हटा

  • Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Hata News
  • शासकीय जमीन पर कब्जा करके बन गए 350 मकान, लेकिन नाेटिस सिर्फ एक को
--Advertisement--

शासकीय जमीन पर कब्जा करके बन गए 350 मकान, लेकिन नाेटिस सिर्फ एक को

भास्कर संवाददातात| तेंदूखेड़ा नगर के वार्ड नौ भटरिया मोहल्ला में करोड़ों की सरकारी जमीन पर सैकड़ों लोगों ने कब्जा...

Dainik Bhaskar

Jan 18, 2018, 05:50 AM IST
भास्कर संवाददातात| तेंदूखेड़ा

नगर के वार्ड नौ भटरिया मोहल्ला में करोड़ों की सरकारी जमीन पर सैकड़ों लोगों ने कब्जा कर पक्के मकान बना लिए हैं, लेकिन मात्र एक पर ही अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की जा रही है। जबकि हैरानी की बात है कि तहसीलदार कार्यालय से अतिक्रमण हटाने के साथ साथ लगभग 150 सागौन के पेड़ हटाने का आदेश जारी कर दिया है। जबकि नियमानुसार सगौन इमारती लकडी के पेड़ कलेक्टर और वन विभाग की सहमति से ही अलग किए जा सकते हैं।

इसके अलावा भटरिया पर सरकारी जमीन पर लगभग 350 पक्के मकान बने हुए हैं जिनका नगर परिषद हर साल सेमेकित टेक्स वसूल कर रही है। इसके अलावा परिषद प्रत्येक कब्जाधारियोंं के घरों में मीटर कनेक्शन तथा पीने का पानी भी उपलब्ध कराया जा रहा है, लेकिन मात्र व्यक्तिगत तौर पर एक ही कब्जा हटाने का नोटिस जारी किया गया है।

कब्जाधारी वृंदावन विश्वकर्मा ने आरोप लगाया है कि प्रशासन की यह कैसी कार्रवाई है कि 350 घरों में से मात्र उनके ही पेड़ और पत्थरों की खकरी हटाने का नोटिस जारी किया गया है। गौरतलब है कि नगर में भटरिया मोहल्ला में सैकड़ों एकड़ करोड़ों की सरकारी भूमि पर दबंगों ने कब्जाकर पक्के मकान बना लिए हैं। इसके अलावा सरकारी जमीन पर कब्जाकर लाखों रूपए में बेचने का धंधा भी लोगों के द्वारा चलाया जा रहा है। हैरानी की बात तो यह है कि लगभग साढ़े तीन सौ मकान परिषद की बिना अनुमति के बनाए गए हैं। जिस पर परिषद के अधिकारियों और कर्मचारियों ने आज तक किसी भी प्रकार की कार्रवाई नहीं की गई है। यहां पर अधिकांश ऐसे लोगों ने कब्जा कर लिया है जिनके नगर के अलावा दूसरे ग्राम या शहरों में मकान बने हुए हैं। ऐसा भी हुआ है कि सरकारी कागजों में सरकारी जमीन को कहीं-कहीं लगान की भी बना दिया है। अब दबंग लोगों फारेस्ट की भूमि में भी कब्जा करना शुरू कर दिया है। जिन पर प्रशासन के अधिकारी कोई कार्रवाई नहीं कर रहे हैं या कार्रवाई करने से कतरा रहे हैं।

तेंदूखेड़ा। भटरिया मोहल्ला की सरकारी जमीन पर बने पक्के मकान।

एक व्यक्ति के नाम जारी किया बेदखली आदेश: तहसील कार्यालय से 15 जनवरी को नगर के वृंदावन विश्वकर्मा के नाम से बेदखली का आदेश जारी किया गया है। जिसमें पत्थरों की बाउंड्री एवं सागौन के वृक्षों को अनधिकृत कब्जा कर लगाने का आरोप लगाकर शासकीय भूमि पर कब्जा हटाने का आदेश जारी किया गया है। जबकि प्रशासन स्वयं करोड़ों रूपए खर्चकर पौधा रोपण का कार्य करा रही है। शासकीय भूमि पर पत्थरों की खकरी उठाकर व्यक्तिगत तौर पर लगभग 150 सागौन के पौधे लगाकर सुरक्षा की जा रही है। प्रशासन की नजर में गलत किया जा रहा है।

मुझे व्यक्तिगत तौर पर परेशान किया जा रहा

वृंदावन विश्वकर्मा ने बताया कि तहसील कार्यालय से सिर्फ मेरी खकरी और सागौन के पेड़ हटाने की कार्रवाई के लिए नोटिस काटा गया है। जबकि मेरे आसपास लगभग 350 सरकारी जमीन पर कब्जाकर मकान बनाए गए हैं। जिन पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। मात्र मुझे ही व्यक्तिगत तौर पर परेशान किया जा रहा है। यदि सभी पर कब्जा हटाने की कार्रवाई की जाएगी तो मै स्वयं पत्थर की खकरी अलग करवा दूंगा। मैने पत्थर की खकरी सागौन के पेड़ों की सुरक्षा के लिए ही उठवाई थी। प्रशासन को यदि पेडों की सुरक्षा में बनाई गई खकरी से परेशानी है तो में अलग करूवा दूंगा।

खकरी हटाने की कार्रवाई की जाएगी


X
Click to listen..