पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

चुनाव खत्म, राजनैतिक चटकारों के साथ आज के दिन की शुरुआत

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
होशंगाबाद| नर्मदांचल के सियासी चक्रव्यूह को कौन भेदेगा। इसका खुलासा 11 दिसंबर को होगा। होशंगाबाद-इटारसी विस सीट में भाजपा प्रत्याशी डॉ. सीतासरन शर्मा और भाजपा से बागी कांग्रेस प्रत्याशी सरताज सिंह के बीच कांटे की टक्कर रही। राजनीति के द्रोणाचार्य और अर्जुन की टक्कर पर पूरे प्रदेश की नजर है। भगवा रंग में रंगी होशंगाबाद जिले की चारों विस सीटों पर भाजपाई ओवर कॉन्फिंडेस में हैं, जबकि खुश कांग्रेसी भी नजर आ रहे हैं। यानी 11 दिसंबर तक दोनों दलों के प्रत्याशी एक नाव में सवार हैं। फुर्सत में अगर आठों प्रत्याशी नर्मदा में नौका विहार काे निकलेंगे तो इस तरह बातें करेंगे...

रिजल्ट की निगरानी गर्ल्स कॉलेज में बने स्ट्रॉन्ग रूम में तड़क 4 बजे तक जमा हुई ईवीएम, 80.56 हुआ जिले मतदान प्रतिशत

सुरक्षा के 3 घेरे में ईवीएम, 100 से ज्यादा गार्ड तैनात
भास्कर संवाददाता | होशंगाबाद

विस चुनाव के मतदान के बाद गुरुवार तड़के 4 बजे तक गर्ल्स कॉलेज के स्ट्राॅन्ग रूम में ईवीएम जमा कराई गई। मशीनों को कड़ी सुरक्षाकर्मियों के तीन घेरों के बीच कड़ी निगरानी में रखा है। सभी कमरे ताला लगाकर रात में ही सील कर दिए गए। आधुनिक हथियारों से लैस 100 से अधिक सुरक्षाकर्मी ईवीएम की निगरानी कर रहे हैं। एसपी अरविंद सक्सेना ने बताया कि मशीनों की तीन घेरे में सुरक्षा की जा रही है। जहां मशीनें रखी हैं, उसके गेट पर आधुनिक हथियार लेकर सीआईएसएफ के जवान तैनात है। दूसरे घेरे में एसएफ यानी सुरक्षा फोर्स भी विशेष आधुनिक हथियार लेकर तैनात है। तीसरा घेरा जिला पुलिस बल का है। जिला पुलिस भी भारी सुरक्षा उपकरण के मौजूद है। एसपी के अनुसार कोई भी व्यक्ति इस घेरे के अंदर नहीं जा सकता है। सिर्फ अनुमति प्राप्त लोग ही कालेज जा रहे हैं। दिन और रात में सुरक्षा लगातार की जा रही है। इसके अलावा मतदान के बाद बूथ के हिसाब से मतदान का प्रतिशत सामने आने लगा है। होशंगाबाद में सबसे ज्यादा पर्रादेह में मतदान हुआ तो सबसे कम सीपी के स्कूल में मतदान हुआ। अब सभी 11 दिसंबर का इंतजार कर रहे हैं।

सीतासरन शर्मा: युवा खिवैए मेरे साथ हैं। सालों से मेरा बगीचा गुलजार है। कोई चप्पू चलाए या नैया डुबाए। नर्मदा किनारे का हूं विपरीत धारा में भी तैरकर पार लग ही जाउंगा।

सतपाल पलिया: विरासत में राजनीति ‘पाल’ रखी है। धारा विपरीत है लेकिन दबंगता से पार कर लूंगा। हे जनता जनार्दन पड़ोसी ही सही लेकिन रेत से लेना देना नहीं।

हरीश बेमन: मेरे आसपास नाव में भले दिग्गज बैठे हों लेकिन मैं ऐसा नाविक हूं जो चट्टानों के बीच से नैया किनारे लगा लूंगा। ठाकुर बनने के बजाय अब मैं जनता का दास बनूंगा।

मझदार में नर्मदांचल के नेताओं की नैया...एक नाव में सवार भाजपा-कांग्रेस के खिवैया किनारे लगने चला रहे चप्पू...
ठाकुरदास नागवंशी:10 साल से पिपरिया में चैन की बंशी बजा रहा हूं। अब नाव में ठाकुर जी याद आ रहे हैं। उनके भरोसे नैया पार लग जाएगी। बाकी सारे काम तो हम ‘बे-मन’ से करेंगे।

ओम रघुवंशी: सिवनी का ताज हमारे पास ही रहेगा। इस ताज रूपी नैया को पार लगाने के लिए मैं खिवैया बन गया हूं। इतना हुनर तो पुस्तैनी है कि हारे हुए को कैसे पटकनी दी जाती है।

पर्रादेह में सबसे ज्यादा, केंद्रीय विद्यालय इटारसी के केंद्र में सबसे कम वोटिंग
विस चुनाव में 1174 केंद्रों पर मतदान हुआ। बूथ के अनुसार वोटिंग प्रतिशत सामने आने लगा है। होशंगाबाद विस सीट के पर्रादेह में 96.7 प्रतिशत मतदान हुआ है। मतदान केंद्र 2 पर सुबह से शाम तक लोगों ने वोट डाले। इटारसी के पास सीपी केंद्रीय विद्यालय में सबसे कम 28.61 प्रतिशत मतदान हुआ। यहां केंद्रीय कर्मचारी ज्यादा रहते हैं, इसलिए यहां उन्होंने मतदान कम किया है। सिवनीमालवा में चौकीगंवा बूथ पर सबसे ज्यादा 97 प्रतिशत मतदान हुआ है। इसके अलावा सबसे कम 60 प्रतिशत मतदान तवानगर में हुआ।

जिले में कुल 80.61% मतदान
विस चुनाव-2018 के मतदान के अंतिम आंकड़े आ गए। जिले में कुल 80.61% मतदान हुआ। इसमें पुरुष 81.98 प्रतिशत और महिलाओं ने 79.17 प्रतिशत मतदान किया है। चुनाव के आंकड़े दोपहर बाद फाइनल हुए हैं। इस बार मतदान अधिक कराने में युवाओं ने भी अपना बड़ा योगदान दिया है। महिलाओं ने रिकाॅर्डतोड़ 80% मतदान किया जो है।

आइडिएशन: दीपेश सोनिया कंटेंट: सुधीर व्यास कार्टून: चंद्रशेखर हाडा

मतदान के एक दिन पहले तक इतना खर्च
होशंगाबाद : डाॅ. सीतासरन शर्मा Rs.6,34,117

: सरताज सिंह Rs.6,20,688

सोहागपुर : विजयपाल सिंह Rs.6,62,898

: सतपाल पलिया Rs.4,93,060

पिपरिया : ठाकुरदास नागवंशी Rs.5,62,304

: हरीश बेमन Rs.6,26,623

सिवनीमालवा : प्रेमशंकर वर्मा Rs.7,92,232

: ओम रघुवंशी Rs.5,23,053

विजयपाल सिंह: नर्मदा की मझधार के पास भले रेत के टापू ही टापू दिख रहे हैं। यहां से भी मैं अपनी नाव ‘पल्ले पार’ ले ही जाऊंगा। नर्मदा तैरते हुए पार करने का बहुत पुराना अनुभव है।

सरताज सिंह: सबका ‘हाथ’ मेरे साथ है। सब सहारा भी दे रहे हैं। पर यकीन कैसे करूं। मुझे तो फेंक दिया था गुमनामी के अंधेरे में- अब मैं बागी होकर अपनी नैया खुद पार लगाउंगा।

प्रेमशंकर वर्मा: करंट का इतना झटका तो मुझे बिजली बोर्ड अध्यक्ष रहते नहीं लगा जितना मुझे टिकट मिलने के बाद चुनाव की नैया पार लगाने में लग रहा है। नर्मदा के पिता ‘शिव’ पर मुझे पूरा भरोसा है।

चुनाव के बाद अब आराम
काफी दिनों बाद किया परिवार के साथ लंच
चुनाव की थकान प्रत्याशियों ने अलग-अलग अंदाज में दूर की। होशंगाबाद विस से भाजपा प्रत्याशी डॉ. सीतासरन शर्मा ने नींद पूरी कर परिवार के साथ महीनों बाद लंच किया। कांग्रेस प्रत्याशी ने भोपाल में आराम किया। सिवनीमालवा कांग्रेस प्रत्याशी ओम रघुवंशी ने कार्यकर्ताओं के साथ मीटिंग की। वहीं भाजपा प्रत्याशी प्रेमशंकर वर्मा ने भी कभी घर तो कभी कार्यकर्ताओं के साथ समय गुजारा। भीलटदेव के दर्शन भी किए।

अनहोनी के गर्म कुंड में जाकर मिटाई थकान: पिपरिया कांग्रेस प्रत्याशी हरीश बेमन 10 बजे सोकर उठे। मां ने थकान के कारण हरीश को नहीं जगाया। सुबह से मित्रों का आना शुरू हो गया और चुनावी समीक्षाएं चलती रही। बेमन अनहोनी के गर्म कुंड में नहाने गए। इसके बाद पुरानी बस्ती के खेड़ापति माता मठ, काली मंदिर और मंगलवारा चौक के दुर्गा मंदिर जाकर पूजा की।

बच्चों के साथ गुजारा समय: पिपरिया के भाजपा प्रत्याशी ठाकुरदास नागवंशी रोजाना की तरह सुबह 5:00 बजे उठ गए। स्नान कर पूजा की। बैनर्जी कॉलोनी स्थित पैतृक निवास के बाहर बनी सीमेंट चबूतरे पर बैठकर मोहल्ले के लोगों से मुलाकात की। नाती कृष्णा दौड़ता हुआ उनके पास आया और ठाकुर दास ने उसे गोद में उठा लिया। इसके बाद परिवार और बच्चों के साथ दिन बिताया।

खबरें और भी हैं...