--Advertisement--

जन्म प्रमाण-पत्र में नाम के लिए 1200 की घूस , निगमकर्मी को 4 साल की कैद

कर्मचारी अनिता चिंतामणि जोन तीन में कम्प्यूटर ऑपरेटर प्रभारी थी।

Danik Bhaskar | Dec 28, 2017, 06:31 AM IST

इंदौर . जन्म प्रमाण-पत्र में नाम सुधारने के लिए रिश्वत लेते रंगेहाथ पकड़ी गई नगर निगम की कर्मचारी को जिला अदालत ने बुधवार को सजा सुना दी। विशेष न्यायाधीश जेपी सिंह ने रिश्वत लेने के आरोप में चार साल, रिश्वत मांगने के आरोप में तीन साल कैद और ढाई-ढाई सौ रुपए जुर्माने की सजा दी। दोनों सजाएं साथ चलेंगी। कर्मचारी अनिता चिंतामणि जोन तीन में कम्प्यूटर ऑपरेटर प्रभारी थी।

- 5 दिसंबर 2014 को लोकायुक्त पुलिस ने अनिता को फरियादी मोहम्मद अनस सिद्दीकी निवासी मदीना नगर से 1200 रुपए की रिश्वत लेते पकड़ा था। फरियादी ने 2013 में बेटे का जन्म प्रमाण-पत्र प्राप्त किया था, जिसमें बेटे का नाम अब्दुल मोइद के स्थान पर अब्दुल मोइज हो गया था। नाम सुधरवाने के लिए कर्मचारी ने दो हजार रुपए मांगे थे। सौदा 12 सौ में तय हुआ था।