Hindi News »Madhya Pradesh »Indore »News» Helpline Issued After The Accident

बस हादसे के बाद जारी हुई हेल्पलाइन, 2 दिन, 111 शिकायतें, नशे में ड्राइविंग की सबसे ज्यादा

डीपीएस बस हादसे के बाद पुलिस द्वारा जारी की गई हेल्पलाइन (7049108080) पर अभिभावक खुलकर शिकायतें कर रहे हैं।

Bhaskar News | Last Modified - Jan 10, 2018, 06:35 AM IST

  • बस हादसे के बाद जारी हुई हेल्पलाइन,  2 दिन, 111 शिकायतें, नशे में ड्राइविंग की सबसे ज्यादा

    इंदौर .डीपीएस बस हादसे के बाद पुलिस द्वारा जारी की गई हेल्पलाइन (7049108080) पर अभिभावक खुलकर शिकायतें कर रहे हैं। दो दिन में 111 शिकायतें पहुंच चुकी हैं। शिकायत के आधार पर पुलिस अब कार्रवाई करेगी। एएसपी क्राइम ब्रांच अमरेंद्र सिंह चौहान ने बताया 18 शिकायतों में अभिभावकों ने स्कूल बस के ड्राइवरों के खिलाफ भांग, तंबाकू खाने, सिगरेट, गांजा और शराब पीकर गाड़ी चलाने की बात कही है। कुछ शिकायतों में तेज रफ्तार गाड़ी चलाने, ठीक से व्यवहार नहीं करने और बसों में बच्चों को ठूंस-ठूंसकर बोनट पर सीट तैयार कर बैठाने सहित 1 मिनट की देरी पर बच्चों को नहीं ले जाने की शिकायत भी की है।

    - कई ड्राइवर बस चलाने के दौरान मोबाइल पर बातें करते हैं। कुछ अभिभावकों ने शिकायत की कि कई ड्राइवर भांग, तंबाकू व अन्य नशीले पदार्थों का सेवन कर ड्यूटी करते हैं। प्रबंधन के पास उन्हें चेक करने की कोई व्यवस्था नहीं है। डीआईजी हरिनारायणाचारी मिश्र ने बताया सभी शिकायतों पर विशेष ढंग से कार्रवाई के लिए निर्देशित किया है। कई अभिभावकों ने स्कूल प्रबंधन के अड़ियल रवैये से परेशान होकर गोपनीय सूचना भी दी है।


    पुलिस ने नहीं लिया शिकायत आवेदन
    - धार रोड स्थित विद्यांजलि इंटरनेशनल स्कूल में पढ़ रही एक बच्ची के पिता मनु जैन ने बताया कि सोमवार को वे बच्ची को बस में बैठाने गए तो बस की हालत काफी खराब थी। बस में 32 से ज्यादा बच्चे बैठे थे, जबकि क्षमता 22 बच्चों की थी। वे थाने गए और स्कूल के खिलाफ शिकायत का आवेदन दिया। थाने पर आवेदन लेने से इनकार कर कह दिया कि आवेदन आरटीओ कार्यालय में दें।


    चारों बच्चों को आज शहर देगा श्रद्धांजलि
    - डीपीएस बस दुर्घटना में जान गंवाने वाले श्रुति, कृति, हरमीत और स्वस्तिक के परिवार की ओर से बुधवार शाम 7 से रात 9 बजे तक रीगल चौराहे पर सर्वधर्म प्रार्थना और श्रद्धांजलि सभा की जाएगी। इसमें शहरवासी भी श्रद्धासुमन अर्पित करेंगे।

    एसोसिएशन की मांग- सीबीएसई स्कूलों की 175 बसें, इन्हें मिले बीआरटीएस बस लेन में चलने की अनुमति

    - डीपीएस बस हादसे के बाद एसोसिएशन ऑफ अनएडेड सीबीएसई स्कूल्स ने कलेक्टर से बीआरटीएस की बस लेन में स्कूल बसों को प्रवेश देने की मांग की है। एसो. के अध्यक्ष अनिल धूपर ने कलेक्टर निशांत वरवड़े को पत्र लिखकर कहा है कि एसो. के तहत करीब 40 सीबीएसई स्कूल आते हैं, जिनकी करीब 175 बसें शहर में संचालित होती हैं। बच्चों की सुरक्षा और उनके आने-जाने में लगने वाले समय की बचत के लिए प्रशासन बीआरटीएस की बस लेन में स्कूली बसों को प्रवेश की अनुमति दे।

    ट्रांसपोर्टर्स बोले- प्रदेश में 15 साल पुराने कमर्शियल वाहन भी बैन हों

    - इंदौर ट्रक ऑपरेटर एंड ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने बसों की तरह ही प्रदेश में 15 साल पुराने कमर्शियल वाहनों पर भी प्रतिबंध की मांग की है। एसोसिएशन के अध्यक्ष राजेंद्रसिंह त्रेहान ने बताया डीपीएस की घटना के बाद सीएम ने जिस तरह से 15 साल पुरानी स्कूल बसों के संचालन पर रोक की बात कही है, यह सराहनीय है, लेकिन प्रदेश में 15 साल पुराने कमर्शियल वाहनों पर भी रोक लगाई जाना चाहिए, क्योंकि कमर्शियल वाहनों का संचालन निजी वाहनों की अपेक्षा ज्यादा होता है। ऐसे में 15 साल तक उनकी हालत बहुत जर्जर हो जाती है। छत्तीसगढ़ में यह नियम पहले से लागू है।

    खुलासा- गवर्नर लगाने के 14 सर्टिफिकेट वेबसाइट पर अपलोड

    - लसूड़िया टीआई राजेंद्र सोनी ने बताया चैतन्य कुमावत, नीरज अग्निहोत्री और कर्मचारी जलज मेशराम को 10 जनवरी को कोर्ट में पेश करेंगे। नीरज के ऑफिस से जब्त कम्प्यूटर की जांच में एक लॉगिन आईडी और पासवर्ड मिला है। जीडब्ल्यू एल-प्रज्ञा के नाम से मिले इस लॉगिन आईडी को जब आरोपी से खुलवाया तो उसमें स्पीड गवर्नर कंपनी रोजमार्टा द्वारा इन्हें जारी किए गए स्पीड गवर्नर डिवाइस लगाने के 24 सर्टिफिकेट की जानकारी मिली। इनमें से 14 सर्टिफिकेट आरोपियों ने परिवहन विभाग की वेबसाइट पर भी अपलोड कर दिए हैं। पुलिस रोजमार्टा कंपनी को भी नोटिस जारी करेगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Indore News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Helpline Issued After The Accident
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×