Hindi News »Madhya Pradesh »Hoshangabad» 29 किसानों के सीज खाते किए चालू अन्य को लेकर संशय की स्थिति

29 किसानों के सीज खाते किए चालू अन्य को लेकर संशय की स्थिति

समर्थन मूल्य पर मूंग, उड़द बेचने के बाद जिला प्रशासन के निर्देश पर क्षेत्र के करीब 500 से अधिक किसानों के सीज खातों की...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 02, 2018, 06:05 AM IST

समर्थन मूल्य पर मूंग, उड़द बेचने के बाद जिला प्रशासन के निर्देश पर क्षेत्र के करीब 500 से अधिक किसानों के सीज खातों की जांच के बाद गुरुवार को 29 किसानों के खाते चालू करने के आदेश एसडीएम ने जारी किए, लेकिन अधिकांश किसानों के खातों को लेकर खसरा नकल में कई प्रकार की विसंगति सामने आ रही है। सत्यापन में पाया कि एक एकड़ जमीन पर 50 क्विंटल तक उपज बेच दी गई। ऐसे लोगों पर अब तक प्रशासन ने कोई कार्रवाई नहीं की। न ही इसमें लिप्त मंडी अफसर, कर्मचारियों पर कोई कार्रवाई हुई। वहीं सोसाइटियों ने भी अपना पल्ला झाड़ लिया है।

सोसाइटी व मंडी निर्देश से अनभिज्ञ

किसानों के पुराने पंजीयन को लेकर किसी को कोई जानकारी न होना सबसे बड़ी परेशानी है। इससे किसान भटक रहे हैं। अफसरों को भी इसकी जानकारी नहीं कि कौन-कौन से दस्तावेज किसान को जमा करना है। ऐसे में वह कभी सोसाइटी तो कभी मंडी के चक्कर लगा रहे हैं।

खिरकिया। मंडी अफसर, तहसीलदार, आरआई, पटवारी से चर्चा करते एसडीएम।

रजिस्ट्रेशन के दिए निर्देश

जिला प्रशासन ने गेहूं, चने का रजिस्ट्रेशन कराने वाले किसानों को पुराने ही खसरे पर रजिस्ट्रेशन कराना होगा, लेकिन इससे किसान परेशान हो रहे हैं। उनका कहना है कि अधिकांश किसान अपने खेतों में आवश्यकतानुसार उपज लेते हैं। जैसे किसी किसान ने पिछले साल गेहूं की उपज ली तो इस साल चना या कुछ की बोवनी कर दी। अब उसे नया रजिस्ट्रेशन कराना होगा, लेकिन अफसरों के निर्देश पर ऐसे किसानों का रजिस्ट्रेशन नहीं हो पा रहा है। इस कारण बाद में पिछले साल जैसे हालात पैदा होंगे। इसे लेकर किसानों में आक्रोश है।

जांच के बाद आदेश दिए हैं

जिन किसानों के खातों में कोई विसंगति नहीं पाई गई, उनके खाते खोलने के निर्देश दिए हैं। शेष अभी जांच में हैं। रजिस्ट्रेशन की स्थिति को लेकर मंडी अफसरों और सहकारिता विभाग से चर्चा कर रहे हैं। वीपी यादव, एसडीएम, खिरकिया

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Hoshangabad

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×