--Advertisement--

टैंकर पर क्लीनर सीट पर बैठा था 5 साल का बच्चा, टक्कर लगते ही मासूम उछला और ट्रेलर के पहिए के नीचे जा गिरा

बच्चा गिरकर ट्रक और ट्रेलर के पहिए के बीच फंसा था। कोई कुछ समझ नहीं पा रहा था कि क्या करें।

Danik Bhaskar | Jun 10, 2018, 03:53 AM IST
उज्जैन-जावरा बायपास पर ट्रेलर एवं टैंकर की टक्कर होने से हर्ष पहियों के बीच फंस गया था। उज्जैन-जावरा बायपास पर ट्रेलर एवं टैंकर की टक्कर होने से हर्ष पहियों के बीच फंस गया था।

नागदा(एमपी)। उज्जैन-जावरा बायपास पर शुक्रवार देर रात पांच साल के मासूम की मौत हो गई। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया आगे पवन चक्की के सामान से भरा ट्रेलर रांग साइड चल रहा था और पीछे से कुरेश परमार टैंकर लेकर आ रहा था। ट्रेलर चालक ढाबे पर रुकने के लिए टर्न ले रहा था। मगर उसने कोई इंडिकेटर नहीं दिया। इससे टैंकर ट्रेलर से टकरा गया। टैंकर में पांच साल का हर्ष परमार क्लीनर के साथ बैठा था। टक्कर लगते ही बच्चा उछलकर टैंकर के अगले और ट्रेलर के पिछले पहिए के बीच जा फंसा।

- घायल बच्चे को लाेग सरकारी अस्पताल ले गए। हालत ज्यादा खराब होने पर प्राथमिक उपचार कर उसे जनसेवा रैफर कर दिया।

- चूंकि हादसे में बच्चे का निचला हिस्सा पूरी तरह डेमेज हो गया। इसलिए बच्चे को जनसेवा से इंदौर रैफर किया गया।

- मगर देर रात 2.10 बजे हर्ष की मौत हो गई। टक्कर मारते ही ट्रेलर चालक मौके से फरार हो गया। मंडी पुलिस के अनुसार मामले में अभी कोई केस दर्ज नहीं हुआ है।


पहियों में फंसे हर्ष को निकालने धकेला ट्रेलर
- दुख की बात है कि पांच साल का हर्ष अब इस दुनिया में नहीं है। मगर हर्ष को सात घंटे की अतिरिक्त जिंदगी देने वाले शहर के ही युवा जगजीत चावला, राहुल पोरवाल राही, राहुल आंजना व विक्की ठाकुर है।

- घटना के प्रत्यक्षदर्शी जगजीत ने बताया बच्चा गिरकर ट्रक और ट्रेलर के पहिए के बीच फंसा था। कोई कुछ समझ नहीं पा रहा था कि क्या करें।

- ऐसी स्थिति में मौके पर मौजूद इन सभी युवाओं सहित अन्य लोगों ने ट्रेलर को धक्का देकर पीछे किया और बच्चे को बाहर निकाला।

- बच्चे को लेकर विक्की सरकारी अस्पताल की ओर दाैड़े। पीछे-पीछे सभी युवा भी दाैड़े। जगजीत के अनुसार अस्पताल में उपचार के दौरान हर्ष की दो बार सांसें रुक गई थी, तब डॉक्टर ने पंपिंग कर ऑक्सीजन लगाया।

- यहां प्राथमिक उपचार के बाद उसे जनसेवा रैफर किया गया। चूंकि हादसे में बच्चे का निचला हिस्सा बुरी तरह प्रभावित हुआ था। इसलिए जनसेवा के डॉ. जितेंद्रपाल सिंह, ने बच्चे की स्थिति देखते हुए इंदौर रैफर किया।

- घटना की सूचना लगते ही विधायक दिलीपसिंह शेखावत पहुंचे। उन्हाेंने बच्चे को बॉम्बे हॉस्पिटल इंदौर रैफर कराया। इंदौर उपचार के दौरान देर रात उसकी मौत हो गई।


युवाओं ने कहा- जरूरी है रेडियम व स्ट्रीट लाइट
- बायपास पर लगातार हो रहे हादसे पर रोकथाम के लिए शनिवार को युवाओं ने सोशल मीडिया पर मुद्दा उठाया।

- फेसबुक पर डली एक पोस्ट पर युवाओं ने विधायक दिलीपसिंह शेखावत व नपाध्यक्ष अशोक मालवीय से अनुरोध किया कि भविष्य में एेसे हादसे दर्दनाक हादसे न हो।

- इसलिए 4 किमी लंबे बायपास के 5 चौराहों पर स्ट्रीट व रेडियम लाइट जरूरी है। चौराहों पर स्ट्रीट व रेडियम लाइट नहीं होने से रात में वाहन चालकों को काफी परेशानी होती है।

- अंधेरा होने के कारण चौराहे पर वाहन क्रॉस होने की स्थिति में दुर्घटनाएं हाेती है।


बायपास पर एक साइड लगेगी 80 स्ट्रीट लाइट
मामले में विधायक शेखावत ने कहा गोल्डन केमिकल के समीप बायपास चौराहा से चामुंडा माता चौराहा तक एक साइड 80 स्ट्रीट लाइट लगेगी। विधायक के अनुसार नपा ने प्रस्ताव पास कर दिया है। टीएसपी भी हो गई है। टेंडर प्रक्रिया जारी है।

बच्चा विद्यानगर निवासी हर्ष पिता कुरेश परमार है।

मृतक मासूम 5 साल का हर्ष। मृतक मासूम 5 साल का हर्ष।

Related Stories