पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दूरदराज के गांवों में ड्यूटी लगने से आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं में नाराजगी

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

महिला सशक्तिकरण को लेकर आगामी 8 मार्च को विशेष ग्रामसभा का आयोजन किया जाना है। इसी सिलसिले में पिपरिया ब्लॉक की आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को ग्राम सभाओं में उपस्थित रहने के निर्देश दिए गए हैं। इसमें शहरी क्षेत्र की कार्यकर्ताओं को ग्राम सभा के लिए दूरदराज के ग्रामों में जाने के निर्देश दिए गए हैं। वहीं दूरदराज के ग्रामों की कार्यकर्ताओं को पिपरिया शहर के आसपास बुलाया गया है। इससे आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं में नाराजगी है।

आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की ड्यूटी को लेकर असल में जनपद और महिला बाल विकास विभाग में तालमेल नहीं बन पाया। जनपद पंचायत ने महिला बाल विकास विभाग से आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की सूची मांगी थी। वह सूची मिल भी गई। जनपद ने महिला बाल विकास से जानकारी मांगी कि संबंधित ग्राम के पास कौन आंगनबाड़ी कार्यकर्ता रहती है। उसकी ड्यूटी वही लगा दी जाए।

जनपद सूत्रों का कहना है महिला बाल विकास विभाग ने इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी। जनपद को नहीं मालूम कि कौन सी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता किस क्षेत्र में रहती है इसीलिए जनपद के द्वारा स्वविवेक से कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगा दी गई। जिसे लेकर यह नाराजगी सामने आ रही है। जयप्रकाश वार्ड की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता बबीता राज को बारी देवी नाम के गांव में जाकर विशेष ग्रामसभा अटैंड करने के लिए कहा गया है। राजीव गांधी इंदिरा गांधी वार्ड की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सीमा रघुवंशी को डोकरीखेड़ा बांध के दूसरी तरफ बसे गांव चौका में जाकर ग्राम सभा लेना है।

विनोवा वार्ड की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता मंजू चौकसे को खपरिया किशोर गांव में भेजा गया है। इसी प्रकार से अन्य आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को दूरदराज ग्रामों में जाने के निर्देश मिले हैं। जिन्हें लेकर वे और उनके परिवार के लोग खासे परेशान हो रहे हैं। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का कहना है आसपास के क्षेत्रों में अगर ड्यूटी लगाई जाती तो यह स्थिति ना बनती।

खबरें और भी हैं...