--Advertisement--

मातारानी के जयकारों के साथ विसर्जित किए जवारे

हटा | चैत्र नवरात्र के अंतिम दिन शक्ति की भक्ति के महोत्सव नवरात्रि का समापन सोमवार को हुआ। अंतिम दिन भी माता के...

Dainik Bhaskar

Mar 27, 2018, 06:30 AM IST
मातारानी के जयकारों के साथ विसर्जित किए जवारे
हटा | चैत्र नवरात्र के अंतिम दिन शक्ति की भक्ति के महोत्सव नवरात्रि का समापन सोमवार को हुआ। अंतिम दिन भी माता के भक्तों ने हवन कन्या भोज महाआरती जैसे धार्मिक आयोजन शाम के समय देवी के दीवालो से बैंड बाजों के साथ माता रानी के जयकारों के साथ जवारे निकाले गए। सुबह से ही मातारानी के मंदिरों में दीवालो में विधि विधान के साथ वैदिक मंत्रों के साथ हवन पूजन एवं कन्या भोज व भंडारे किए गए। शाम को माता रानी के जवारे निकाले गए जवानों के साथ महिलाएं भाव खेलते हुए चल रही थी। माता रानी के उपासक मुह में बाना पहनकर माता रानी के जयकारे लगाते हुए चल रहे थे। कुछ श्रद्धालु ऐसे भी थे जो दंडवत होकर माता रानी के दरबार पहुंचे। इसके बाद जवारे विसर्जन किए गए। 9 दिनों तक मां की उपासना में लीन भक्तों ने मा की पूजन अर्चन कर आशीर्वाद लेकर व्रत का समापन किया। मंदिर के आसपास मेले जैसा माहौल बना हुआ था। सार्वजनिक दुर्गा उत्सव समिति के द्वारा प्रतिवर्ष के अनुसार इस वर्ष भी प्रसाद वितरण के लिए अलग से काउंटर बनाए गए। उसमें सभी श्रद्धालुओं ने प्रसाद ग्रहण कर अपना उपवास खोला।

X
मातारानी के जयकारों के साथ विसर्जित किए जवारे
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..