पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

1933 में आए थे महात्मा गांधी, आज भी सहेजकर रखा है उनका इस्तेमाल किया चरखा और पलंग

10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
धरोहर : बैतूल में गोठी परिवार के घर रूके थे रात, सहेजकर रखा है उनका पलंग
  • हरिजन उद्धार कार्यक्रम में सभा को बापू ने किया था संबोधित, चरखे से सूत कातना भी सिखाया था

बैतूल। हरिजन उद्धार कार्यक्रम में सन 1933 में शामिल होने के लिए राष्ट्रपिता महात्मा गांधी बैतूल आए थे। बापू चक्कर रोड में बड़े बगीचे में रात भी रूके थे। जिस पलंग पर वे सोए थे, वह पलंग आज भी गोठी परिवार ने उसी स्थान पर सुरक्षित रखा है। जिस बगीचे में महात्मा गांधी ठहरे थे, वह आम की खास किस्मों के लिए मशहूर था। आज वह बगीचा तो नहीं बचा, लेकिन जिस घर में गांधी जी ठहरे थे, वह आज भी उसी हालत में खड़ा हुआ है।

रमन गोठी ने बताया राष्ट्रपिता महात्मा गांधी 1933 में हरिजन उद्धार कार्यक्रम में शामिल होने के लिए बैतूल आए थे। वे मुलताई से होकर बैतूल पहुंचे थे। यहां दूसरे दिन उन्होंने एक सभा को संबोधित किया था। इसके बाद वे खेड़ी के लिए रवाना हुए थे। बड़े बगीचे के जिस भवन में गांधी जी रूके थे वह सौ साल बाद भी मजबूती से खड़ा हुआ है। 2 अक्टूबर गांधी जयंती पर यहां पर एक कार्यक्रम भी आयोजित किया जाएगा।
 

लोगों को स्वदेशी अपनाने के लिए चरखा से सूत कातना भी सिखाया था गांधी जी ने
रमन गोठी ने बताया बैतूल के गांधी चौक पर महात्मा गांधी ने सभा को संबोधित किया था। इस सभा में गांधी जी ने लोगों को स्वदेशी अपनाने के लिए चरखा से सूत कातना भी सिखाया था। बैतूल के लोगों ने इस सभा में गांधी जी को आजादी की लड़ाई के लिए चंदा कर रुपए की थैली भेंट की थी। इस थैली में करीब 411 रुपए थे। गांधी जी लोगों द्वारा भेंट की गई थैली को साथ ले गए थे।

गांधी जी ने लख्मीचंद गोठी से कहा था आजादी की लड़ाई के लिए एक बेटा दे दो
रमन गोठी ने बताया मेरे परदादा जमींदार लख्मीचंद गोठी से गांधी जी ने आजादी की लड़ाई के लिए एक बेटा मांगा था। गांधी जी ने मेरे परदादा लख्मीचंद गोठी से कहा था कि तुम्हारे सात बेटे हैं, इसमें से एक बेटे को आजादी की लड़ाई के लिए दे दो। इस पर श्री गोठी ने अपने पांचवे नंबर के बेटे दीपचंद गोठी को आजादी की लड़ाई में भेज दिया था।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कोई भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। वैसे भी आज आपको हर काम में सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे। इसलिए पूरी मेहनत से अपने कार्य को संपन्न करें। सामाजिक गतिविधियों में भी आप...

और पढ़ें