• Home
  • Mp
  • Hoshangabad
  • दुनिया को भारत ने ही वसुधैव कुटुंबकम का दर्शन दिया : भुस्कुटे
--Advertisement--

दुनिया को भारत ने ही वसुधैव कुटुंबकम का दर्शन दिया : भुस्कुटे

खिरकिया |दुनिया को परिवार, समाज और वसुधैव कुटुंबकम का दर्शन भारत ने ही दिया है। लेकिन आज हमें फिर से अपना आत्म...

Danik Bhaskar | Feb 02, 2018, 06:05 AM IST
खिरकिया |दुनिया को परिवार, समाज और वसुधैव कुटुंबकम का दर्शन भारत ने ही दिया है। लेकिन आज हमें फिर से अपना आत्म अवलोकन कर आगे आने की जरूरत है। भारत की संपूर्ण जातियों का इतिहास शौर्य व संघर्ष की गाथाओं से भरा पड़ा है। मगर सत्ताओं ने षडयंत्र करके समाज का मनोबल तोड़ने के लिए इतिहास का विद्रुपीकरण किया है। यह बात को सेवाभारती के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. अतुल भुस्कुटे ने गुर्जर मांगलिक भवन में सामाजिक समरसता मंच द्वारा आयोजित गोष्ठी में कही। उन्होंने कहा कि समाज की एकात्मता व स्वाभिमान जागरण के लिए सामाजिक समरसता मंच का गठन किया है। अब हमें भाषण से नहीं बल्कि व्यवहार से घर-घर जाकर सामाजिक समरसता की अलख जगाना होगी। संत रैदास का उल्लेख करते हुए अस्पृश्यता व अस्वच्छता सहित अन्य कुरीतियों को समाज से हटाने में उल्लेखनीय भूमिका निभाई। संत रविदास ने समाज में फैली जाति-पाति, छुआछूत, धर्म-संप्रदाय, वर्ण विशेष जैसी भयंकर बुराइयों से बेहद दुखी थे। समाज से इन बुराइयों को जड़ से समाप्त करने के लिए अनेक मधुर व भक्तिमयी रसीली कालजयी रचनाओं का निर्माण किया। लोगों को पाखंड व अंधविश्वास छोड़कर सच्चाई के पथ पर आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे।