--Advertisement--

बस हादसे में हुआ था पिता का एक्सीडेंट, अब समाज के लोगों ने उठाई ये जिम्मेदारी

देवास वायपास पर बिचौली हप्सी ओवर ब्रिज पर दोपहर करीब साढ़े तीन बजे स्कूल बस और ट्रक में टक्कर हो गई थी।

Dainik Bhaskar

Jan 10, 2018, 01:26 AM IST
ड्राइवर की दोनों बेटियों को गोद लिया है। ड्राइवर की दोनों बेटियों को गोद लिया है।

इंदौर. शहर में देवास बायपास पर बिचौली हप्सी ओवर ब्रिज पर दोपहर करीब साढ़े 3 बजे स्कूल बस और ट्रक में टक्कर हो गई थी। टक्कर इतनी जबरदस्त थी की बस के अगले हिस्से के परखच्चे उड़ गए। हादसे में बस ड्राइवर राहुल और 4 बच्चों की मौके पर ही मौत हो गई थी। आपको बता दें, जिस बस का एक्सीडेंट हुआ था उस बस के ड्राइवर राहुल की दो बेटियां हैं। दोनों बेटियों को अब कम्युनिटी के दो अलग- अलग व्यक्तियों ने गोद लिया है। दोनों बेटियों को लिया गोद...

- दरअसल, मृतक ड्राइवर राहुल के घर की हालत ठीक नहीं है। उनकी आर्थिक स्थिती इतनी भी नहीं है कि सही से घर का खर्चा चला लें।
- घर में मां- बाप और पत्नी- बच्चों को पालने वाला, राहुल की इस भीषण हादसे में मौत हो गई थी। वहीं राहुल की दो बेटियां हैं।
- हादसे से 6 दिन पहले ही उसकी दूसरी बेटी का जन्म हुआ था। उसकी बड़ी बेटी ईशा सिर्फ अभी ढ़ाई साल की है।
- फैमिली की कंडिशन अच्छी न होने की वजह से से ड्राइवर की एक बेटी को पार्षद भूपेन्द्र चौहान ने गोद ले लिया है। वहीं, दूसरी को कम्युनिटी के लोगों ने गोदी अपनाया है।
- ड्राइवर राहुल सिसौदिया की फैमिली से मंगलवार को बलाई कम्युनिटी के लोगों का एक ग्रुप मिलने पहुंचा था।
- इस दौरान उन्होंने बताया कि स्कूल मैनेजमेंट से मृतक ड्राइवर राहुल को दस हजार रुपए का चेक मिला है जिसे परिवार के लोगों ने वापस लौटा दिया है।
- कम्युनिटी के लोगों का कहना है कि इन बच्चियों की परवरिश करेंगे। इनकी एजुकेशन और शादी तक की व्यवस्था कराएगा। वहीं, उनकी वाइफ की भी एक स्कूल में नौकरी लगाए जाने की पुष्टि की गई है।


ऐसे हुआ था हादसा...

- शुक्रवार शाम को डीपीएस (दिल्ली पब्लिक स्कूल) में छुट्‌टी के बाद बस 12 बच्चों को घर छोड़ने जा रही थी।
- बायपास पर बस का स्टयरिंग फेल होने से चालक का संतुलन बस पर से हट गया। बस डिवायडर फादते हुए गलत दिशा में घुस गई और सामने से आ रहे ट्रक से टकरा गई।
- हादसे में बस चालक स्टेयरिंग पर फंस गया जससे उसने वहीं पर दम तोड़ दिया। हादसे के बाद आसपास गुजर रहे लोगों ने पुलिस और एंबुलेंस को सूचना दी।
- बच्चों की फैमिली को जैसे ही इस हादसे की जाानकारी मिली जो जिस हाल में था वैसे ही घटनास्थल की ओर दौड़ पड़ा।

बड़ी बेटी ईशा। बड़ी बेटी ईशा।
बेटी ईशा सिर्फ अभी ढ़ाई साल की है। बेटी ईशा सिर्फ अभी ढ़ाई साल की है।
हादसे के दौरान बस चकनाचूर हो गई थी। हादसे के दौरान बस चकनाचूर हो गई थी।
बस ड्राइवर राहुल के पिता। बस ड्राइवर राहुल के पिता।
बस ड्राइवर राहुल के माता। बस ड्राइवर राहुल के माता।
पत्नी। पत्नी।
राहुल। राहुल।
(फाइल फोटो) (फाइल फोटो)
X
ड्राइवर की दोनों बेटियों को गोद लिया है।ड्राइवर की दोनों बेटियों को गोद लिया है।
बड़ी बेटी ईशा।बड़ी बेटी ईशा।
बेटी ईशा सिर्फ अभी ढ़ाई साल की है।बेटी ईशा सिर्फ अभी ढ़ाई साल की है।
हादसे के दौरान बस चकनाचूर हो गई थी।हादसे के दौरान बस चकनाचूर हो गई थी।
बस ड्राइवर राहुल के पिता।बस ड्राइवर राहुल के पिता।
बस ड्राइवर राहुल के माता।बस ड्राइवर राहुल के माता।
पत्नी।पत्नी।
राहुल।राहुल।
(फाइल फोटो)(फाइल फोटो)
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..