Hindi News »Madhya Pradesh »Indore »News» Funeral Of The Person Who Died In The Police Station

थाने में जान देने वाले की शवयात्रा, 3 घंटे तक जाम में फंसे लोग

11 बजे एमवाय अस्पताल में तीन डॉक्टरों की टीम ने पोस्टमार्टम किया, जिसकी वीडियोग्राफी भी की गई। मामले की न्यायिक जांच शुर

Bhaskar News | Last Modified - Dec 30, 2017, 06:59 AM IST

थाने में जान देने वाले की शवयात्रा, 3 घंटे  तक जाम में फंसे लोग

इंदौर .कनाड़िया थाने में गुरुवार को फांसी लगाने वाले शांति नगर निवासी सन्नी उर्फ डोबा (20) पिता रमेश अलावा की शवयात्रा शुक्रवार को दोपहर 1 बजे भारी पुलिस फोर्स के साये में साढ़े तीन किलोमीटर पैदल निकली। इस दौरान पुलिस को ट्रैफिक डायवर्ट करना पड़ा, जिससे चौराहों पर जाम लग गया और लोग 3 घंटे तक परेशान होते रहे। इससे पहले सुबह 11 बजे एमवाय अस्पताल में तीन डॉक्टरों की टीम ने पोस्टमार्टम किया, जिसकी वीडियोग्राफी भी की गई। मामले की न्यायिक जांच शुरू हो गई है।

दो एएसपी, चार सीएसपी और छह टीआई रहे तैनात
शवयात्रा शांति नगर में सन्नी के घर से मूसाखेड़ी चौराहे और यहां से तीन इमली चौराहा होते हुए मुक्तिधाम पहुंची। इस दौरान दो एएसपी मनोज कुमार राय, संपत उपाध्याय सहित चार सीएसपी और छह थानों के टीआई दलबल के साथ मौजूद रहे। आगे-आगे पुलिस अधिकारी, बीच में शवयात्रा और शवयात्रा के पीछे पुलिस की गाड़ियों का काफिला था।

रातभर सक्रिय रही पुलिस
घटना के बाद गुरुवार रातभर पुलिस सक्रिय रही। रात में पुलिस ने परिवार व आसपास के लोगों की काउंसलिंग की। शवयात्रा के पहले आजाद नगर टीआई विनोद दीक्षित परिवार से मिले। उन्होंने समझाया।

पीपल्याहाना पर ज्यादा परेशानी
पीपल्याहाना, मूसाखेड़ी, उद्योग नगर से आने-जाने वाले वाहन चालकों को भारी परेशानी हुई। एक तरफ का रोड पूरी तरफ से बंद कर दिया था। पीपल्याहाना से मूसाखेड़ी जाने का रास्ता बंद होने से वाहन चालकों को या तो बायपास की ओर या एमवाय के रास्ते पर डायवर्ट किया।

फोटो लेने से रोका
शुक्रवार सुबह परिवार एमवाय अस्पताल पहुंचा। मर्च्युरी में सन्नी की बहन उसका फोटो खींच रही थी। संयोगितागंज टीआई मंजू यादव ने उन्हें रोका। इस पर परिवार वाले गुस्सा हो गए।

पुलिस के दबाव में सन्नी को थाने छोड़ गए थे परिजन
कनाड़िया थाना क्षेत्र में 21 दिसंबर को जितेंद्र गोयल का शव मिला था। पुलिस ने निप्पी और रवि वर्मा को पकड़कर पूछताछ की, तो उन्होंने सन्नी का नाम भी बताया था। पुलिस ने दबाव बनाया तो परिवार वाले सन्नी को थाने छोड़कर गए थे। महिला हवालात में सन्नी ने कंबल फाड़कर तीन फीट ऊपर लगे नल से फांसी लगा ली थी। उसे मयूर अस्पताल ले गए, जहां मौत हो गई।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×