Hindi News »Madhya Pradesh »Hata» मनमानी:ईंट-भट्‌टों में सरपंच ने लगवा दिए टैंकर, इधर ग्रामीण बूंद-बूंद पानी को परेशान

मनमानी:ईंट-भट्‌टों में सरपंच ने लगवा दिए टैंकर, इधर ग्रामीण बूंद-बूंद पानी को परेशान

ग्रामीण अंचलों में पेयजल संकट के निराकरण के लिए ग्राम पंचायतों को दिए गए टैंकरों का दुरुपयोग हो रहा है। इन टैंकरों...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 01, 2018, 03:15 AM IST

मनमानी:ईंट-भट्‌टों में सरपंच ने लगवा दिए टैंकर, इधर ग्रामीण बूंद-बूंद पानी को परेशान
ग्रामीण अंचलों में पेयजल संकट के निराकरण के लिए ग्राम पंचायतों को दिए गए टैंकरों का दुरुपयोग हो रहा है। इन टैंकरों का उपयोग व्यवसायिक रूप में किया जा रहा है। ऐसा ही एक मामला ग्राम पंचायत भिड़ारी का सामने आया, जहां ग्राम सरपंच सचिव की मनमानी से सार्वजनिक टैंकर का व्यवसायिक रूप में उपयोग किया जा रहा है। जबकि इस गांव के लोग बूंद-बूंद पानी के लिए यहां-वहां भटक रहे हैं।

पंचायत द्वारा टैंकर को ईंट भट्‌टों पर पानी देने में लगा दिया गया है। स्थानीय निवासी राजेश, रंजीत, धर्मेंद्र, लालसिंग, महेंद्र, धर्मेन्द्र ठाकुर ने बताया कि सरपंच व रोजगार सहायक ग्राम पंचायत की संपत्ति के व्यवसायिक उपयोग कर रहे हैं। राजनैतिक पहुंच के चलते शिकायत के बाद जिम्मेदार अधिकारी कोई कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। वहीं प्रभावशाली होने के कारण गांव के लोग भी खुलकर सामने नहीं आ रहे हैं। गौरतलब है कि सांसद, विधायक विकास निधि से अधिकांश ग्राम पंचायतों को ग्रामों में पेयजल आपूर्ति के लिए टैंकर मिले हैं। इनका उपयोग पंचायत द्वारा ग्रामीणों को पेयजल उपलब्ध कराने एवं अन्य सार्वजनिक कार्यों के लिए किया जाता है। लेकिन अधिकांश ग्राम पंचायतों के सरपंच मनमाने तरीके से इन टैंकरों का उपयोग कर रहे हैं। कोई अपने घर में पानी के लिए उपयोग कर रहा है तो कोई अन्य कार्यों में इन्हीं लगा देते हैं। जबकि गांव के लाेग पानी के लिए यहां-वहां भटक रहे हैं। इस संबंध में जनपद पंचायत अध्यक्ष अनुष्का संदीप राय का कहना है कि यदि ग्रामीणों को मिलने वाली सुविधा का व्यवसायिक उपयोग किया जा रहा है तो संबंधित ग्राम पंचायत के जिम्मेदारों के विरुद्घ कार्रवाई के लिए जिला कार्यालय को लिखा जाएगा।

हटा। ग्राम पंचायत भिड़ारी में ग्राम पंचायत के टेंकर का उपयोग ईंट भट्‌टों में किया जा रहा है।

कार्रवाई की जाएगी

आरके चौबे, जनपद सीईओ का कहना है कि सार्वजनिक प्रायोजन एवं पेयजल आपूर्ति के लिए ग्राम पंचायत को मिले टैंकरों का व्यवसायिक उपयोग नियम विरुद्घ है। यदि ऐसा हो रहा है तो इसे रोका जाएग और ग्राम पंचायत सरपंच सचिव व रोजगार सहायक के खिलाफ धारा 40 की कार्रवाई की जाएगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Hata

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×