--Advertisement--

डकैतों ने बेटी को मारने की धमकी देकर मां से उतरवाए गहने, पिता का किया ये हाल

24 घंटे में चौथी डकैती | खुड़ैल में तीन वारदात के बाद राऊ की श्रीकृष्ण पैराडाइज कॉलोनी में घुसे बदमाश

Danik Bhaskar | Jan 25, 2018, 06:26 AM IST
मां से उतरवाए जेवर, व्यापारी पिता को पीटा मां से उतरवाए जेवर, व्यापारी पिता को पीटा

इंदौर. 24 घंटे के अंदर खुड़ैल में तीन डकैती के बाद मंगलवार देर रात राऊ में चौथी डकैती हो गई। श्रीकृष्ण पैराडाइज कॉलोनी में रात करीब डेढ़ बजे हार्डवेयर कारोबारी किशोर पिता रविशंकर अग्रवाल (40) के यहां घर का मेन गेट का ताला तोड़कर पांच बदमाश हथियारों के साथ घुसे। पहले नीचे के कमरे में 5 साल की बेटी के साथ सो रही व्यापारी की पत्नी शिखा को कमरे में बंधक बनाया। बेटी आरोही को मारने की धमकी देकर करीब दो लाख के गहने उतरवाए।

ऊपर की मंजिल पर सो रहे पति किशोर जागे तो उन्हें चाकू मारे और लठ से जमकर पीटा। ऊपर से घसीटते हुए नीचे लेकर आए। जब वह चीखने लगे तो बदमाश भाग गए। बाद में किशोर ने घर की छत पर खड़े होकर चिल्लाना शुरू किया तो कॉलोनी के लोग जागे। उन्होंने रात 2.45 बजे राऊ पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची राऊ थाना पुलिस ने घटना के बाद इलाके में नाकेबंदी करवाई लेकिन बदमाश हाथ नहीं आए। पुलिस को व्यापारी के घर के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे में बदमाशों के घुसने और बाहर निकलकर भागने के फुटेज हाथ लगे हैं। इसी आधार पर पुलिस उनकी तलाश कर रही है।

बदमाशों के घुसने सेे पांच मिनट पहले ही पुलिस की गाड़ी निकली थी
किशोर ने बताया कि बदमाशों के घुसने के पांच मिनट पहले ही पुलिस की गाड़ी निकली थी। कुछ देर बाद पत्नी की आवाज आई तो वे चढ़ाव से नीचे उतर रहे थे तभी दो बदमाश चाकू, पेचकस और लठ लेकर मेरी ओर आए। चढ़ाव पर ही हमला कर गिरा दिया। मैं चिल्लाने लगा तो मुझे मारते हुए नीचे घसीट लाए। शोर मचाया तो वे भाग गए। घायल हालत में ही छत पर गया और कॉलोनी वालों को मदद के लिए चिल्लाया तो कई लोग घरों से बाहर आए। फिर कुछ लोगों ने पुलिस को कंट्रोल रूम पर फोन किए तो पुलिस भी पहुंच गई।

शिखा ने भास्कर को बताया कि रात डेढ़ बजे पति ऊपर के कमरे में थे। मैंने अपने कमरे का दरवाजा नहीं लगाया था। बदमाश मेन गेट से घुसे और सीधे कमरे में आ गए। पलंग के चारों ओर खड़े हो गए। एक बदमाश अलमारी व ड्रॉज खोलकर माल खोजने लगा। आंख खुली तो चार बदमाशों को देखकर मैं चीख पड़ी। एक बदमाश ने चुप रहने का बोल चाकू निकाला और बेटी को मारने की धमकी दी। मैंने सीने से लगा लिया तो एक बदमाश ने कंबल से मेरा मुंह दबाया। दूसरा बोला जेवर उतारकर दे दो। मैंने सोने के टॉप्स, मंगलसूत्र और तीन सोने की चूड़ियां दे दी। पति की आवाज आई तो दो बदमाश ऊपर गए और उन्हें पीटने लगे।

गेट नहीं खुला तो बदमाशों ने छैनी से छेदकर उसका लॉक ही निकाल दिया
पांच से ज्यादा बदमाशों के बाद भी पुलिस ने डकैती का केस दर्ज करने के बजाय लूट का केस दर्ज किया। धारा 452 और 394 ही लगाई। डीआईजी हरिनारायणाचारी मिश्र का कहना है कि फुटेज में यदि बदमाशों की संख्या ज्यादा दिख रही है तो डकैती का केस दर्ज किया जाएगा।

फुटेज में दिखे 5 बदमाश, केस लूट का दर्ज फुटेज में दिखे 5 बदमाश, केस लूट का दर्ज
बदमाशों के घुसने सेे पांच मिनट पहले ही पुलिस की गाड़ी निकली थी। बदमाशों के घुसने सेे पांच मिनट पहले ही पुलिस की गाड़ी निकली थी।