Hindi News »Madhya Pradesh »Hata» बिना पुलिस फोर्स के हटवाया दो महिला अिधकारियों ने अतिक्रमण

बिना पुलिस फोर्स के हटवाया दो महिला अिधकारियों ने अतिक्रमण

नगर में बेशकीमती पुरानी दाल मिल की जमीन को अतिक्रमण मुक्त कराने की मुहिम गुरुवार से शुरू कर दी गई है। दो महिला...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 11, 2018, 03:45 AM IST

बिना पुलिस फोर्स के हटवाया दो महिला अिधकारियों ने अतिक्रमण
नगर में बेशकीमती पुरानी दाल मिल की जमीन को अतिक्रमण मुक्त कराने की मुहिम गुरुवार से शुरू कर दी गई है। दो महिला अधिकारियों सीएमओ प्रियंका झारिया एवं तहसीलदार ज्योति ठाकुर के निर्देशन में नगर पालिका और राजस्व के अमले द्वारा शुरू की गई मुहिम के दौरान पुलिस तथा अन्य सुरक्षा व्यवस्था का अभाव देखने को मिला।

उसके बावजूद यहां पर कब्जा हटाने की मुहिम जारी रही। हटा के बेशकीमती चरनोई मद की शासकीय भूमि पर वर्षों पूर्व निर्मित दाल मिल का अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई के दौरान कुछ कब्जाधारियों ने विधायक का हवाला देकर 5 दिन की मोहलत की मांग की। जिस पर विधायक के लिखित आदेश लाने को कहा गया। 1 घंटे में जब कोई लिखित आदेश प्रस्तुत नहीं किया गया तो मौजूद लोगों से अपना सामान हटाने को कहा गया। मौजूद लोगों को कीमती सामान बाहर निकालने का समय देखकर अधिकारियों ने जेसीबी का रुख खाली पड़े पुराने बेयर हाउस की और करा दिया। तथा देखते ही देखते कुछ ही देर में पुराने वेयरहाउस को धराशाई कर दिया। इस दौरान गोदाम पर कब्जा जमाए बैठे पन्ना साहू सूचना मिलने के बाद भी गोदाम में ताला डाल कर गायब हो गए।जिसके बाद दोनों महिला अधिकारियों ने पहले तो पन्ना साहू को तलाश करवाया और जब वो नहीं मिले तो बंद शटर की वीडियो ग्राफी कराकर उसे तोड़ दिया और भीतर पड़े समान की सूची पंचनामा बनाकर गिराने की कार्रवाई आरंभ कर दी गई।

गौरतलब है कि इस कार्रवाई के पूर्व एसडीएम ने सुरेश नामदेव, लक्मन साहू, पन्ना साहू एवं हफ़ीज खान को 15 दिवस में परिसर खाली करने का आदेश पारित किया था। इसके बावजूद इन चारों के अलावा अन्य अतिक्रमण कारियों ने अपना अतिक्रमण नहीं हटाया। जिसके चलते गुरूवार को अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई शुरू की गई।

एसडीएम के आदेश पर करोड़ों रुपए की जमीन को कराया जा रहा अतिक्रमण मुक्त

अतिक्रमण हटातीं तहसीलदार ज्योति ठाकुर व सीएमओ प्रियंका झारिया।

समाधानकारक उत्तर दर्ज कराने के दिए निर्देश

दमोह।
समाधान ऑनलाइन सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण विभाग अंतर्गत राष्ट्रीय परिवार सहायता योजना एवं 300 दिनों से अधिक समय से लंबित व आंशिक रूप से बंद शिकायतों के संबंध में अपर कलेक्टर आनंद कोपरिहा ने सीईओ जनपद पंचायत हटा को समाधानकारक उत्तर दर्ज कराने एवं शिकायतकर्ता से संपर्क कर संतुष्टि दर्ज कराने निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है सभी शिकायतों की मानीटरिंग में राष्ट्रीय परिवार सहायता के प्रकरणों में निराकरण जो दर्ज किए गए हैं, इन प्रकरणों की समीक्षा करने पर देखा गया है दस्तावेजों पर सूक्ष्म परीक्षण नहीं किया गया है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Hata

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×