इंदौर

--Advertisement--

जज ने कहा था- मूछ सच्चाई का प्रतीक रख लो, अब ~1000 महीने खर्च कर कर रहे मैंटेन

मप्र सशस्त्र पुलिस के जवान नागेंद्र पांडे, थाना नागदा। बैच नंबर- 746, हाल मुकाम सतना।

Danik Bhaskar

Jan 15, 2018, 07:48 AM IST

नागदा (इंदौर). मप्र सशस्त्र पुलिस के जवान नागेंद्र पांडे, थाना नागदा। बैच नंबर- 746, हाल मुकाम सतना। वर्तमान में नागेंद्र विहिप नेता भेरूलाल टांक के गनमैन हैं। कंधे पर राइफल टांग मूछों पर ताव देते नागेंद्र जब विहिप नेता के साथ निकलते हैं तो राह चलते लोगों की नजर इनकी मूछों पर टिक जाती है। शहर के दोनों थानों के 65 पुलिसकर्मियों में इकलौते नागेंद्र ही ऐसे हैं, जिनकी मूछ ऐसी है।


- खास बात यह कि अपनी मूछ का रौब बरकरार रखने के लिए इसके मैंटेनेंस पर नागेंद्र हर महीने 1 हजार रुपए खर्च करते हैं। मूछ का राज एक आयुर्वेदिक तेल है। यह तेल सतना में मिलता है।

- जिसकी कीमत 1 हजार रुपए है। घर से निकलने से पहले नागेंद्र रोज यह तेल लगाते हैं जिससे उनकी मूछे हमेशा ऐसी रहती है। नागेंद्र के अनुसार 9 महीने पहले बड़वानी से नागदा तबादला होने के बाद उन्होंने मूछ रखना शुरू किया।

मजिस्ट्रेट ने सिखाया मूछ रखना
- भास्कर से चर्चा में नागेंद्र ने बताया 2014 में वे बड़वानी में मजिस्ट्रेट शर्मा के गनमैन थे, तब उन्होंने नागेंद्र को सीख दी थी... कहते थे बेटा... मूछ मर्द की शान तो है ही सच्चाई का प्रतीक भी है।

- इसलिए मूछ रखो... क्योंकि जीवन में सच से बढ़कर कुछ नहीं। तभी से नागेंद्र ने ठान लिया कि वे मूछ रखेंगे और हमेशा सच का साथ देंगे। बता दें कि बड़वानी के बाद नागेंद्र इंदौर में 15वीं विशेष सशस्त्र वाहिनी व इसके बाद महिदपुर में बी-कंपनी में पदस्थ रह चुके हैं। इसके बाद अब नागदा में है।

अब गलत व्यक्ति नजरें नहीं मिलता

- नागेंद्र के अनुसार मूछे रखने के बाद मुझे इसकी महत्ता पता चली। मेरी ऐसी मूछे देखकर अब कोई भी गलत व्यक्ति मुझसे नजरें नहीं मिलाता, क्योंकि यह सच्चाई का प्रतीक है। कभी-कभी मजिस्ट्रेट साहब की वह बात भी याद आती है, तब अच्छा भी लगता है। इसलिए मूछे काटने का सवाल ही नहीं।

Click to listen..