--Advertisement--

75 हजार की दुल्हन बोली...नकली शादी है यह...मेरा नाम भी फर्जी है

मामला इंदौर के पास गौतमपुरा क्षेत्र के काई गांव का है। पुलिस ने मामला दर्ज कर प्रारंभ की जांच।

Danik Bhaskar | Mar 07, 2018, 02:31 PM IST

इंदौर। कुछ दिनों पहले ही शादी कर ससुराल आई नई दुल्हन ने कुछ ऐसा खुलासा किया की पति सहित ससुराल पक्ष के अन्य लोगों के होश उड़ गए। दुल्हन ने कहा कि जो शादी हुई है वह पूरी तरह से फर्जी है और मेरा नाम भी वह नहीं है जो पति और ससुराल के अन्य लोगों को पता है। नकली दुल्हन ससुराल से माल समेटकर भागने की फिराक में थी तभी इस बात का पता ससुराल वालों को लगा गया और उन्होंने पुलिस में शिकायत दर्ज करा दी। पुलिस दुल्हन को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

- जानकारी के अनुसार मामला इंदौर के पास गौतमपुरा क्षेत्र के काई गांव का है। कनाडि़या में रहने वाले राजेश का ससुराल काई गांव में है। राजेश के साले कल्याण की शादी नहीं हो पा रही थी तो राजेश ने यह बात कनाडि़या गांव के अनिल कलौता को बताई।

- अनिल ने राजेश से कहा कि उसके साले की शादी वह करवा देगा। कुछ दिनों बाद अनिल ने राजेश से कहा कि उसने कल्याण के लिए लड़की तलाश कर ली है, लेकिन शादी करने के लिए 80 हजार रुपए लगेंगे। बाद में मामला 75 हजार में तय हुआ।

- अनिल ने एक अन्य व्यक्ति रंजीत दुबे के माध्यम से सपना दुबे नामक युवती को राजेश व उसके परिजनों से मिलवाया। रंजीत ने बताया कि सपना रीवा की रहने वाली है, और कल्याण के साथ उसकी शादी करवा दी।

- शादी होने के बाद कुछ दिनों तक तो सब ठीक चला लेकिन बाद में सपना के तेवर बदलने लगे। बिचौलिया रंजीत आए दिन सपना से मिलने कल्याण के घर पहुंच जाता था। रंजीत के बार-बार सपना से मिलने आने पर कल्याण और उसके परिजनों को शंका हुई।

- कल्याण और उसके परिजनों ने जब सपना से सख्ती से पूछताछ की तो सपना ने बताया कि उसका असली नाम काजल है और उसने सपना दुबे के नाम से फर्जी आधारकार्ड बनवा रखा है। इसी आधार कार्ड के माध्यम से वह लोगों को धेखे में रखकर फर्जी शादी करती है और कुछ दिनों बाद ससुराल से जेवर और अन्य माल समेटरक फरार हो जाती है।

- कल्याण और उसके परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने काजल सहित उसके साथियों पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी है।