Hindi News »Madhya Pradesh »Indore »News» Cashier Theft For Revenge From The Showroom Owner

शोरूम मालिक से बदला लेना चाहता था पूर्व कैशियर, मैनेजर से चोरी में साथ देने के लिए रखी ये शर्त

पुलिस ने दोनों आरोपियों को घटना के 8 घंटे बाद ही गिरफ्तार कर लिया।

Bhaskar News | Last Modified - Dec 22, 2017, 08:01 AM IST

  • शोरूम मालिक से बदला लेना चाहता था पूर्व कैशियर, मैनेजर से चोरी में साथ देने के लिए रखी ये शर्त

    खंडवा.दिवाली पर शोरूम संचालक द्वारा वेतन नहीं बढ़ाने के बाद नौकरी छोड़ने वाले कैशियर ने मैनेजर के साथ मिलकर शोरूम से 3.37 लाख रुपए चुराए और घरों में छुपा दिए। संचालक की शिकायत पर पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज देखे तो उनकी चोरी पकड़ी गई।

    - पुलिस ने दोनों आरोपियों को घटना के 8 घंटे बाद ही गिरफ्तार कर लिया। शोरूम में काम करने वाला पूर्व कैशियर मालिक द्वारा वेतन नहीं बढ़ाने से नाराज था। मैनेजर की कुछ दिनों बाद शादी थी तो रुपए के लालच में वह भी उसके साथ हो लिया और वारदात को अंजाम दिया।

    - पंधाना के बोरगांव बुजुर्ग में इंदौर-इच्छापुर हाईवे पर स्थित बाइक शोरूम से 19 दिसंबर की रात अज्ञात बदमाश 3.37 लाख रुपए चुरा ले गए। शोरूम संचालक रुपेश पिता हीरालाल जाट निवासी माता चौक खंडवा ने 20 दिसंबर को बोरगांव चौकी में शिकायत की और बताया कि बदमाश शोरूम के पीछे का दरवाजा तोड़कर अंदर घुसे और काले रंग के बैग में रखे 4 लाख 15 हजार 580 रुपए में से 3.37 लाख रुपए चुरा ले गए।

    - शिकायत के बाद पंधाना थाने में प्रकरण दर्ज किया गया। पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन ने बोरगांव चौकी प्रभारी जगदीश सिंदिया व पंधाना टीआई आरएस मालवीय सहित टीम गठित की। टीम सुबह शोरूम पहुंची और सीसीटीवी फुटेज खंगाले तो घटना वाली रात के फुटेज नहीं थे।

    - पुलिस ने दो से तीन दिन पुराने फुटेज खंगाले तो उसमें शोरूम में काम करने वाले पूर्व कैशियर सोनू उर्फ विवेक पिता लखनलाल पांचाल निवासी बोरगांव की गतिविधियों पर शंका हुई। पुलिस ने उसे थाने बुलाकर सख्ती से पूछताछ की तो उसने शोरूम के मैनेजर जाफर पिता हमीद मंसूरी निवासी कोहदड़ के साथ चोरी करना कबूल किया। एसपी ने एक ही दिन में चोरी का खुलासा करने पर टीम को 10 हजार रुपए देने की घोषणा की।

    पुलिस गिरफ्त में आरोपी
    - पूछताछ में सोनू उर्फ विवेक ने पुलिस को बताया उसने कई बार मालिक रुपेश से वेतन बढ़ाने को कहा लेकिन वह दिवाली का कहकर टाल देता। नाराज होकर उसने नौकरी छोड़ दी और तब से ही बदला लेने का मन बना लिया।

    - मैनेजर जाफर ने ही उसे बताया था कि सेठ लगभग एक सप्ताह से शोरूम पर नहीं आया है। करीब 5 लाख रुपए ड्रॉज में रखे हैं, तुम आ जाओ। जाफर के कहने पर उस शाम वह शोरूम में ही छुप गया और ड्राज तोड़कर उसमें रखे पांच सौ व दो हजार रुपए के नोट कुल 3.37 लाख रुपए चुरा लिए। 100, 50 व 10 रुपए की गड्डी जिसमें 66 हजार 280 रुपए थे उसे छोड़ दिया।

    कोड पता था इसलिए शोरूम के वाईफाई का करता था उपयोग
    - एसपी ने बताया आरोपी विवेक नौकरी छोड़ने के बाद भी शोरूम जाता था। उसे शोरूम का वाईफाई कोड पता था। सीसीटीवी फुटेज में भी वह शोरूम में बैठा दिखाई दिया था। इसी शंका में उसे पकड़कर पूछताछ की गई और चोरी की वारदात का खुलासा हुआ।

    - उन्होंने बताया जिलेभर के बाइक, कार शोरूम संचालकों और बैंक मैनेजर की बैठक लेकर वाईफाई को सार्वजनिक स्थानों पर बंद करने, पासवर्ड बाहरी व्यक्तियों को शेयर नहीं करने की समझाइश देंगे ताकि काेई अपराध ना हो।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Indore News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Cashier Theft For Revenge From The Showroom Owner
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×