हटा

--Advertisement--

अपनी ही जमीन के लिए भटक रहा आवेदक

ग्राम पंचायत हिनौती खेतसिंह के ग्राम पिपिरया नंदलाल में एक गरीब आदिवासी परिवार बीते 20 वर्षों से न्याय पाने भटक...

Dainik Bhaskar

Jan 13, 2018, 08:50 AM IST
ग्राम पंचायत हिनौती खेतसिंह के ग्राम पिपिरया नंदलाल में एक गरीब आदिवासी परिवार बीते 20 वर्षों से न्याय पाने भटक रहा है। पीड़ित परिवार की प्रभाबाई ने बताया कि पटवारी, आरआई व तहसीलदारों की मिलीभगत के चलते उसकी 2.640 रकवा हेक्टेयर कृषि भूमि को हथिया लिया गया है और उल्ट प्रकरण हकदार के प्रभाबाई पति सरमन आदिवासी के विरुद्ध बना दिया गया है।

जिसमें नायब तहसीलदार नोहटा द्वारा इस मामले में 7 जुलाई 2017 को निर्णय पारित किया गया। जिसमें उल्लेख किया गया है कि मिठाई लाल पिता अजीत सिंह आदिवासी निवासी पिपरिया नंदलाल के निवासी हैं। जिसकी केस के दौरान 14 फरवरी 2015 को मौत हो गई थी। लेकिन भूमि का प्रकरण उसके बेटे और प|ी सुहागरानी द्वारा लड़ते रहे।

निर्णय में कहा गया है कि अपील के लंबित रहने से अनावेदक की मृत्यु होने पर उसके विधिक प्रतिनिधि को रिकार्ड पर लाए बिना आदेश पारित करना अवैध है, लेकिन नायब तहसीलदार नाेहटा द्वारा 017 को नारायण पिता मिठाई लाल आदिवासी को नोटिस दिया गया है और मामले की सुनवाई 20 नवंबर2017 को रखी गई थी। लेकिन इस मामले में नोहटा नायब तहसीलदार कार्यालय में आज तक न कोई पेशी हुई और न ही रिकार्ड में नाम दर्ज किया गया। जिससे आवेदक भटक रहा है। आवेदक ने कलेक्टर को आवेदन देकर कार्रवाई की मांग की है।

X
Click to listen..