Hindi News »Madhya Pradesh »Indore »News» Japan Will Open Incubation Center Next Year In Indore

कंसल्टेंट सिन्हा बोले, इंदौर में अगले साल इन्क्यूबेशन सेंटर खोलेगा जापान

जापान इंदौर की एक कंपनी के साथ मिलकर यहां आईटी पार्क में इन्क्यूबेशन सेंटर शुरू करेगा।

Bhaskar News | Last Modified - Dec 14, 2017, 06:49 AM IST

कंसल्टेंट सिन्हा बोले,  इंदौर में अगले साल इन्क्यूबेशन सेंटर खोलेगा जापान

इंदौर .जापान इंदौर की एक कंपनी के साथ मिलकर यहां आईटी पार्क में इन्क्यूबेशन सेंटर शुरू करेगा। इसके लिए एमओयू भी साइन हो चुका है। संभावना है कि 2018 में यह शुरू हो जाएगा। युवाओं को स्टार्टअप से जुड़ी जानकारी देने और हर स्तर पर हेल्प के लिए यह सेंटर काम करेगा। यह कहना है भारत में बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट के लिए जापान सरकार के कंसल्टेंट भारतीय मूल के संजीव सिन्हा का। संजीव सिन्हा बुधवार को इंदौर में थे। भास्कर से खास बातचीत में उन्होंने कहा कि दुनिया में चीन के बढ़ते वर्चस्व और मनमाने रवैये को कम करने के लिए भारत और जापान साथ आए हैं। न केवल बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट बल्कि कई अन्य बड़े प्रोजेक्ट भी दोनों देश मिलकर पूरे करेंगे।

फाइनेंस संबंधी मसला पूरा, 2022 तक पूरा होना है बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट

- बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट की फाइनेंस से संबंधित सारी प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। 2022 तक इस प्रोजेक्ट को पूरा किया जाना है। चायना हर मामले में तेजी से आगे बढ़ रहा है। उसके तेवर आक्रामक हैं।

- इस आक्रामकता को कम करना जरूरी है। यह चिंता जापान की भी है। डोकलाम में हाल में हुए विवाद के बाद ही भारत ने तय किया है कि दिल्ली-चेन्नई हाई स्पीड रेल प्रोजेक्ट का काम चीन की कंपनी की बजाय जापान को दिया जाए। जापान के संसाधन, तकनीक और पैसों का उपयोग भारत में करना कूटनीतिक स्तर पर दोनों देशों के लिए फायदेमंद है।

प्रोजेक्ट के लिए 15 साल तक नहीं लौटाना होगा पैसा

प्रभाव : रिश्ते मजबूत होंगे
- जापान के प्रधानमंत्री शिंजो अाबे भारत और यहां के लोगों को बहुत पसंद करते हैं। भारत से मजबूत रिश्ते और व्यापार उनकी प्राथमिकता में है। बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट के बाद दोनों देशों के बीच रिश्तों की डोर और मजबूत होगी। जापान अपनी आधुनिक तकनीक और भारत की अपार संभावनाओं को साथ जोड़कर आगे बढ़ना चाहता है।

फायदा : 50 साल में लौटाना है पैसा
- बुलेट ट्रेन के लिए जापान से मिला 1 लाख करोड़ का लोन घाटे का सौदा नहीं है, क्योंकि भारत को 15 साल तक एक पैसा वापस नहीं लौटाना है। िफर 50 साल में सारा पैसा लौटाया जाना है। इससे भारत को आर्थिक मजबूती मिलेगी।

असर : भारतीयों के लिए काफी संभावनाएं हैं मौजूद
- जापान में 30 हजार भारतीय रह रहे हैं। भारतीयों के लिए जापान सुविधाजनक व संभावनाओं से भरपूर देश है। बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट के औपचारिक तौर पर शुरू होने के बाद जापान के प्रति भारतीयों का भरोसा बढ़ेगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×