--Advertisement--

भास्कर मंच / जनता ने पूछे तीखे सवाल, भाजपा ने गिनाईं उपलब्धि तो कांग्रेस ने नए काम पूछे

नर्मदा कॉलेज में दैनिक भास्कर के विधायक एक मंच पर कार्यक्रम में बड़ी संख्या में लोगों ने भाग लिया

सीताशरण शर्मा सीताशरण शर्मा
  • कार्यक्रम में आने सहमति देने के बाद जनता के सामने आए दो विधायक
  • शिक्षा के मुद्दे पर आक्रामक हुए युवा तो विधानसभा अध्यक्ष को देना पड़ा आश्वासन
Danik Bhaskar | Sep 16, 2018, 11:03 AM IST

होशंगाबाद। नर्मदा कॉलेज में शनिवार को हुए दैनिक भास्कर के विधायक एक मंच पर कार्यक्रम में विधायकों का जनता से आमना-सामना हुआ। भाजपा के विधायकों ने अपने विकास कार्य गिनाए तो कांग्रेस ने उनकी खामियां बताईं।

 

 

कार्यक्रम में होशंगाबाद विधायक विस अध्यक्ष डॉ. सीतासरन शर्मा, सोहागपुर विधायक विजयपाल सिंह, सिवनी मालवा विधायक के प्रतिद्वंदी ओम रघुवंशी दम से शामिल हुए। जबकि सिवनी मालवा विधायक सरताज सिंह और पिपरिया विधायक ठाकुरदास नागवंशी ने जनता के सवालों से बचने के लिए कार्यक्रम से दूरी बनाई। 

 

युवाओं का रहा खास रुझान

 

कार्यक्रम में युवाओं ने खासा रुझान रहा। युवाओं ने क्षेत्र में इंजीनियरिंग और मेडिकल कॉलेज अब तक नहीं खुलने की बात आक्रामक होकर पूछी। सरकारी कॉलेजों में बीएड विषय शुरू नहीं कर प्राइवेट कॉलेजों को सरकार द्वारा मुनाफा दिलाने की बात भी सदन में गूंजी। कांग्रेस के पूर्व विधायक ने सरकार और भाजपा के नेताओं के रेत के अवैध कारोबार में लिप्त होने का मुद्दा उठाया। रघुवंशी ने कहा- जिले में 6 फीट की सड़क अवैध रेत के ओवरलोड डंपरों से 6 इंच तक धंस गई है। लोगों ने रोजगार, शिक्षा, स्वास्थ्य जैसी समस्याओं को लेकर जनप्रतिनिधियों से कमिटमेंट के साथ जवाब मांगा तो जनप्रतिनिधियों ने बेबाकी से जवाब दिए। जातिवाद के मुद्दे पर कार्यक्रम में आई गर्माहट को डॉ. शर्मा ने सतर्कता से सधे हुए जवाब दिए। 


सवाल-  मुकुल गुप्ता: होशंगाबाद में स्वीमिंगपूल क्यों नहीं बना। कलेक्टर के आदेश के बाद भी सुविधा से वंचित है। सब्जी मंडी सही जगह नहीं बनी है? 

जवाब: खेल सुविधाएं प्राथमिकता से उपलब्ध करवाई गईं। नर्मदा तट होने से स्वीमिंग पूल की आवश्यकता और प्राथमिकता दोनों ही नजर नहीं आईं। स्वीमिंग का मेंटेनेंस सरल नहीं है। यह सही है कि सब्जीमंडी की व्यवस्था उचित नहीं है। शिफ्टिंग की तैयारी चल रही है। जहां सब्जी मंडी बनी है उसे हाट बाजार के लिए रखा है। 

 

सवाल-  नीरजा फौजदार: 15 साल से आपकी सरकार है। शहर की यातायात व्यवस्था दुरुस्त करने ओवर ब्रिज बनाने पर ध्यान क्यों नहीं दिया? 

जवाब: सरकार 15 साल है, लेकिन मैं अभी विधायक बना हूं। कांग्रेस की बनाई एनएचएआई से एनओसी लेने में समय लगा। रेलवे अधिकारियों से बात की। 2 माह में ओवर ब्रिज का काम शुरू होगा और दो साल में लोकार्पण भी कर दिया जाएगा। 

 

सवाल-  केएन त्रिपाठी: हम सौहार्द्र से रहने वाले लोग हैं। बहुमत से आप सत्ता में आए। अब ऐसा क्या हो गया कि काले कानून बनाकर जातिगत भेदभाव की बात से सामाजिक सदभाव में विरोधाभास पैदा किया जा रहा है? 

जवाब: भेदभाव उपजाकर राज करने का काम पिछली सरकारों ने किया। पहले धर्म, फिर भाषा और फिर जाति के नाम पर बंटवारा। काले कानून भी तभी बने। भाजपा 70 साल में पहली सरकार है, जिसने छात्रों के बीच भेदभाव समाप्त कर 70 फीसदी वाले विद्यार्थियों को लैपटॉप और कॉलेज फीस देने का निर्णय लिया। संबल योजना जातिवाद को खत्म करने की पहल ही है। 

 

सवाल-  बलवीर चौहान: सरकारी कॉलेजों में बीएड बंद कर दिया है। निजी कॉलेजों को ही बीएड की मान्यता दी जा रही है। गरीब विद्यार्थी महंगी फीस देने को मजबूर हैं। आपने क्या किया? 

जवाब: सरकारी कॉलेजों में ही बीएड के लिए अनुरोध किया है। शिक्षा के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। आज ही नर्मदा कॉलेज में बीए एलएलबी और ऑनर्स कोर्स शुुरू करने को लेकर चर्चा हुई है। 

 

सवाल-  रोहन जैन : आपका परिवार भी शिक्षित और समृद्ध है। होशंगाबाद में मेडिकल और इंजीनियरिंग कॉलेजों के लिए कोई पहल होती दिखाई नहीं दी? 

जवाब: इसकी वजह कांग्रेस की सरकार में बिजली नहीं थी। ऐसे में मेडिकल कॉलेज का संचालन संभव नहीं था। भाजपा ने सरकार में आने के बाद पहले बिजली की व्यवस्था की। 2006 तक तो परमिशन ही नहीं मिलती थी। मैं 2003 के बाद अब आया हूं। कमिश्नर और मैं जगह तलाश रहे हैं। अगले सत्र में मेडिकल कॉलेज जरूर खुलेगा। 

 

सवाल- मनोज गुलबांके: महाराष्ट्र सरकार ने हिरवे बाजार से लोगों को रोजगार और आर्थिक संपन्नता दी। सिवनीमालवा विधायक ने मांग और अनशन को अनसुना कर दिया था। क्या होशंगाबाद में ऐसा होगा? 

जवाब: आपका विषय मेरे लिए नया है। मैं पहले इसे समझूंगा यदि संभव हुआ तो इस दिशा में जरूर काम होगा। 

 

सवाल- आनंद पारे : ऐसा नहीं लगता कि नेतृत्व हीनता और कांग्रेस पार्टी के आपसी मदभेद पार्टी को गर्त में ले जा रहे हैं। 

जवाब: ऐसा नहीं है। राहुल गांधी के नेतृत्व में पार्टी बेहतर काम कर रही है। 17 को भोपाल में राहुल गांधी के आगमन से कांग्रेसियों में जान आएगी। 

 

भास्कर ने दिया 5 मिनट में अपनी बात रखने का मौका 

 

  • डॉ. सीतासरन शर्मा, विधायक, होशंगाबाद-इटारसी 

सड़कों बनी और सुधरीं, क्षेत्र में 7 सब स्टेशन बने हैं, 2 पर काम चल रहा। पथरौटा (इटारसी) आईटीआई में सीधे प्लेसमेंट शुरू कराए। स्टेडियम, एस्ट्रोटर्फ, स्वीमिंग अकादमी आई। पवारखेड़ा कृषि कॉलेज खुला। स्कूल कॉलेज उन्नत हुए हैं। नर्मदा की खोह भराई कराई। डबल फाटक पर ओवरब्रिज स्वीकृत कराया। नर्मदा ब्रिज के लिए 42 करोड़ स्वीकृत हुए हैं। 

  • विजयपाल सिंह ठाकुर, विधायक, सोहागपुर 

विस बनने के बाद प्रतिनिधि के तौर पर चुना गया तो सड़कें नहीं थीं अब ऐसा कोई गांव नहीं जहां सड़कों की पहुंच न हो। 10 करोड़ से आईटीआई स्वीकृत हुई है। स्कूलों का उन्नयन हुआ है। गांवों में ब्रिज बने। 3 नए सब स्टेशन बने। बिजली की समस्या कम हुए। मोहासा में उद्योग भूमि चिह्नित हुई। बेगनिया चंदेरी, अजेरा, माछा में ब्रिज बनाकर गांवों की दूरी को कम किया। 

 

  • ओम रघुवंशी, पूर्व विधायक, सिवनीमालवा 

आपने बने बनाए ग्राउंड पर बिल्डिंग बनाई है (कांग्रेस के पुराने कामों का हवाला देते हुए)। व्यापम घोटाले ने शिक्षा की पोल खोली है। स्कूल भवन तो बना दिए शिक्षा का स्तर यह है कि 1 लाख वेतन पाने वाले शिक्षकों के पढ़ाने के बाद भी बच्चों को प्राइवेट कोचिंग जाना पड़ रहा है। क्षेत्र में खुशहाली के लिए तवाडेम का श्रेय है, यह कांग्रेस सरकार ने ही बनाया है। आप विस अध्यक्ष बनकर पार्टी से ऊपर उठ चुके हैं इसलिए क्षेत्र हित के काम होना चाहिए थे। 

 

- जनता के सवालों का सामना करने के लिए ये मौजूद नहीं रहे 

 

- मप्र के पूर्व मंत्री और सिवनी मालवा विधायक सरताज सिंह रात तक कार्यक्रम में आने की बात कह रहे थे। सुबह अचानक स्वास्थ्य बिगड़ने की सूचना आई आैर इस तरह उन्होंने जनता के सवालों से दूरी बनाई। 

- पिपरिया विधायक ठाकुरदास नागवंशी ने भी जनता के सवालों से बचने के लिए मंच से दूरी बनाई। कार्यक्रम में आने की सुबह तक हामी भरने के बाद वे अचानक बाहर होने की बात कहने लगे। 

  • भास्कर के सवाल, जनप्रतिनिधियों के जवाब 

सवाल- आपकी विस में होशंगाबाद-इटारसी दोनों हैं। माना जाता है आपका स्नेह इटारसी नपा पर अधिक और होशंगाबाद नपा पर कम है? 

डॉ. सीतासरन शर्मा: ऐसा नहीं है दोनों ही नपा मेरे क्षेत्र की हैं। राशि की दृष्टि से देखें तो होशंगाबाद नपा को ज्यादा राशि स्वीकृत हुई है। इटारसी में स्टेडियम दिया तो होशंगाबाद को एस्ट्रोटर्फ दिया है। स्कूलों का विकास दोनो क्षेत्रों में बराबर हुआ है। यह मिथ्या भ्रम है। 

 

सवाल- आपने सड़क और मूलभूत सुविधाओं के कई उदाहरण दिए। कोई एक ऐसा काम बताइए जिसे आप भी अपनी उपलब्धि में गिना सकें? 

विजयपाल सिंह: सड़कों का जाल क्षेत्र में बिछा है। आदिवासियों का विस्थापन हुआ। सबसे खास मोहासा में 1600 एकड़ जमीन उद्योग के लिए चिंहित है, कंपनियों ने आना शुरू कर दिया है। रोजगार के क्षेत्र में यह बड़ा काम है। 

 

सवाल- आपसी लड़ाई से कांग्रेस को नुकसान हो रहा है। आगामी चुनाव आप लड़ेंगे या आपके पिता हजारी लाल रघुवंशी लड़ेंगे। 

ओम रघुवंशी: यह सही है, कि बहुमत गिरा है, पर लगातार चुनाव जीत रहे हैं। प्रदेश में कई जगह नपा और विस के चुनाव कांग्रेस के पक्ष में हुए हैं। चुनाव कौन लड़ेगा यह पार्टी का फैसला है। आपसी मतभेद खत्म हो गए हैं। 

 

--Advertisement--