7 साल की बच्ची से गैंग रेप : मासूम ने मां से कहा, गले पर कटर रखकर दो अंकल ने गंदा काम किया / 7 साल की बच्ची से गैंग रेप : मासूम ने मां से कहा, गले पर कटर रखकर दो अंकल ने गंदा काम किया

आरोपी को सौंपने की मांग करते हुए सड़क पर उतरे हजारों लोग, रात में तीन बस और एक होटल में की तोड़फोड़।

dainikbhaskar.com

Jun 28, 2018, 11:16 AM IST
आराेपी को सौंपने की मांग को ले आराेपी को सौंपने की मांग को ले

मंदसौर/इंदौर. 7 साल की बच्ची से रेप के बाद गला रेतकर उसे झाड़ियों में फेंकने का मामला सामने आने के बाद से ही पूरा मंदसौर उबल उठा है। गुरुवार को बंद के बीच हजारों लोग जुलूस के रूप में शहर में निकले और नारेबाजी करते हुए पुलिस कंट्रोल रूम को घेर लिया। भीड़ को देख पुलिस ने अतिरिक्त पुलिस बल बुलवाया है। गुस्साए लोगों ने रात में बस स्टैंड पर खड़ी तीन बस और एक होटल में तोड़फोड़ की। उधर, एमवाय में ऑपरेशन के बाद बच्ची की हालत स्थिर है। उसने अपनी मां को घटना के बारे में कहा कि दो अंकल ने कटर रखकर गलत काम किया।

देर रात इंदौर में हुआ आॅपरेशन, बच्ची की हालत स्थिर

- सरस्वती शिशु मंदिर की केशवनगर शाखा से मंगलवार शाम को लापता हुई सात साल की बालिका 18 घंटे बाद बुधवार को सुबह स्कूल से करीब 500 मीटर दूर नाले के पास झाड़ियों में लहूलुहान मिली थी। ज्यादती कर बालिका के शरीर पर धारदार हथियार से पांच वार किए और मरने के लिए झाड़ियों में फेंक दिया। गंभीर घायल बालिका का जिला अस्पताल में पांच डॉक्टरों की पैनल ने मेडिकल किया, जिसमें उसके साथ ज्यादती होने की पुष्टि हुई। प्राथमिक उपचार के बाद मासूम को इंदौर रैफर किया है। जहां देर रात एमवाय अस्पताल में डॉक्टरों की टीम ने पेरिनियल इंजुरी का ऑपरेशन किया। डॉक्टरों का कहना है बच्ची सदमे में है और उसकी हालत स्थिर बनी हुई है। पुलिस के अनुसार हालत गंभीर होने से फिलहाल पीड़ित बालिका के बयान दर्ज नहीं हो सके हैं। बयान होने के बाद आगे की कार्यवाही होगी। मामले में फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनावई की गुजारिश की जाएगी। आरोपी के खिलाफ सिटी कोतवाली में 1 आर्म्स एक्ट व मारपीट के मामले में केस दर्ज हैं।

एक अंकल आए, लड्डू दिया, जंगल में ले गए फिर गंदा काम किया

- दरिंदगी का शिकार हुई मासूम के साथ दो लोगों ने ज्यादती की। यह बात खुद बालिका ने इलाज के लिए मंदसौर से इंदौर ले जाते समय एम्बुलेंस में अपनी मां को बताई। बच्ची के साथ इंदौर आए एक परिचित ने dainikbhaksar.com को बताया बच्ची काफी डरी हुई है। दर्द के मारे बार-बार कराह उठती है। रास्ते में उसकी मां ने बात करने की कोशिश की तो बच्ची ने बड़ी मुश्किल से घटना के बारे में बताया। उसने मां को बताया कि वह स्कूल के बाहर दादी का इंतजार कर रही थी। तभी एक अंकल आए। उन्होंने मुझे एक लड्‌डू खाने को दिया। लड्‌डू खाने के बाद वे मुझे जंगल ले गए। जहां एक और अंकल थे। उन्होंने मेरी गर्दन पर कटर (धारदार हथियार) रख दिया, धमकाया भी। इसके बाद दोनों अंकल ने मेरे साथ गंदा काम किया।

बच्ची के शरीर पर थे चोट के निशान, ठीक से चल भी नहीं पा रही थी

- पुलिस ने अपहरण व ज्यादती का केस दर्ज कर स्कूल के आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगाले, जिसमें बच्ची आरोपी के पीछे जाती दिखी। पूछताछ में पता चला कि बुधवार को कंदोया गली निवासी नरेंद्र पिता लक्ष्मीनारायण सोनी ने बच्ची को नाले के पास लक्ष्मण दरवाजा के पीछे स्थित झाड़ियों से निकलते देखा था। बच्ची जख्मी थी और ठीक से चल तक नहीं पा रही थी। उसकी आंखों, गले, गाल व हाथ में चोट के निशान थे।

- नरेंद्र के अनुसार उसके साथ भोईवाड़ा निवासी 7 वर्षीय करण परमार भी था, जिसने बताया कि थोड़ी देर पहले ही 4 अज्ञात लोग बच्ची को पीछे झाड़ियों में छोड़ गए हैं। इसका पता चलते ही वहां भीड़ जमा हो गई और बच्ची से उसका नाम पूछकर पुलिस को सूचना दी। मेडिकल के बाद एसपी मनोजसिंह ने बताया बच्ची के साथ ज्यादती हुई है।

ताऊ ने फुटेज में बच्ची को पहचाना, रात में पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार किया
- पुलिस ने स्कूल से करीब 200 मीटर की दूरी पर हजारी रोड स्थित फैशन पाइंट दुकान पर लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज में बच्ची एक युवक के पीछे जाती नजर आई। फुटेज देखकर बच्ची को तो उसके ताऊ ने पहचान लिया, लेकिन युवक को नहीं पहचान पाए। इसके बाद फुटेज के आधार पर पुलिस ने रात करीब साढ़े 11 बजे मदारपुरा निवासी इरफान पिता जहीर खान (20) को गिरफ्तार किया गया है। प्रारंभिक पूछताछ में आरोपी ने बच्ची को मिठाई खिलाने के बहाने ले जाने और उसके साथ ज्यादती करना स्वीकार किया है। आरोपी के अनुसार उसने ज्यादती के बाद बच्ची का गला रेता और मौके से फरार हो गया।

घटना के विरोध में कंट्रोल रूम को हजारों लोगों ने घेरा, कहा आरोपी को हमें सौंप दो

- मासूम के साथ हुई दरिंदगी के विरोध में गुरुवार को पूरा शहर बंद रखा गया है। आरोपी को सौंपने की मांग को लेकर शहर सहित आसपास के हजारों लोग पुलिस कंट्रोल रूम के सामने जमा हुए और जमकर नारेबाजी की। उनका कहना है कि ऐसे दरिंदे को उन्हें सौंपें ताकि वे उसे सबक सिखा सकें। हालात को देखते हुए सैकड़ों जवानों को तैनात किया गया है। इसके अलावा अतिरिक्त पुलिस बल बुलाया गया है। दूसरी ओर माली समाज ने सुबह मौन जुलूस निकाला, जिसमें सैकड़ों लोग शामिल हुए। कांग्रेस भी शाम 7 बजे मौन जुलूस निकालेगी। कई संगठनों ने ज्ञापन देकर आरोपी को कड़ी सजा देने की मांग की है।

स्कूल परिसर में बच्चों को छोड़कर शिक्षक वाशरूम चले गए
- जानकारी के अनुसार स्कूल की छुट्‌टी के बाद छठी के छात्र आनंद माली व गजेंद्र श्रीमाल के साथ बालिका अपनी दादी का इंतजार कर रही थी। उसे रोज दादी ही स्कूल लाती और ले जाती हैं। वे रोज शाम को 5.10 बजे ही पहुंच जाती हैं, लेकिन इस दिन वे थोड़ी लेट हो गईं। स्कूल प्रबंधन के अनुसार जिन बच्चों के पालक उन्हें लेने आते हैं वे छुट्‌टी के बाद स्कूल परिसर में ही रुके रहते हैं। इस दौरान एक शिक्षक व वाचमैन बच्चों के जाने तक वहीं मौजूद रहते हैं। मंगलवार को वाचमैन गोपाल मालीवाल स्कूल के गार्डन में चला गया और आचार्य रोहित जैन वाशरूम। जब आचार्य जैन वापस आए तो एक युवक बच्ची को ले जा चुका था। आचार्य ने वहां मौजूद बच्चे से पूछा तो उसने बताया एक अंकल आए थे जो बच्ची को ले गए। देर शाम परिजन जब स्कूल पहुंचे और बच्ची के घर नहीं पहुंचने की जानकारी दी तो स्कूल प्रबंधन सहित अन्य ने तलाश शुरू की।

25 टीमों व सभी टीआई ने की सर्चिंग लेकिन पता नहीं चला

- बच्ची के लापता होने की सूचना पर पुलिस ने 25 टीमें बनाई। सभी में 5-5 जवानों व लोगों को शामिल किया। इसने शहर के सभी स्थानों की सर्चिंग की। आसपास के बाछड़ा डेरों पर दबिश भी दी। सीएसपी राकेश माेहन शुक्ला ने बताया नीमच रतलाम व मंदसौर के बाछड़ा डेरों की तलाशी भी ली। बच्ची के रिश्तेदार व मिलने वालों से पूछताछ की। सीसीटीवी के फुटेज भी खंगाले। धार्मिक स्थलों पर भी ढूंढा लेकिन बच्ची का कहीं पता नहीं चला। सीएसपी के अनुसार यदि स्कूल प्रबंधन की लापरवाही साबित होती है तो कार्रवाई की जाएगी।

स्कूल में लगा सीसीटीवी कैमरा बंद मिला

- जांच में स्कूल में लगे सीसीटीवी कैमरे मंगलवार दोपहर से ही बंद मिले। इसका खुलासा खुद स्कूल प्रधानाचार्य मुकेश पाठक ने किया। उन्होंने बताया सीसीटीवी कैमरे का कंट्रोल प्राचार्य सरोज प्रसाद के कमरे में है। दोपहर 1.55 बजे सेवक श्याम सुंदर सफाई करने गया तो उसने सभी उपकरणों के साथ कैमरे का पावर भी बंद कर दिया। इस बारे में बच्ची के घर नहीं पहुंचने की सूचना मिलने पर कैमरे देखने पर पता चला। इसमें कैमरे के फुटेज दोपहर 1.55 बजे तक के ही मिले।

कांग्रेस नेता का गैर जिम्मेदाराना बयान

- कांग्रेस नेता मुकेश नायक ने मंदसौर रेप कांड पर गैर जिम्मेदाराना बयान दिया है। नायक ने कहा कि मप्र में प्रतिदिन 20 जगह रेप होते हैं। हर जगह पहुंचना संभव थोड़ी ना है। वहीं कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने इस घटना को निंदनीय बताया है।

X
आराेपी को सौंपने की मांग को लेआराेपी को सौंपने की मांग को ले
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना