Hindi News »Madhya Pradesh News »Indore News »News» Devyang Also Did Not Lose Heart, Raised The Cable Business

दिव्यांग होकर भी नहीं हारी हिम्मत, खड़ा किया केबल का कारोबार, बने रोल मॉडल

Bhaskar News | Last Modified - Dec 31, 2017, 03:15 AM IST

1 साल में एक एक्सीडेंट में दिव्यांग अरविंद प्रभु को व्हील चेयर पर पहुंचा दिया।
  • दिव्यांग होकर भी नहीं हारी हिम्मत, खड़ा किया केबल का कारोबार, बने रोल मॉडल
    +2और स्लाइड देखें

    इंदौर.21 साल में एक एक्सीडेंट में दिव्यांग अरविंद प्रभु को व्हील चेयर पर पहुंचा दिया फिर भी उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और उस दौर में अपना केबल टीवी का कारोबार खड़ा किया, जब देश में केवल एक ही चैनल था। आज कई लोगों का रोल मॉडल हैं। दरअसल, अरविंद प्रभु शनिवार को इंडियन ऑर्थोपेडिक एसोसिएशन द्वारा आयोजित आयोकॉन 2017 के पांचवे दिन पहुंचे थे। उन्होंने कहा कि 1987 में कार एक्सीडेंट में गंभीर घायल हो गए। ये थी सोच...


    - अरविंद प्रभु ने डॉक्टरों को संबोधित करते हुए बताया कि 1987 में कार दुर्घटना में दिव्यांगता का बोध हुआ तो तय किया कि पहले आर्थिक रूप से खुद को आत्मनिर्भर बनाऊंगा।

    - अमेरिका में इलाज के दौरान ही मैंने अगले दस साल के अपने आर्थिक लक्ष्य निर्धारित कर लिए। उसके बाद भारत आकर मैंने केबल टीवी के कारोबार में एंट्री की।

    - इसके बाद काम करते हुए 10 साल में अपनी पहली कार मर्सिडीज बेंज खरीदी।

    प्लास्टिक सर्जरी पर आज अमेरिकी डॉक्टर करेंगे संबोधित
    - शनिवार सुबह डॉक्‍टरों ने साइकिल रैली की, जिसमें 35 प्रतिभागी शामिल हुए। ऑर्गनाइजिंग सेक्रेटरी डॉ. विनय तंतुवे ने बताया समापन दिवस पर 31 दिसंबर को अमेरिका से आए प्लास्टिक सर्जन डाॅ. सतीश व्यास और मुंबई के अमित अजगांवकर के व्याख्यान होंगे।

    कानून में प्रावधान, फिर भी दिव्यांग अधिकारों से वंचित
    - कानून में प्रावधान होने के बाद भी दिव्यांगों को अधिकार नहीं मिल पा रहे। 1998 में मैंने महिला क्रिकेट को बढ़ावा देने का फैसला किया।

    - महिला क्रिकेट की उपेक्षा को लेकर बीसीसीआई और अन्य संगठनों से संपर्क किया। दिव्यांग लोगों के म्यूजिक बैंड ‘उड़ान’ की स्थापना में भूमिका निभाई।

    - छह साल पहले तीन साथियों के साथ भारत यात्रा की, जिसका नाम ‘बियॉण्ड बैरियर इनक्रेडिबल इंडिया टूर’ था। यात्रा में 19 हजार किलोमीटर की थी।

  • दिव्यांग होकर भी नहीं हारी हिम्मत, खड़ा किया केबल का कारोबार, बने रोल मॉडल
    +2और स्लाइड देखें
  • दिव्यांग होकर भी नहीं हारी हिम्मत, खड़ा किया केबल का कारोबार, बने रोल मॉडल
    +2और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Indore News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Devyang Also Did Not Lose Heart, Raised The Cable Business
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×