--Advertisement--

चौत्र नवरात्रि से पहले बिजासन माता मंदिर से हटाए गए पुजारियों के मकान, 12 दुकानें भी हटाई

प्रशासन की योजना इस मंदिर को खजराना और रणजीत हनुमान मंदिर की तरह संवारने की है।

Danik Bhaskar | Mar 13, 2018, 02:12 PM IST

इंदौर। चैत्र नवरात्रि प्रारंभ होने से पहले मंगलवार को शहर के बिजासन माता मंदीर परिसर से पुजारियों के मकान और दुकानें हटाने की कार्रवाई प्रारंभ की गई। प्रशासन द्वारा बिजासन माता मंदीर को भव्य व सुंदर स्वरूप देने के लिए उक्त कार्रवाई की जा रही है। प्रशासन की योजना इस मंदिर को खजराना और रणजीत हनुमान मंदिर की तरह संवारने की है। मंगलवार को कार्रवाई करने पहुंची नगर निगम की टीम का मंदिर के पुजारियों द्वारा विरोध भी किया गया।

- शहर के पश्चिम क्षेत्र में बिजासन माता मंदिर सबसे बड़ा धार्मिक स्थल है। इस मंदिर के विकास का बीड़ा प्रशासन और नगर निगम ने उठाया है। इसके तहत मंदिर परिसर में बने पुजारियों के 12 मकानों को हटाया जा रहा है।

- बिजासन माता मंदिर परिसर में बने पुजारियों के 12 मकानों में से नौ को पहले ही शिफ्ट किया जा चुका है। लेकिन तीन पुजारी मंदिर परिसर से हटने को तैयार नहीं थे। इस पर नगर निगम ने मंगलवार को तीन पुजारियों अशोक पिता गुलबवन, गणेश वन और कार्तिक वन के मकान हटाने के लिए अमले सहित पहुंचा था।

- जेसीबी, पाकलेन, डम्पर आदि के साथ निगम की टीम जब पुजारियों के मकान हटाने पहुंची तो पुजारियों ने निगम की कार्रवाई का विरोध प्रारंभ कर दिया। हालांकि निगम अधिकारियों ने विरोध कर रहे पुजारियों को साफ-साफ कह दिया की मकान को यहां से शिफ्ट करना ही होगा। इसके बाद पुजारियों ने खुद ही अपने-अपने घरों से सामान निकालना प्रारंभ कर दिया।

- पुजारियों के तीन मकान हटाने के साथ ही निगम की टीम ने मंदिर परिसर में बनी लगभग एक दर्जन गुमटियों और अस्थाई दुकानों को भी हटाने की कार्रवाई प्रारंभ कर दी है।