पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बाहरी वाहनों पर सख्ती, स्थानीय वाहनों को छूट

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
रेलवे रैक प्वाइंट पर अनाज लेकर जाने वाले वाहनों में ओवर लोडिंग पर पुलिस कोई अंकुश नहीं लगा पा रही है। इन वाहनों के कारण ना केवल यातायात जाम होता है बल्कि दुर्घटना की आशंका भी बनी रहती है। अनाज व्यापार का बड़ा केंद्र होने के कारण पिपरिया में अनाज से भरे वाहनों का आवागमन हमेशा चलता रहता है। डीजल और समय बचाने के लिए वाहन वाले सीमा से अधिक अनाज के बोरे लादते हैं इससे कई बार दुर्घटना हो चुकी हैं।

बाहर के ट्रक वालों पर की जाती है कार्रवाई

पिपरिया पुलिस के द्वारा रस्म अदायगी के नाम पर वाहनों पर चालानी कार्रवाई की जाती है, लेकिन पुलिस कार्रवाई की चपेट में ज्यादातर बाहर के ट्रक वाले ही आते हैं। लोकल में चलने वाले ओवरलोड ट्रक और ट्रालियां पुलिस नहीं पकड़ती, इसकी वजह यह है कि यह ट्रक और ट्राॅली या शहर के रसूखदार लोगों से जुड़े लोगों की होती हैं। यदि पुलिस इन के ऊपर लगातार कार्रवाई करें तो इन पर अंकुश लग सकता है, लेकिन पुलिस के द्वारा कार्रवाई नहीं करने के कारण यह सिलसिला लगातार जारी है।

सालभर चलता है कारोबार

पिपरिया अनाज व्यापार का एक बड़ा केंद्र है और यहां से अनाज बाहर ले जाने के लिए रेलवे की रैक लगती है। इस रैक तक अनाज वेयर हाउस और गोदाम से पहुंचाया जाता है और यही वजह है कि यह कारोबार यहां हमेशा चलता रहता है। यदि इन ओवरलोड वाहनों पर पुलिस कार्रवाई का मन बना ले तो ऐसा कोई कारण नहीं कि ओवरलोडिंग पर अंकुश ना लगे। पुलिस के द्वारा बरती जा रही ढील ही इस ओवरलोडिंग को जारी रखे हुए है।



यातायात पुलिस के द्वारा वाहनों पर चालानी कार्रवाई समय-समय पर की जाती है। डीएस मेहरा, यातायात प्रभारी पिपरिया

िपपरिया। रेलवे रैक प्वाइंट पर आने वाले वाहनों में होती है ओवरलोड़िग।

खबरें और भी हैं...