--Advertisement--

गुणवत्ताहीन सेनेटरी पैड के कारण नहीं हो रही खपत

Dainik Bhaskar

Aug 12, 2018, 11:05 AM IST

महिला सशक्तिकरण विभाग द्वारा छात्रावास एवं कॉलेज में लगाई गईं हैं सेनेटरी पैड वेंडिंग मशीन

Sanitary napkin

होशंगाबाद। महिला सशक्तिकरण विभाग द्वारा छात्रावास और कॉलेज, रेन बसेरा में लगाई गई सेनेटरी पैड वेंडिंग मशीन से मिलने वाले पैड का उपयोग नहीं हाे रहा है। शासन द्वारा सस्ते दाम दी जा रही सेनेटरी पैड गुणवत्ता हीन होने के कारण इनका उपयोग नहीं किया जा रहा है।

शहर में होम साइंस कॉलेज और रेन बसेरा में वेंडिंग मशीन लगाई है। लेकिन होम साइंस कॉलेज में इस मशीन से सेनेटरी पैड का उपयोग बिलकुल बंद हो गया है। वहीं दूसरी मशीन रेन बसेरा में लगाई गई है। जिससे पैड की खपत न के बराबर है। महज 5 रुपए में मिलने वाले इस पैड की गुणवत्ता अन्य ब्रांडेड कंपनी के सेनेटरी पैड जैसी नहीं होने के कारण यह अनुपयोगी साबित हो रहे हैं।

सस्ते पैड की सप्लाई कर रही भोपाल की कंपनी हैप्पी नारी केयर यूनिट की संचालिका सुनीति कुलकर्णी ने बताया हम जो पैड वेंडिंग मशीन में रख रहे हैं। वह हेल्थ पैरामीटर के तहत निर्मित हैं, 5 रुपए में 2 पैड 100 एमएल के मिलते हैं, जिसकी क्षमता 6 घंटे होती है नाम्स के मुताबिक यहां तैयार की गई है। जिसे अवधि पूरी होने के बाद डिस्पोजल कर देना चाहिए। समय सीमा से ज्यादा उपयोग करने के कई खतरे हैं। इस मामले में जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी सतीश भार्गव ने बताया कि इस पूरे विषय की जांच करवाने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है। मशीनें दो साल पहले लगी थी।

X
Sanitary napkin
Astrology

Recommended

Click to listen..