इंदौर

--Advertisement--

जैन मुनि ने तैयार किया ऐसा ग्रंथ, जिसका वजन है 30 किलो

विशुद्धसागर जी की पुस्तकों को तीन ग्रंथ में संजोया, 3300 पेज की किताबों का वजन 30 किलो तक।

Danik Bhaskar

Dec 17, 2017, 07:42 AM IST

इंदौर। आचार्य विशुद्धसागर महाराज द्वारा 15 साल में लिखी गई पुस्तकों के संकलन को डेढ़ महीने में एक कर तीन ग्रंथ तैयार किए हैं। इनमें 1253 से 3300 पेज तक की तीन किताबें शहर में तैयार की गईं। इनका वजन 10 से 30 किलो है। एक ग्रंथ महाराजश्री को पहुंचा दिया गया है।

लिम्का बुक रिकॉर्ड के लिए की गई तैयारी

- दो और ग्रंथ कुंठलपुर (महाराष्ट्र) के लिए शनिवार को रवाना किए गए। यह लिम्का बुक और गोल्डन बुक रिकॉर्ड के लिए तैयार की गई है। जैन समाज से जुड़े लोगों का दावा है कि यह तीनों ग्रंथ सबसे वजनी और ज्यादा पेज के हैं। तीनों ग्रंथ को राजेश जैन ने तैयार किया है।

Click to listen..