--Advertisement--

जूतों में नोटों की गडि्डयां छुपाकर ले जाता धा घर, ऐसे पकड़ाया नोट प्रेस अफसर

बैंक नोट प्रेस देवास में शुक्रवार को पुलिस ने एक अधिकारी को अरेस्ट किया। अधिकारी प्रेस से नोटों की चोरी करता था।

Dainik Bhaskar

Jan 20, 2018, 02:10 AM IST
डिप्टी कंट्रोलर मनोहर वर्मा को सीआईएसएफ ने शुक्रवार को 200-200 के नए नोटों की दो गडि्डयां चुराकर ले जाते हुए रंगेहाथों पकड़ा। उसके ऑफिस के डस्टबिन और लॉकर से 26 लाख 9 हजार 300 रुपए बरामद हुए। डिप्टी कंट्रोलर मनोहर वर्मा को सीआईएसएफ ने शुक्रवार को 200-200 के नए नोटों की दो गडि्डयां चुराकर ले जाते हुए रंगेहाथों पकड़ा। उसके ऑफिस के डस्टबिन और लॉकर से 26 लाख 9 हजार 300 रुपए बरामद हुए।

इंदौर. बैंक नोट प्रेस देवास में शुक्रवार को पुलिस ने एक अधिकारी को अरेस्ट किया। अधिकारी प्रेस से नोटों की चोरी करता था। अफसर इतनी सुरक्षा के बाद भी करीबन 90 लाख रुपए के नोट चुरा चुका था। सहकर्मियों की सूझबूझ से आरोपी अधिकारी को पुलिस ने रंगेहाथ पकड़ लिया। पुलिस नोट जब्त कर उससे पूछताछ कर रही है। बता दें, गिरफ्तारी के एक दिन पहले सीआईएसएफ जवान को अधिकारी पर शक हुआ। जिसकी सूचना जवान ने अपने अधिकारी को दी। इसके बाद पूरे प्लान के साथ अधिकारी को पकड़ा गया। डस्टबिन में फेंक देता था नोटों की गड्डी...

- आरोपी का नाम मनोहर वर्मा है। उसकी गिरफ्तारी से एक दिन पहले ही सीआईएसएफ जवान को उस पर शक हुआ था। बीएनपी सूत्रों के अनुसार, जिस नोट वेरिफिकेशन ब्रांच में मनोहर वर्मा नया अधिकारी बनकर आया था, वहां दो जवान घूमते हुए बाहर पहरा देते हैं।

- एक जवान आता है, दूसरा दूसरी तरफ जाता है। जवानों के क्रॉसिंग के समय वर्मा निगाह रखता था और मौका पाकर नोट की गड्डी उठाकर डस्टबिन की तरह पड़े डिब्बे में फेंक देता था।

- सीआईएसएफ के एक जवान को 18 जनवरी को मनोहर के बार-बार बक्से में कुछ डालने पर शक हुआ। उसने यह रिपोर्ट अपने अधिकारी को दी। इस पर तुरंत सीसीटीवी कैमरे खंगाले गए तो वे मूवेबल निकले।

- इससे बहुत ज्यादा स्पष्ट नहीं हो रहा था। इस पर निगरानी के लिए कैमरे को डिप्टी कंट्रोल ऑफिसर मनोहर के मूवमेंट वाले स्थान पर फिक्स किया गया। शुक्रवार को सीआईएसएफ के अधिकारी खुद कैमरे के सामने बैठे।

- एक अन्य अधिकारी को डिप्टी कंट्रोल ऑफिसर के ऑफिस के बाहर छुपकर कांच में झांकने के लिए बैठा दिया। जैसे ही वह रुपए ले जाकर डिब्बे में डालने लगा तो उसे रोक लिया गया। इसके बाद सुरक्षा विभाग के अफसरों ने आकर जांच की और चेकिंग में जूते उतरवाए तो 200-200 के नोट की दो गडि्डयां उसके जूतों में मिलीं।

आरोपी जिस शाखा में पदस्थ था वहां जांचे जाते हैं नोट
- बीएनपी में छह हिस्सों में नोट छपता है। इसमें चौथी और पांचवीं स्टेप में त्रुटिपूर्ण नोट अलग किए जाते हैं। इसी हिस्से में वर्मा पदस्थ था और मौका पाकर नोटों की गड्डी निकालकर डस्टबिन या लॉकर में रख लेता था। डिपार्टमेंट हेड होने की वजह से उसके लॉकर की जांच भी नहीं होती थी।

क्या है मामला...

- 0डिप्टी कंट्रोलर मनोहर वर्मा को सीआईएसएफ ने शुक्रवार को 200-200 के नए नोटों की दो गडि्डयां चुराकर ले जाते हुए रंगेहाथों पकड़ा। उसके ऑफिस के डस्टबिन और लॉकर से 26 लाख 9 हजार 300 रुपए बरामद हुए।

- पकड़े जाने के बाद घर की तलाशी हुई तो दीवान के अंदर रखे जूतों के डिब्बों और कपड़े की थैलियों से 64.5 लाख रुपए मिले। पूरी राशि 200 और 500 के नए नोटों में है। वर्मा बीएनपी में नोट वेरिफिकेशन सेक्शन का हेड था।

- इस वजह से अधिकारियों को मिली तलाशी में थोड़ी छूट का फायदा उठाता और नोट जूतों और कपड़ों में रखकर ले जाता था। सीआईएसएफ ने उसे पुलिस को सौंप दिया है। वर्मा की 1984 में क्लर्क के तौर पर पोस्टिंग हुई थी। कुछ दिन पहले ही वह नोट वेरिफिकेशन सेक्शन में पोस्टेड किया गया था

दो दिन पहले ही वेरिफिकेशन सेक्शन किया था ज्वॉइन
- आरोपी मनोहर वर्मा 1984 में क्लर्क के तौर पर बीएनपी में नियुक्त हुआ था। कुछ दिनों पहले ही नोट वेरिफिकेशन सेक्शन में ज्वॉइन किया था, इससे पहले वह फिनिशिंग-1 शाखा में पोस्टेड था।

- सीआईएसएफ पीआर के ए्क अधिकारी के मुताबिक, नोट वेरिफिकेशन सेक्शन के डिप्टी कंट्रोल ऑफिसर के जूतों से 200-20 रुपए की दाे गडि्डयां बरामद की गई हैं। शक होने से वर्मा पर निगरानी रखी जा रही थी।

पकड़े जाने के बाद घर की तलाशी हुई तो दीवान के अंदर रखे जूतों के डिब्बों और कपड़े की थैलियों से 64.5 लाख रुपए मिले। पकड़े जाने के बाद घर की तलाशी हुई तो दीवान के अंदर रखे जूतों के डिब्बों और कपड़े की थैलियों से 64.5 लाख रुपए मिले।
आरोपी डिप्टी कंट्रोलर मनोहर वर्मा । आरोपी डिप्टी कंट्रोलर मनोहर वर्मा ।
अधिकारियों को मिली तलाशी में थोड़ी छूट का फायदा उठाता और नोट जूतों और कपड़ों में रखकर ले जाता था। अधिकारियों को मिली तलाशी में थोड़ी छूट का फायदा उठाता और नोट जूतों और कपड़ों में रखकर ले जाता था।
बैंक नोट प्रेस देवास। बैंक नोट प्रेस देवास।
X
डिप्टी कंट्रोलर मनोहर वर्मा को सीआईएसएफ ने शुक्रवार को 200-200 के नए नोटों की दो गडि्डयां चुराकर ले जाते हुए रंगेहाथों पकड़ा। उसके ऑफिस के डस्टबिन और लॉकर से 26 लाख 9 हजार 300 रुपए बरामद हुए।डिप्टी कंट्रोलर मनोहर वर्मा को सीआईएसएफ ने शुक्रवार को 200-200 के नए नोटों की दो गडि्डयां चुराकर ले जाते हुए रंगेहाथों पकड़ा। उसके ऑफिस के डस्टबिन और लॉकर से 26 लाख 9 हजार 300 रुपए बरामद हुए।
पकड़े जाने के बाद घर की तलाशी हुई तो दीवान के अंदर रखे जूतों के डिब्बों और कपड़े की थैलियों से 64.5 लाख रुपए मिले।पकड़े जाने के बाद घर की तलाशी हुई तो दीवान के अंदर रखे जूतों के डिब्बों और कपड़े की थैलियों से 64.5 लाख रुपए मिले।
आरोपी डिप्टी कंट्रोलर मनोहर वर्मा ।आरोपी डिप्टी कंट्रोलर मनोहर वर्मा ।
अधिकारियों को मिली तलाशी में थोड़ी छूट का फायदा उठाता और नोट जूतों और कपड़ों में रखकर ले जाता था।अधिकारियों को मिली तलाशी में थोड़ी छूट का फायदा उठाता और नोट जूतों और कपड़ों में रखकर ले जाता था।
बैंक नोट प्रेस देवास।बैंक नोट प्रेस देवास।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..