--Advertisement--

कंपनी के खाते से लाखों रूपए करना चाहता था ट्रांसफर, पुलिस ने 3 लोगों को किया अरेस्ट

फर्जी चेक से इंदौर में अपने खाते में ट्रांसफर कराने पहुंचे रेत कारोबारी को एमआईजी पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

Danik Bhaskar | Dec 16, 2017, 07:21 AM IST

इंदौर. बेंगलरू की एक इंटरनेशनल कंपनी के खाते से 95 लाख रुपए फर्जी चेक से इंदौर में अपने खाते में ट्रांसफर कराने पहुंचे रेत कारोबारी को एमआईजी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। दो आैर लोगों को भी पकड़ा गया है। चौथे आरोपी की तलाश की जा रही है। इनके तार भाजपा नेता से जुड़े बताए जा रहे हैं।


- एसपी पूर्व अवधेश गोस्वामी ने बताया शुक्रवार दोपहर मालवा परिसर स्थित आईसीआईसीआई बैंक के ब्रांच मैनेजर मंगेश केशकर ने शिकायत दर्ज कराई थी कि शाखा में 14 दिसंबर को रेत कारोबारी भंवरकुआं निवासी नवनीत सिंह बग्गा बेंगलुरू की मेसर्स हर्बल लाइफ इंटरनेशनल इंडिया प्राइवेट लिमिटेड कंपनी का 95 लाख रुपए का चेक अपने खाते में ट्रांसफर कराने आया था।

- शक होने पर बैंक कर्मचारियों ने चेक पर दर्ज खाताधारक विवेक एमपी के मोबाइल पर संपर्क किया। विवेक ने बताया कि उन्होंने ऐसा कोई चेक जारी नहीं किया, बल्कि उनकी कंपनी के साथ कुछ समय पूर्व मुंबई के उस्मानाबाद में इसी तरह फर्जी चेक से 20 करोड़ की धोखाधड़ी हो चुकी है। इस पर बैंक अधिकारियों ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने बग्गा को पकड़ लिया। उसे ये चेक वरुण दुबे निवासी प्रिकांको काॅलोनी ने दिया था।


- पुलिस ने वरुण को भी उठा लिया। वरुण ने बताया कि वह सरकारी कॉन्ट्रेक्टर है। यह चेक उसे आशुतोष शर्मा निवासी मंगल मार्ग गांधी नगर ने दोस्त इरफान पठान से दिलवाया था। वरुण ने बताया कि उसने कुछ समय पूर्व आशुतोष के कहने पर इमरान को 5 लाख रुपए दिए थे, क्योंकि इमरान फाॅरेन फंडिंग व लोन कराता है।

- पुलिस ने आशुतोष को भी पकड़ लिया। वहीं बग्गा ने बताया कि वरुण से उसे 5 लाख रुपए लेना थे व 20 लाख का माल वह उसे सप्लाय करने वाला था। इसलिए उसने जो चेक दिया था, वह उसे कैश कराने पहुंचा था। चेक फर्जी था, इसकी जानकारी नहीं थी।