--Advertisement--

10 लाख की बेल पर छूटे इंडस्ट्रीयलिस्ट पाटनी, भाई की 10 करोड़ की 4 दुकानें अटैच

इंदौर में 60 करोड़ के लोन की वसूली का मामला, 60 दिन के भीतर लोन सैटल करने की हिदायत।

Dainik Bhaskar

Mar 02, 2018, 03:48 AM IST
पाटनी से पूछताछ करते अधिकारी। पाटनी से पूछताछ करते अधिकारी।

इंदौर. डेब्ट्स रिकवरी ट्रिब्यूनल (डीआरटी) जबलपुर ने बुधवार को उद्योगपति सुशील पाटनी को 60 करोड़ की लोन वसूली को लेकर इंदौर स्थित उनके आवास से गिरफ्तार किया था। गुरुवार को विभाग ने उन्हें डीआरटी कोर्ट जबलपुर में पेश किया। जहां कोर्ट ने उन्हें 10 लाख रुपए जमा करने और 60 दिन के भीतर पूरा लोन सैटल करने की शर्त पर जमानत दी। वहीं कोर्ट ने उनके भाई सुमति प्रकाश की जवाहर मार्ग पर कुल 10 करोड़ की कीमत वाली चार दुकानों को अटैच करने के आदेश दे दिए।

60 करोड़ से ज्यादा राशि चुकाना है

पाटनी भाइयों पर आरोप है कि स्टेट बैंक ऑफ मैसूर, इंदौर की शाखा से उन्होंने लोन लिया था। बाद में साल 2003 में कोर्ट से डिक्री ऑर्डर निकला और उन्हें सवा छह करोड़ चुकाने के आदेश हुए, लेकिन डिक्री आदेश का भी पालन नहीं किया और यह राशि बढ़कर 60 करोड़ से ज्यादा हो गई। इसी कारण डीआरटी के रेवेन्यू इंस्पेक्टर पचौरी, रिकवरी ऑफिसर एनके वर्मा व बैंक ऑफिसर ने पाटनी को गिरफ्तार किया था।

लोन सैटलमेंट नहीं किया तो अरेस्ट वारंट फिर जारी किया जाएगा

रेवेन्यू इंस्पेक्टर दीपक पचौरी ने बताया कि कोर्ट ने सुशील के दोनों भाई सुमति और सुनील के खिलाफ जारी गिरफ्तारी वारंट को बनाए रखा है। विभाग उन दोनों की गिरफ्तारी की प्रक्रिया करेगा और यदि 60 दिन के भीतर सुशील पाटनी ने भी लोन सैटलमेंट नहीं किया तो उनका भी अरेस्ट वारंट फिर जारी किया जाएगा।

X
पाटनी से पूछताछ करते अधिकारी।पाटनी से पूछताछ करते अधिकारी।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..