इंदौर

--Advertisement--

मां के इलाज का खर्च मांगा तो मारपीट करने लगे, बेटे-बहू को घर खाली करने के आदेश

कैंसर से पीड़ित हैं मां, पिता ने एसडीएम कोर्ट से जीता भरण पोषण का केस

Dainik Bhaskar

Jan 06, 2018, 06:07 AM IST
डेमोफोटो डेमोफोटो

भोपाल. कैंसर पीड़ित पत्नी का इलाज कराने के लिए खर्च मांगा तो बेटा-बहू मां-बाप को सताने लगे। आए दिन घर का सामान तोड़ना, गाली-गलौज कर उनके साथ मारपीट करना शुरू कर दिया। इससे परेशान मां-बाप ने टीटी नगर एसडीएम संजय श्रीवास्तव के कोर्ट में मई 2017 में भरण पोषण का केस दर्ज कराया। एसडीएम ने सुनवाई के बाद बेटा-बहू को मकान से बेदखल करने का आदेश दिया है।

महाकाली सोसायटी त्रिलंगा निवासी नारायण प्रसाद गौतम पुलिस विभाग में रीडर के पद से अक्टूबर-2013 में रिटायर हुए हैं। पत्नी रजनी गौतम कैंसर पीड़ित हैं। उनकी दो बेटी और एक बेटा है, जो साथ रहता है। बेटा पीयूष गौतम जिला अदालत में सहायक ग्रेड-3 के पद पर है। वहीं बहू कोपल कॉलेज में लाइब्रेरियन है। उन्होंने याचिका में बताया था कि मां के इलाज के लिए पैसे मांगने पर बेटा कोई मदद नहीं करता। शराब पीकर आए दिन घर का सामान तोड़ देता है। हम लोगों से गाली-गलौज कर मारपीट भी करता है। आवेदक ने सुनवाई के दौरान एसडीएम के सामने बेटे को मकान से बेदखल करनी की बात कही। उन्होेंने कहा कि इससे मकान के उस हिस्से को किराये पर देकर पत्नी का इलाज करा सकेंगे। एसडीएम ने बेटे को नोटिस देकर जवाब मांगा। पीयूष ने बताया कि उसके पिता ने ही उसे घर में साथ रहने के लिए बुलाया था। ऐसे में वह घर से अलग होने के लिए तैयार है। एसडीएम ने बेटे-बहू को मकान से बेदखल करने का आदेश दिया।

X
डेमोफोटोडेमोफोटो
Click to listen..