--Advertisement--

कंपोजिशन डीलर्स को डबल राहत, छोटे दुकानदारों को भी आटा, चावल पर जीएसटी नहीं लगेगा

अब बड़ी दुकानों की तरह छोटी दुकानों पर भी आटा, दाल, चावल, रवा और मैदा बेचने पर कोई टैक्स नहीं लगेगा।

Dainik Bhaskar

Jan 03, 2018, 07:34 AM IST
Gst not charge on small retailer

भोपाल/इंदौर. अब बड़ी दुकानों की तरह छोटी दुकानों पर भी आटा, दाल, चावल, रवा और मैदा बेचने पर कोई टैक्स नहीं लगेगा। इसी तरह छोटे रेस्त्रां पर भी लस्सी, मठा और दूध टैक्स मुक्त होगा। दरअसल, जीएसटी काउंसिल ने कंपोजिशन स्कीम से जुड़े 1 करोड़ रुपए तक के सालाना टर्नओवर वाले व्यापारियों को नए साल में यह राहत दी है। अब जीएसटी में टैक्स फ्री किए गए सभी सामान उनके यहां भी टैक्स फ्री ही बिकेंगे।

- इसके अलावा छोटी मैन्युफैक्चरिंग यूनिट में तैयार माल पैक करके बेचने पर एक फीसदी टैक्स लगेगा। अब तक यह दर दो फीसदी थी। ये अगर टैक्स मुक्त माल खुला बेचते हैं तो कोई टैक्स नहीं देना होगा। वरिष्ठ कर सलाहकार आरएस गोयल ने बताया कि यह दोनों फैसले नोटिफिकेशन होते ही लागू हो गए हैं। इससे कंपोजिशन स्कीम लेने वाले प्रदेश के 45 हजार से ज्यादा डीलर्स को लाभ होगा।


- स्कीम में और भी लोग शामिल होने के लिए आवेदन करेंगे। यह स्कीम एक करोड़ रुपए तक के सलाना टर्नओवर वाले डीलर्स के लिए है। अभी तक कंपोजिशन स्कीम का फायदा लेने वाले छोटे व्यापारियों और उद्यमियों के टर्नओवर में कर मुक्त वस्तुओं के टर्नओवर को भी शामिल कर लिया गया था इसलिए आटा, मैदा और चावल जैसी वस्तुएं टैक्स फ्री होने के बाद भी इनसे एक प्रतिशत टैक्स वसूला जा रहा था।

- वहीं छोटे रेस्त्रां में दूध, दही, मट्ठा पर भी टैक्स वसूला जा रहा था। 1 जनवरी-2018 के नोटिफिकेशन के अनुसार अब कंपोजीशन स्कीम से जुड़ने वाले व्यापारियों के टर्नओवर में टैक्स मुक्त वस्तुओं को शामिल नहीं किया जाएगा। यानी जीएसटी की लिस्ट में जो वस्तुएं टैक्स मुक्त हैं, वह कंपोजीशन में भी टैक्स मुक्त रहेंगी।

-सरकार ने छोटे टर्नओवर वालों को राहत देने के लिए यह कदम उठाया है। वे मजबूरन उन सभी वस्तुओं पर टैक्स वसूल रहे थे जो बड़ी दुकानों पर टैक्स मुक्त बिक रहा था। बेहतर होता अगर सरकार कंपोजीशन का लाभ ले रहे व्यापारियों के टर्नओवर की गणना में टैक्स मुक्त वस्तुओं के कुल व्यापार को बाहर रखती। इससे छोटे व्यापारियों को ज्यादा लाभ मिलता।

- एस कृष्णन, अध्यक्ष, टैक्स लॉ बार एसोसिएशन

X
Gst not charge on small retailer
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..