनारायण यादव, संघ कार्यालय समेत कुछ अन्य प्रभावशील लोगों ने निर्माण किए हैं। इसी के चलते अफसर भी इन लोगों पर कार्रवाई करने से बच रहे हैं।

दुबे का तालाब पर भी बेजा कब्जा: ऐेतिहासिक दुबे का तालाब भी साल-दर-साल घटता जा रहा है। किसी समय 2.57 एकड़ का यह तालाब एक एकड़ से भी ज्यादा नहीं बचा है। खसरा नंबर 322 के रकबा 2.57 एकड़ तालाब को 1954-55 के रिकॉर्ड में सांठ-गांठ कर खसरे से तालाब शब्द ही हटा दिया गया। जबकि आज भी वहां दुबे तालाब है। चूंकि अब जमीन बिक चुकी है, तो इसके अधिकांश हिस्से में प्लाट काटकर बेच दिया गया है। उधर, वर्धमान कॉलोनी के मकान भी तालाब की ओर सिसकते आ रहे हैं। चर्चा यह भी है कि विधायक की शह पर तालाब पर लगातार कब्जा हो रहा है। लेकिन अफसरों की सांठ-गांठ के चलते कार्रवाई नहीं कर पा रही है।

रिकॉर्ड में तालाब का कुल एरिया

131.805 हेक्टेयर (तकरीबन 325 एकड़) है बड़ा तालाब

27.393हेक्टेयर (तकरीबन 67 एकड़) है छोटा तालाब

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Hata

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×