• Home
  • Mp
  • Hoshangabad
  • युवा मोर्चा कार्यकारिणी में मिथलेश महामंत्री, ओमनाथ उपाध्यक्ष बने
--Advertisement--

युवा मोर्चा कार्यकारिणी में मिथलेश महामंत्री, ओमनाथ उपाध्यक्ष बने

आठनेर | युवा मोर्चा के मंडल अध्यक्ष विक्रम गीद ने ग्रामीण मंडल कार्यकारिणी गठित की। नई कार्यकारिणी में मिथलेश...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 02:10 AM IST
आठनेर | युवा मोर्चा के मंडल अध्यक्ष विक्रम गीद ने ग्रामीण मंडल कार्यकारिणी गठित की। नई कार्यकारिणी में मिथलेश लहरपुर निवासी हिड़ली को युवा मोर्चा ग्रामीण महामंत्री नियुक्त किया है। कार्यकारिणी में उपाध्यक्ष ओमनाथ बारस्कर, हंसराज देशमुख, उमेश सराटकर, जितेंद्र बारपेटे, कोषाध्यक्ष पिकेश डेंगे, मंत्री मनीष मालवीय, नीलेश कनाठे, गोपाल जितपुरे, राजेंद्र लहरपुर, मोहन उइके को बनाया है। इसी तरह कार्यालय मंत्री आकाश महाले, मीडिया प्रभारी संजय टेकपुरे, सोशल मीडिया प्रभारी आकाश कापसे, आईटी प्रभारी आशीष धोटे, सदस्य कानूलाल उइके, रामेश्वरम धुर्वे, महेंद्र माथनकर, लोकेश गवाड़े, दिनेश टेकाम, अमित जितपुरे, मनोज लवाहे, राजेश वंजारे को बनाया है।

8 समितियों के 70 कर्मचारी हड़ताल पर

आठनेर | ब्लॉक के सहकारिता कर्मचारियों की हड़ताल से राशन सहित भावांतर पंजीयन सहित अन्य कार्य प्रभावित हाे रहे हैं। आठ सहकारी समितियों के 70 कर्मचारी आंदोलन में शामिल होने से गरीब किसान परेशान हो गए हैं। ब्लाॅक में 48 राशन दुकानें हैं। 5 गेहूं पंजीयन केंद्र हैं और 8 बचत बैंक हैं। 21 फरवरी से जारी आंदोलन में सहायक प्रबंधक चौकीदार, प्यून, कंप्यूटर आॅपरेटर सहित अन्य कर्मचारी आंदोलन में शामिल हैं। प्रांतीय उपाध्यक्ष विकेश मालवीय व जिलाध्यक्ष लखन यादव के नेतृत्व में आठनेर के रामदयाल आजाद, गणेश लहरपुरे, इशाक पठान, भोला सोलंकी, ज्ञानदेव गावंडे, सुरेश कनाठे, हेमंत गढ़ेकर, धरमू धोटे नियमितीकरण सहित अन्य मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे हैं।

424 किसानों को सहायता मंजूर, आेले से बर्बाद हो गई थी तरबूज की फसल

शाहपुर | बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि से प्रभावित करीब 424 तरबूज बाड़ी के मालिकों को सहायता राशि मंजूर हुई है। राजस्व विभाग के अनुसार सभी प्रभावित किसानों की सूची संबंधित पंचायतों में दावे आपत्ति के लिए चस्पा करने के बाद भक्तनढाना के करीब 1 दर्जन किसान और जुड़े हैं। आईएस सिद्वार्थ जैन ने बताया कि सभी किसानों को राहत राशि ई-पेमेंट के माध्यम से होना है। सभी प्रभावित किसानों से पासबुक की छाया प्रति संबंधित पटवारी, तहसील कार्यालय में उपलब्ध कराने को कहा है।