• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Hoshangabad
  • Hoshangabad Coronavirus Outbreak Live | Madhya Pradesh (MP) Hoshangabad Coronavirus Lockdown (Curfew) Latest Today News, Coronavirus COVID 19 Cases In Madhya Pradesh Hoshangabad Live Updates

पहले दिन गांधीगिरी के बाद दूसरे दिन पुलिस की सख्ती; 'मैं कोरोना फैलाना चाहता हूं, मैं घर पर नहीं रहूंगा' लिखा पर्चा देकर फोटो खिंचवाई

बैतूल में पुलिस ने बुधवार को सख्ती की और लोगों को पोस्टर थमाए।
हरदा के टिमरनी में किराना स्टोर में मार्किंग की गई है, जहां खड़े होकर ही लोगों को सामान दिया जा रहा है। हरदा के टिमरनी में किराना स्टोर में मार्किंग की गई है, जहां खड़े होकर ही लोगों को सामान दिया जा रहा है।
X
हरदा के टिमरनी में किराना स्टोर में मार्किंग की गई है, जहां खड़े होकर ही लोगों को सामान दिया जा रहा है।हरदा के टिमरनी में किराना स्टोर में मार्किंग की गई है, जहां खड़े होकर ही लोगों को सामान दिया जा रहा है।

  • होशंगाबाद की बनखेड़ी में मुंबई से लौटी एक लड़की को कोरोना संदिग्ध होने पर होशंगाबाद रेफर किया गया है
  • हरदा में मंडी और किराना स्टोर में लोगों के लिए की गई एक मीटर की मार्किंग, वहीं खड़े होकर सामान ले सकेंगे 

दैनिक भास्कर

Mar 26, 2020, 11:13 AM IST

होशंगाबाद/हरदा/बैतूल. होशंगाबाद समेत संभाग के बैतूल और हरदा जिलों में 21 दिन के लॉक डाउन के पहले दिन मंदिरों की चौखट सूनी रही। वहीं, सड़कों पर सन्नाटा रहा, बाहर निकालने वालों पर पुलिस सख्ती कर रही है। होशंगाबाद की बनखेड़ी में मुंबई से लौटी एक लड़की को कोरोना संदिग्ध बताया गया, उसे जांच के लिए होशंगाबाद रेफर किया गया है। लड़की के सैंपल जांच के लिए भेजे गए जा रहे हैं। इधर, बैतूल में मंगलवार को जहां पुलिस ने लोगों को समझाने के लिए गांधीगिरी की थी, वहीं आज उन्होंने घर से बाहर निकलने वालों को पहले डंडों से धुना, इसके बाद हाथ में पर्चा पकड़ाया। इसमें लिखा था- "कोरोना फैलाना चाहता हूं, मैं घर पर नहीं रहूंगा।" वहीं, हरदा के टिमरनी की मंडी और स्टोर में आने वाले लोगों के लिए मार्किंग की गई है। पुलिस ने घर से निकलने पर यहां भी लोगों की उठक-बैठक लगवाई और उन्हें वापस घर भेज दिया। 

घर से बाहर निकलने वालों पर सख्ती की गई। 

बैतूल में 21 दिन के लॉक डाउन का असर देखने को मिला। मंदिरों के दर पर सन्नाटा था और सड़के सूनी रहीं। जो भी व्यक्ति लॉक डाउन में सहयोग नहीं कर रहा है और घर से बाहर निकलकर कानून तोड़ रहा हैं। उन सभी लोगों की धुनाई की गई। इसके बाद उनके हाथ में पम्फलेट देकर उनकी फोटो खिंचवाई गई। पर्चे में लिखा है- "मैं कोरोना फैलाना चाहता हूं, मैं घर पर नहीं रहूंगा।" इसके बाद हिदायत दी गई कि अगर वह फिर से घर से बाहर निकले और सड़कों पर दिखाई दिए तो कानूनी कार्रवाई की जाएगी। 

सामने आया पुलिस का मानवीय चेहरा 

बैतूल में लॉक डाउन को लेकर सख्त पुलिस का मददगार चेहरा भी सामने आया है। बुधवार को शिल्प क्राफ्ट एक्सपो हैंडलूम के कर्मचारियों द्वारा अपने पास खाने-पीने की व्यवस्था नहीं होने की समस्या कोतवाली को बताई गईं। थाना प्रभारी राजेंद्र धुर्वे द्वारा खाने पीने का राशन सब्ज़ी, बिजली और गैस टंकी उपलब्ध कराया गया। टीआई राजेन्द्र धुर्वे ने बताया कि इस कैम्प में 5 राज्य के करीब 47 लोग रह रहे हैं। जिनमे दिल्ली और बिहार के 10-10 यूपी के 20, हरियाणा के 5 और महाराष्ट के 2 लोग शामिल हैं। जिनके खाद्यान्न की व्यवस्था की गई है।

बैतूल में पुलिस ने हैंडलूम एक्स्पो में फंसे बाहरी लोगों के भोजन का इंतजाम कराया। 

जिनके घर मे लगें ब्लू स्टीकर, घूमते मिले तो होंगे अरेस्ट

सीएमएचओ डॉ. जीसी चौरसिया ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा विदेश यात्रा करके लौटे हुए 38 नागरिकों के घर ब्लू स्टीकर कर लगा दिए गए हैं और इन्हें विभाग की निगरानी में रखा गया है, अगर ये लोग घर से बाहर घूमते पाए गए तो शासन द्वारा इन के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी। कलेक्टर राकेश सिंह ने कहा कि ऐसा देखा जा रहा है कि बार-बार समझाइश देने के बाद भी ये नागरिक नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं। इसलिए नागरिकों को अंतिम चेतावनी दी जाती है कि अगर ये निर्धारित समयावधि में घूमते पाए गए तो इन्हें गिरफ्तार किया जाएगा। उन्होंने एक नंबर जारी कर लोगों से घूमने फिरने वालों की जानकारी देने के लिए भी कहा है। इसकी सूचना फोन नंबर 07141-234351 पर दे सकते हैं। 

बैतूल में कोयलांचल पाथाखेड़ा में काम करने वाले कर्मचारियों के कार्ड चेक किए गए। 

खदानों में काम पर जाने वालों के चेक किए आईडी 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को रात 12 बजे से संपूर्ण देश में लॉक डाउन आगामी 21 दिनों तक बढ़ाने को कहा था, उसके बाद से पुलिस, नगर पालिका, स्वास्थ्य विभाग ओर भी सख्त तो हो चुका है। पुलिस ने कोयलांचल नगरी पाथाखेड़ा के मस्जिद चौक और अन्य चौराहों पर खदान में काम पर जाने वाले कर्मचारियों की आईडी कार्ड चेक किए गए। ताकि कोई भी व्यक्ति बिना किसी कारण के बाहर ना घूम सके। वहीं, पुलिस ने सारनी, पाथाखेड़ा, बगडोना, कालीमाई में लगातार गश्त करके लोगों को घर से बाहर न निकलने की सलाह दी जा रही है। अन्यथा उन पर कार्रवाई भी की जा सकती है। 

जसवंत के पिता की मौत हो गई है, लेकिन वह जा नहीं पा रहे हैं। 

पिता की मौत की सूचना आई, बेटा टिमरनी में हार्वेस्टर लेकर फंसा
हरदा और जिले की टिमरनी की मंडी और स्टोर में आने वाले लोगों के लिए मार्किंग की गई है। पुलिस ने घर से निकलने पर यहां भी लोगों की उठक-बैठक लगवाई और उन्हें वापस घर भेज दिया। रोजी-रोटी कमाने हार्वेस्टर लेकर गेंहू और चने की फसल काटने अंबाला से आए जसवंत के पिता महेंद्र सिंग (83) की मौत की सूचना मिली है, लेकिन उन्होंने हालात को देखते हुए अंबाला नहीं जाने का फैसला किया है। जसवंत अपने दो और भाईयों संतोक सिंग, सुरेंदर सिंग के साथ आए हैं। जबकि दो भाई अंबाला में हैं। कोरोना महामारी को देखते हुए नहीं जाने का फैसला किया है। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना