Hindi News »Madhya Pradesh »Hata» झील की सफाई के लिए 2.69 करोड़ जारी, उज्जैन के पंपों से निकालेंगे पानी

झील की सफाई के लिए 2.69 करोड़ जारी, उज्जैन के पंपों से निकालेंगे पानी

शहर की लाखा बंजारा झील की सफाई के लिए 10 करोड़ की राशि में से 2 करोड़ 69 लाख की पहली किस्त जारी कर दी गई। शहर विधायक...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 02, 2018, 03:25 AM IST

झील की सफाई के लिए 2.69 करोड़ जारी, उज्जैन के पंपों से निकालेंगे पानी
शहर की लाखा बंजारा झील की सफाई के लिए 10 करोड़ की राशि में से 2 करोड़ 69 लाख की पहली किस्त जारी कर दी गई। शहर विधायक शैलेंद्र जैन ने मंगलवार दोपहर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह से राशि के संबंध में भेंट की।

मुख्यमंत्री ने प्रमुख सचिव विवेक अग्रवाल को बजट अलॉट करने के निर्देश दिए और शाम को प्रमुख सचिव ने विधायक को बुलाकर राशि की मंजूरी का पत्र सौंप दिया।

हालांकि इस राशि का कैसे और कहां-कितना उपयोग होगा, यह अभी तय होना बाकी है। दरअसल, नगर निगम इस राशि को जेसीबी, डंपर व ट्रैक्टर-ट्रॉली पर खर्च करना नहीं चाहता। दूसरी तरफ झील को खाली करने के लिए निगम अब उज्जैन से राजघाट के लिए लाए गए 6 पंपों का इस्तेमाल करेगा। बुधवार को पंप झील के बंधान पर रखे जाएंगे।

अभी श्रमदान से होगी सफाई, टेंडर भी लगाएंगे

विधायक जैन का कहना है कि लाखा बंजारा झील प्रदेश की दूसरी सबसे बड़ी झील है। इसके संधारण और संरक्षण के लिए जल्द ही टेंडर बुलाकर डिसिल्टिंग का काम कराएंगे। यदि टेंडर प्रक्रिया में देर हुई तो निगम विभागीय स्तर पर भी काम करा सकता है। अभी श्रमदान से झील की सफाई का अभियान शुरू करने जा रहे हैं। शहर की विभिन्न संस्थाएं, समाजसेवी संगठन इसमें श्रमदान करेंगे।

भास्कर की मुहिम का असर

पानी खाली होने के साथ ही झील के किनारों पर इस तरह सिल्ट दिखने लगी है।

नए साल में लाखा बंजारा झील की सफाई के संकल्प दीप के साथ शुरू हुई दैनिक भास्कर की पहल आओ संवारंे धरोहर-सरोवर पर काम आगे बढ़ने लगा है।

कैसे बाहर निकलेगी गाद देखने पहुंचे महापौर, अध्यक्ष व पार्षद

महापौर अभय दरे, निगम अध्यक्ष राजबहादुर सिंह व उपायुक्त डॉ. प्रणय कमल खरे ने मंगलवार की शाम पार्षद और इंजीनियरों के साथ झील पहुंचे। उन्होंने यह भी देखा कि घाटों के आसपास से श्रमदान के जरिए गाद को कैसे बाहर निकाला जा सकता है। महापौर दरे का कहना है कि झील का पानी जितनी तेजी से खाली हाे रहा है नाले-नालियों के जरिए उसी गति से भर रहा है। उज्जैन के पंपों से अब झील को खाली करेंगे। यह हैवी पंप पहले राजघाट का पानी लिफ्ट करने में उपयाेग किए गए थे। इससे झील जल्द खाली हो सकती है।

जनसहयाेग से जुटाएंगे संसाधन

महापौर दरे का कहना है कि जेसीबी, डंपर व ट्रैक्टर-ट्रॉली आदि संसाधन हम जनसहयोग से जुटाएंगे। और राशि का इंतजाम कर ड्रेजिंग मशीनों से सिल्ट हटाने की प्लानिंग चल रही है। एक-दो दिन में हम तय कर लेंगे कि इस पर कैसे काम होगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Hata

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×