--Advertisement--

3 बच्चे वार्ड में शिफ्ट, दो 24 घंटे डॉक्टर की मॉनिटरिंग में, एक की प्लास्टिक सर्जरी

बॉम्बे हॉस्पिटल में फिलहाल सौमिल आहूजा, शिवांग चावला, पार्थ बाशानी, खुशी, अरीबा और वैदिक भर्ती हैं।

Dainik Bhaskar

Jan 09, 2018, 07:02 AM IST
children shift in the ward, two 24 hours in doctors monitoring

इंदौर. बॉम्बे हॉस्पिटल में फिलहाल सौमिल आहूजा, शिवांग चावला, पार्थ बाशानी, खुशी, अरीबा और वैदिक भर्ती हैं। सोमवार को सौमिल, शिवांग आैर पार्थ को आईसीयू से वार्ड में शिफ्ट किया। पार्थ के हाथों में चोट है। सौमिल के पैर में फ्रैक्चर है तो शिवांग की अंगुलियों में चोट लगी है। वहीं, खुशी और अरीबा की हालत स्थिर है। वह वेंटिलेटर पर हैँ। डॉक्टरों ने 24 घंटे मॉनिटरिंग में रखने की बात कही है।

- वहीं, वैदिक की प्लास्टिक सर्जरी हुई है। मुंबई से आए डॉक्टर ने उसका ऑपरेशन किया है। जो बच्चे गंभीर घायल हो गए हैं, उनके माता-पिता और बड़े-बुजुर्ग के हलक से निवाला तक नहीं उतर रहा। जिस बच्चे को खरोंच लगने पर मां-बाप चिंता में पड़ जातेे थे, उनके हाथ-पैर पर प्लास्टर, सूजन देखना किसी सदमे से कम नहीं।

- इनके परिजन खुश तो हैं, लेकिन उदासी इस बात की कि उनके बच्चों के चार साथी अब दुनिया में नहीं हैं। चिंता इस बात की भी है कि अपने बच्चों के दिलोदिमाग से इस भयावह घटना को कैसे मिटाएंगे।

- आईसीयू से बाहर आए बच्चों को परिजन, रिश्तेदार नई-नई बातें, भारत-साउथ अफ्रीका क्रिकेट मैच का हाल, आस-पड़ोस के किस्से सुनाकर घटना की याद से बचा रहे हैं। बच्चे बार-बार अपने साथियों के बारे में पूछ रहे हैं, लेकिन परिजन दूसरी बातें कर उनका ध्यान हटाने की कोशिश कर रहे हैं।
- स्कूल का स्टाफ भी मिलने आ रहा है। टीचर्स हंस कर बच्चों से मिलती हैं, वैसे ही आईसीयू से बाहर आए बच्चों से आकर मिलीं। उन्हें चॉकलेट देकर गेट वेल सून भी कहा।

पहली कक्षा की बच्ची ने ऐसे याद किया कृति, श्रुति, हरमीत व स्वस्तिक को

- डीपीएस बस हादसे में जान गंवाने वाले चार बच्चों को अपने मन की संवेदना से इस तरह याद किया शिशु कुंज स्कूल में पहली क्लास की छात्रा अद्विका अग्रवाल ने। उसने स्केच में चारों बच्चों को बस में बैठा बताया।

X
children shift in the ward, two 24 hours in doctors monitoring
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..