--Advertisement--

ऑफिस लाकर बच्चे को कुर्सी पर बैठाया, शटर गिराया और पीछे से घोंट दिया गला

चिकित्सक और एमजीएम मेडिकल कॉलेज के पूर्व डीन व एमवायएच के पूर्व अधीक्षक डॉ. गिरीश चंद्र सिपाहा का मंगलवार को निधन हो गया

Danik Bhaskar | Jan 10, 2018, 03:05 AM IST

भोपाल. घर में आपत्तिजनक हरकतें करते पकड़े जाने के बाद मोहल्ले वालों के सामने पिटाई की जिल्लत का बदला लेने के लिए 19 साल के ट्यूटर बिट्टू उर्फ विशाल ने साेमवार को बैरागढ़ क्राइस्ट मेमोरियल स्कूल के क्लास सेकंड के स्टूडेंट भरत महावर की जूतों की लेस से गला घोंटकर हत्या की थी। इसका खुलासा खुद विशाल ने मंगलवार को पुलिस के सामने किया। पुलिस ने आरोपी पर किडनैपिंग, मर्डर और सबूत छिपाने समेत अन्य धाराओं में केस दर्ज कर लिया। वह तड़प रहा था, पर मुझे तरस नहीं अाया...

- बिट्‌टू ने पुलिस को बताया- मैं भरत की मां से प्यार करता हूं। उसके घर आना-जाना था। इसे लेकर शनिवार को भी भरत के पिता परसराम ने मारपीट की थी।

- सबक सिखाने के लिए मैंने भरत को मार दिया। फंदा लगाते समय वह तड़प रहा था, लेकिन मुझे उस पर कोई तरस नहीं आया।

- बता दें, बिट्‌टू कृष्णा प्लाजा में बने एलईडी कंपनी में बतौर सेल्समैन काम करता था। वहीं उसने घटना को अंजाम दिया।

मौन विरोध जताया : अंतिम संस्कार से पहले स्कूल की चौखट पर टिकाया बच्चे का सिर

पिता की स्कूल से 3 अपील

1. बच्चों को स्कूल से अकेले न भेजें।
2. छुट्‌टी होने पर देखरेख में रवाना करें।
3. बच्चों के प्रति अपनी जिम्मेदारी समझें।

इत्तेफाक से मिली ऑफिस की चाबी...

- एलईडी शॉप के मालिक सचिन श्रीवास्तव के मुताबिक उन्होंने पहली बार ही बिट्टू को ऑफिस की चाबी सौंपी थी।

आरोपी की मां ने पढ़ाया था परसराम को...

- परसराम को बिट्‌टू की मां ने ट्यूशन पढ़ाई थी। इसी कारण एक बार पहले हुए विवाद में उन्होंने बिट्‌टू पर केस दर्ज नहीं कराया था।

पुलिस पहुंची तो चाय पीता मिला...

- परसराम की शिकायत पर सोमवार शाम जब पुलिस बिट्टू के ऑफिस पहुंची तो वह आराम से चाय पीता मिला, मानो कुछ हुआ ही न हो।