--Advertisement--

इंदौर होटल हादसा : मृतकों को दो लाख और घायलों को 50 हजार रुपए की सहायता, दो घायलों की हालत गंभीर

घटनास्थल से मलबा रविवार सुबह पूरी तरह से हटा लिया गया।

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 11:51 AM IST
रविवार सुबह तक होटल का मलबा हटा लिया गया। रविवार सुबह तक होटल का मलबा हटा लिया गया।

- यह हादसा इंदौर के इतिहास का सबसे भयावह हादसा, 10 की मौत

- साल 1991 में अनूप नगर में निर्माणाधीन अनंतश्री बिल्डिंग गिर गई थी जिसमें 9 लोग मारे गए थे।

- हादसे के 17 घंटे बाद तक होटल मालिक शंकर परवानी पुलिस की पकड़ से बाहर है।

- नगर निगम के अफसर भी कठघरे में क्योंकि यहां कच्ची इमारत के ऊपर तान दी गई थी दो पक्की मंजिलें।


इंदौर। शनिवार रात भर-भराकर ढहे सरवटे बस स्टैंड स्थित चार मंजिला एमएस होटल हादसे में रविवार सुबह तक लोग अपनों की तलाश करते रहे। हादसे में मारे गए मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपए और घायल लोगों को 50-50 हजार रुपए की आर्थिक सहायता देने की घाषणा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने की है। दूसरी ओर हादसे के बाद शनिवार की रातभर घटनास्थल पर बचाव कार्य और मलबा हटाने का काम किया जाता रहा। मलबे में दबे सभी लोगों को निकालकर उपचार के लिए एमवाय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटनास्थल से मलबा हटा लिया गया है।

मजिस्ट्रियल जांच के आदेश
कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी श्निशांत वरवड़े ने सरवटे बस स्टैंड क्षेत्र में भवन गिरने के हादसे की मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए हैं। यह जांच अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी (पूर्व क्षेत्र) द्वारा की जाएगी।
- इसके अलावा निगमायुक्त ने भी एक कमेटी बनाई है जो भवन गिरने की जांच करेगी। इस कमेटी में अपर आयुक्त, मुख्य नगर निवेशक विष्णु खरे, सिटी इंजीनियर अशोक राठौर, कार्यपालन यंत्री ओपी गोयल शामिल है। यह कमेटी इस बात की जांच करेगी कि भवन के अंदर किस तरह का निर्माण कार्य किया जा रहा था और उसके गिरने का क्या कारण रहा। इसके अलावा होटल की जमीन के मालिकाना और किराएदारी हक की भी जांच की जाएगी।

शिनाख्त के प्रयास
एडीएम अजय देव शर्मा ने बताया कि शनिवार रात इंदौर बस स्टैंड पर बिल्डिंग गिरने की दुर्घटना में अभी तक 10 लोग मृत है। घायलो का इलाज एमवाय अस्पताल में चल रहा है। मृतकों में 4 की शिनाख्त हुई है, बाकी के शिनाख्शत के लिए प्रयास जारी है।

सीएम के कार्यक्रम में इंदौर का सिन्धी समाज नहीं होगा शामिल
इंदौर के सरवटे बस स्टैंड पर एमएस होटल के धराशायी होने और हादसे में 10 व्यक्तियों की दुःखद मृत्यु होने के कारण इंदौर के सिन्धी समाज ने रविवार को भोपाल में मुख्यमंत्री निवास में आयोजित चेटीचंड के कार्यक्रम में सम्मिलित नहीं होने का निर्णय लिया है। सिन्धी समाज इंदौर के पदाधिकारियों ने इस संबंध में सीएम ऑफिस को सूचना दे दी है।

हादसे के बाद जागा निगम, पास की बिल्डिंग भी गिराई

एमएस होटल के गिरने के बाद प्रशासन और नगर निगम की नींद खुली और रविवार को इस होटल से लगी हुई एक अन्य बिल्डिंग को जेसीबी की मदद से ढहा दिया गया। निगम अधिकारियों का कहना है क एमएस होटल से लगी हुई बिल्डिंग भी जर्जर हालत में थी। वहीं शनिवार को होटल गिरने से पास वाले भवन के गिरने का खतरा बढ़ गया था इस कारण उसे गिरा दिया गया।

रेस्क्यू में दिखी अनुभव की कमी
हादसे के बाद बचाव कार्य कर रहे सरकारी अमले में अनुभव की कमी नजर आई। मलबा हटाने का काम इंदौर नगर निगम की टीम कर रही थी, लेकिन उनके पास इस तरह के हादसे से निपटने का कोई अनुभव नहीं था। मलबा हटाने से पहले वहां दबे लोगों की तलाश करना थी लेकिन ऐसा नहीं किया गया। भोपाल से एनडीआरएफ की टीम देर रात घटनास्थल पर पहुंची, लेकिन तब तक निगम की टीम ने काफी मलबा एकत्र कर लिया था।


एटीएम को सुरक्षित निकाला
शनिवार रात तो बिल्डिंग गिरी थी वहां एक बैंक का एटीएम बूथ भी था। हादसे के बाद एटीएम मशीन भी मलबे में दब गई थी। बचाव कार्य में जुटी टीम ने देर रात मलबे से एटीएम मशीन को निकालकर उसे सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया।

20 सेकंट में ढह गई थी होटल
सरवटे बस स्टैंड के पास शनिवार रात चार मंजिला एमएस होटल 20 सेकंड में भर-भराकर ढह गया था। इस हादसे में मलबे में दबने से होटल मैनेजर सहित 10 लोगों की मौत हो गई, जबकि दो घायल हो गए।

- बिल्डिंग धराशायी होते ही पांच मिनट तक पूरे क्षेत्र में धूल का गुबार फैल गया। वहां की लगभग सारी दुकानें, होटल और रेस्त्रां बंद कर लोग मदद में जुट गए थे। अंधेरा होने की वजह से लोगों ने मोबाइल की टाॅर्च जलाकर घायलों को निकालने में मदद की। घटना के आधे घंटे बाद जेसीबी आई, तब मलबा हटाना शुरू किया गया।

- हादसे में जान गंवाने वाले होटल के मैनेजर हरीश सोनी की बेटी किरण ने कहा कि 8 दिन पहले होटल की छत भी गिरी थी। इसके बारे में पापा ने बता दिया था, लेकिन होटल मालिक ने ध्यान नहीं दिया।

रातभर चलता रहा मलबा हटाने का काम। रातभर चलता रहा मलबा हटाने का काम।
रविवार को एमएस होटल से लगी हुई बिल्डिंग को प्रशासन ने गिरा दिया। रविवार को एमएस होटल से लगी हुई बिल्डिंग को प्रशासन ने गिरा दिया।
रविवार को घटनास्थल पर लगा रहा लोगो का हुजूम रविवार को घटनास्थल पर लगा रहा लोगो का हुजूम
ईंट-गर्डर से बनी 80 साल पुरानी जर्जर बिल्डिंग जिसमें एमएस होटल संचालित की जा रही थी , यहां पर दो मंजिलें और तान दी गई थी। ईंट-गर्डर से बनी 80 साल पुरानी जर्जर बिल्डिंग जिसमें एमएस होटल संचालित की जा रही थी , यहां पर दो मंजिलें और तान दी गई थी।
ढही होटल में 18 कमरे थे। ढही होटल में 18 कमरे थे।
बचाव कार्य में जुटे रहे अधिकारी। बचाव कार्य में जुटे रहे अधिकारी।
तेज धमाके के साथा भर-भराकर गिर गई थी इमारत। तेज धमाके के साथा भर-भराकर गिर गई थी इमारत।
बिल्डिंग इतनी तेजी से गिरी की किसी को बचने का मौका नहीं मिला। बिल्डिंग इतनी तेजी से गिरी की किसी को बचने का मौका नहीं मिला।