--Advertisement--

अपराध / बालिग होने तक दिव्यांग से की ज्यादती, हॉस्टल संचालक कि महिला मददगार फरार



rape with minor in hostel
X
rape with minor in hostel

Dainik Bhaskar

Sep 16, 2018, 10:25 AM IST

होशंगाबाद। भोपाल के बैरागढ़ इलाके और होशंगाबाद के मालाखेड़ी के सांई विकलांग आश्रम में संचालक एमपी अवस्थी एक दिव्यांग नाबालिग से कई साल तक रुक-रुक ज्यादती करता रहा। इस अपराध में आश्रम की सहायिका कविता चौहान भी दिव्यांग छात्रा पर दबाव डालकर यह काम कराती थी। भोपाल से केस डायरी आने के बाद होशंगाबाद कोतवाली में दोनों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

 


एमपी अवस्थी अभी भोपाल पुलिस की हिरासत में है, जबकि कविता चौहान अभी फरार है। मालाखेड़ी का यह आश्रम 2017 में बंद हो गया था। यह आश्रम 2000 में बना हुआ था। एसपी अरविंद सक्सेना ने बताया भोपाल के रहने वाले एमपी अवस्थी मालाखेड़ी में सांई विकलांग छात्रावास चलता था। इस दौरान उसने 2004 से 2010 तक एक दिव्यांग छात्रा के साथ बार-बार ज्यादती की। इतना ही नहीं उसके साथ जब चाहे तब अश्लील हरकत करता रहा। 

 

परेशान होकर छात्रा यहां से भोपाल आशा निकेतन छात्रावास चली गई थी। इसके बाद फिर 2016 में वह वापस मालाखेड़ी आश्रम में आ गई थी। यहां फिर अवस्थी और कविता ने ज्यादती की। 17 फरवरी 2017 को छात्रा ने थाने में छेड़खानी की शिकायत की। इस पर पुलिस और प्रशासन ने जांच कराई। जांच के बाद आश्रम की पहले तो ग्रांट रोकी बाद में आश्रम बंद कर दिया गया। हाल ही अवस्थी के भोपाल आश्रम में फिर उसने हरकत की। इसके बाद मामला पूरा सामने आया है।

 

पहले किराए से चलता था आश्रम, अब बेच रहे मकान 

 

मालाखेड़ी का सांई विकलांग आश्रम मुख्य चौराहे से लगा हुआ है। पहले यह आश्रम रायपुर-बांद्राभान तिराहे पर एक किराए के मकान में चलता था। इस बीच अवस्थी ने 10 साल पहले सस्ते में 30 बाई 50 का प्लाट ले लिया था। बैंक से लोन लेकर उन्होंने मकान बनाया और आश्रम यहां शिफ्ट कर लिया है। खास बात है कि शुरू में विकलांगों के प्रति उनकी सेवा और समर्पण भाव देखकर उन्हें बहुत मानते थे लेकिन धीरे-धीरे ऐसे मामले सामने आए तो लोगों को इसका यकीन नहीं हो रहा है। सांई आश्रम बंद होने के बाद एमपी अवस्थी अब मकान बेच रहा है। मकान पर उनके मोबाइल नंबर लिखा पंपलेट चस्पा है। 

 

13 साल का किशोर भी आश्रम से है गायब 

 

सांई विकलांग आश्रम की परत अब खुलती जा रही है। कोतवाली सब इंस्पेक्टर बालमुकुंद दुबे ने बताया कि 13 साल का एक किशोर बबन भी लापता है। उसके गुम होने की शिकायत कविता चौहान ने कोतवाली में दर्ज कराई थी। पुलिस के अनुसार सांई विकलांग आश्रम में ज्यादती की शिकार हुई छात्रा इस समय शादीशुदा है। कुछ माह पहले ही उसका विवाह कोलार में हुआ है। 

 

बिना जांच के नहीं मिलेगा अनुदान

 

मालाखेड़ी के सांई विकलांग आश्रम के खुलासे के साथ ही प्रशासन और पुलिस बेहद सख्त हो गए हैं। कलेक्टर प्रियंका दास ने बताया कि आश्रमों पर प्रशासन की नजर रहेगी। हम जानकारी लेते हैँ। किसी भी आश्रम में बिना जांच के अनुदान नहीं दिया जाएगा। सभी संबंधितों को इसके निर्देश दिए हैं। 

 

आगे क्या 

 

कोतवाली में केस दर्ज होने के बाद पुलिस अब आरोपी को भोपाल से यहां लाने की प्रक्रिया शुरू करेगी। इसके लिए एक टीम बनाई जा रही है। टीम विधिवत कोर्ट से अनुमति लेकर वहां जाएगी। पीड़िता को यहां अनुवादक के साथ लाकर मौके का परीक्षण किया जाएगा। कविता चौहान महाराष्ट्र की रहने वाली है। उसे गिरफ्तार करने भी एक टीम जाएगी। 

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..