निवेशकों के सोसाइटी में एक करोड़ रु. अटके, दफ्तर खाली, बिजली कटी

Hoshangabad News - रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया से बिना रजिस्ट्रेशन के बैंकिंग कारोबार कर रही आदर्श क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड ने...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 07:55 AM IST
Itarsi News - mp news one crore rupees in the investor39s society stuck office free power cut
रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया से बिना रजिस्ट्रेशन के बैंकिंग कारोबार कर रही आदर्श क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड ने इटारसी में एक करोड़ रुपए की धोखाधड़ी की है। सोसायटी ने यहां अपने 200 एजेंटों को 20 प्रतिशत कमीशन का ऑफर दिया और लुभावनी जमा योजनाओं के नाम पर निवेशकों के हजारों-लाखों रुपए जमा करवाए लिए। अब छह माह से सोसायटी का पुरानी इटारसी स्थित दफ्तर खाली पड़ा है। चार कंप्यूटर, प्रिंटर, फर्नीचर, अलमारी, रैक, कुर्सियां भर रखी हैं। बिजली कट गई। केश काउंटर पर कोई कर्मचारी नहीं है। रिजाइन देकर शाखा प्रबंधक लापता हो गया है। इंदौर से आए कंपनी के दो अधिकारी उमेश विश्वकर्मा व हितेष सूरे एजेंटों व निवेशकों से बोले-हमारे चेयरमैन व एमडी जेल में हैं। सोसायटी के कार्पोरेट एकाउंट फ्रीज है। इस वजह से हम भुगतान नहीं कर पा रहे हैं। पैसा आएगा तो लोगों को जमा पूंजी दे दी जाएगी। अभी आप लोग ही पैसा देकर ब्रांच चलाइए। अगर ब्रांच बंद रखना है तो बंद कर दीजिए।

अधिक ब्याज व कमीशन के लालच में लोग यहां पैसा निवेश करने वाले लोग व एजेंट सोसायटी के इटारसी से लेकर इंदौर रीजनल दफ्तर तक के चक्कर काट रहे हैं। संस्था का पंजीकृत कार्यालय अहमदाबाद और मुख्यालय राजस्थान बताया जा रहा है। इसके चैयरमैन मुकेश मोदी व एमडी राहुल मोदी गिरफ्तारी के बाद जेल में हैं। कई स्थानों के कार्यालय पुलिस सील कर कंप्यूटर, टेबल व अन्य सामान जब्त कर चुकी है। इटारसी में ऐसा नहीं हुआ। न तो दफ्तर सील हुआ न ही कागजात व कम्प्यूटर की जांच हुई। पुलिस का कहना है कि कोई निवेशक धाेखाधड़ी की शिकायत करने नहीं आया। हैरत की बात यह है कि शहरी क्षेत्र में शाखा खोलकर राशि कलेक्शन करने का अनुमति पत्र ही नहीं था फिर भी लाेग लाखों रुपए फर्जी बैंक में डुबोते रहे।

आदर्श क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी का दफ्तर, जहां कोई कर्मचारी नहीं मिलता।

साल में जमा धन दोगुना करने की स्कीम





जनवरी तक 70-80 लाख रुपए का इंवेस्टमेंट था

आदर्श क्रेडिट सोसायटी की गड़बड़ी का खुलासा होते ही इटारसी में शाखा प्रभारी जितेंद्र धूमल रातों-रात रिजाइन देकर चले गए। सब प्रभारी बालाघाट के शमसुद्दीन कुरैशी का कहना है कि मुझे व पीयून को छह माह से वेतन नहीं मिला। दफ्तर जिस मकान में है, उसका किराया बाकी है। बिजली व फोन कनेक्शन कट गए। इनको यह उम्मीद है कि निवेशकों को देर से मिलेगा पर पैसा मिल जाएगा। भास्कर के पूछने पर शमसु्द्दीन ने बताया कि जनवरी तक 70-80 लाख रुपए का इंवेस्टमेंट था। एजेंट 200 के आसपास हैं। प्रत्येक ने 10 से 100 ग्राहक ढूंढकर उनसे पैसे जमा करवाए। यह पैसा इंदौर रीजन आॅफिस चला जाता था।

X
Itarsi News - mp news one crore rupees in the investor39s society stuck office free power cut
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना