बैतूल / नशे में फांसी के फंदे पर झूल गया बेटा, गिरते पानी में एक किमी दाैड़ थाने से पुलिस बुलाकर लाई मां

बैतूल में पुलिस ने एक व्यक्ति की जान बचाई। बैतूल में पुलिस ने एक व्यक्ति की जान बचाई।
X
बैतूल में पुलिस ने एक व्यक्ति की जान बचाई।बैतूल में पुलिस ने एक व्यक्ति की जान बचाई।

  • दरवाजा तोड़कर फंदे से उतारा, 10 मिनट तक हार्ट पर हाथ से पंपिंग कर पुलिसवालों ने लौटा दीं सांसें 
  • फांसी क्यों लगाई, खुलासा नहीं, तीज की पूजा करने गई थी पत्नी, मां के कारण चलते देवदूत बन पहुंचे पुलिसकर्मी 

दैनिक भास्कर

Sep 03, 2019, 04:03 PM IST

बैतूल. कोतवाली थाने के टिकारी क्षेत्र में रविवार रात 11.30 बजे एक युवक ने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या करने का प्रयास किया। इस दाैरान मां बारिश में एक किलोमीटर दौड़कर पुलिस को लेकर मौके पर पहुंची और युवक गणेश पांसे (24) को फंदे से उतारकर एसआई ने सीने पर हाथ से पंपिंग कर जान बचाई। थाना प्रभारी राजेंद्र धुर्वे ने बताया रात में महिला द्रोपती पांसे थाने पहुंची और बेटे को बचाने की गुहार लाई थी। 

 

ये भी पढ़ें

Yeh bhi padhein

 

एसआई अशोक बघेल ने बताया रात 11.30 बजे जब तेज बारिश हो रही थी। इसी दौरान देशबंधू वार्ड में रहने वाली द्रोपदी पति पूरन पांसे घबराई हुई कोतवाली पहुंची और कहने लगी कि उसका बेटा गणेश नशे में घर के भीतर ही फांसी लगाने का प्रयास कर रहा है। यह सुनकर आरक्षक संतोष मर्सकोले और सैनिक श्यामलाल को साथ लेकर रवाना हुए। 

 

महिला के घर के पास गली सकरी होने से वाहन वहां तक नहीं पहुंचा तो करीब 150 मीटर दौड़कर उसके घर पहुंचे। दरवाजा अंदर से बंद था। दरवाजा खोलने के कई प्रयास किए। दरवाजा नहीं खुला तो उसे तोड़ अंदर गए। गणेश फांसी के फंदे पर तड़प रहा था। सैनिक श्यामलाल ने युवक को ऊपर उठाया। मैने गणेश की गर्दन से रस्सी के फंदे को निकाला और नीचे उतारा। गणेश की सांसें नहीं चल रही थीं। तो मैने तत्काल गणेश के सीने को पंप करना शुरू कर दिया करीब 10 मिनट तक ऐसा करने पर गणेश की सांसें चलने लगी। इतने में उसका बड़ा भाई ओमप्रकाश भी घर पहुंच गया। गणेश को चादर में लपेटकर सैनिक श्यामलाल कंधे पर रखकर लाया। तुरंत गाड़ी में डालकर जिला अस्पताल लाए। जहां डॉ. आनंद मालवी ने उसका उपचार किया। फिलहाल गणेश की हालत स्थिर है। युवक के नशे में झगड़ा करने की आदत के कारण कोई भी मोहल्ले वाला हेल्प करने नहीं आया। 

 

शराब का आदी है, हंगामा करते हुए ऐसा कर लिया 
मां द्रोपदी पांसे ने बताया गणेश मजदूरी करता था, शराब पीने का आदी है। रात में शराब पीकर हंगामा कर रहा था। इस कारण मोहल्ले वाले भी हेल्प करने नहीं आते हैं। गणेश की दो साल पहले शादी हुई थी। 6 माह का बच्चा है। गणेश रात में भी शराब पीकर हंगामा कर रहा था। उस समय मैं घर में अकेली थी। गणेश की पत्नी तीज की पूजा करने ससुर के साथ ननद के घर गंज गई थी। 

 

सही समय पर पंपिंग करने से बची युवक की जान 

 

रात को युवक को जिला अस्पताल में लाए। युवक ने जिस समय फांसी लगाई, उसकी सांसें अंतिम चरण पर थी, इसी दौरान सही समय पर पंपिंग से उसकी सांसें चलने लगी। यदि 2-3 मिनट की देरी होती तो युवक की जान जा सकती थी। फिलहाल युवक की हालत स्थिर है।

डॉ. आनंद मालवीय, जिला अस्पताल बैतूल 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना