--Advertisement--

भास्कर संवाददाता| खिरकिया

भास्कर संवाददाता| खिरकिया क्षेत्र में हर साल जलसंकट की स्थिति निर्मित होती है। इसे देखते हुए एसडीएम ने जलसंकट...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 03:55 AM IST
भास्कर संवाददाता| खिरकिया

क्षेत्र में हर साल जलसंकट की स्थिति निर्मित होती है। इसे देखते हुए एसडीएम ने जलसंकट से निपटने के लिए प्राकृतिक जल स्रोतों से सिंचाई पर प्रतिबंध लगा दिया है। एसडीएम वीपी यादव ने गुरुवार को खिरकिया अनुभाग में प्राकृतिक जल स्रोत नदी, तालाब, नालों से सिंचाई करने पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया है।

आदेश में एसडीएम ने कहा है कि इन दिनों रबी की फसल के बाद किसान खेतों में मूंग की फसल लगाएंगे। इसकी सिंचाई के लिए प्राकृतिक जल स्रोतों का उपयोग करते हैं। इससे नदी, नालों में पानी की कमी आ जाती है। इससे मवेशियों को पीने का पानी नहीं मिल पाता। वहीं जलचर जीव जंतुओं का जीवन संकट में पड़ जाता है। इसके अलावा लोगों को भी पीने का पानी नहीं मिल पाता। इसे देखते हुए प्राकृतिक जल स्रोतों से सिंचाई करने पर प्रतिबंध लगाया है। उल्लंघन करने वालों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी।