--Advertisement--

दोस्त से फोन पर कहा था कि जीप से आ रहा हूं, फिर इस हालत में मिली लाश

रतलाम से बदनावर अपडाउन करने वाले एक प्राइवेट फाइनेंस कंपनी के मैनेजप की गला घोंट कर हत्या कर दी गई।

Dainik Bhaskar

Dec 14, 2017, 04:33 AM IST
झाड़ियों के पास पड़ा मिला शव। झाड़ियों के पास पड़ा मिला शव।

धार(इंदौर). रतलाम से बदनावर अपडाउन करने वाले एक प्राइवेट फाइनेंस कंपनी के मैनेजर की गला घोंट कर हत्या कर दी गई। बुधवार दोपहर उसकी लाश बदनावर में पेटलावद रोड पर मॉडल स्कूल के सामने सड़क किनारे झाड़ियों में मिला। मंगलवार रात को रतलाम नहीं पहुंचने पर परिवार वालों ने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई थी, पुलिस ने मोबाइल लोकेशन निकाली। इस आधार पर पुलिस और परिवार के लोग खोजबीन कर रहे थे। पोस्टमार्टम में मौत की वजह गला घोंटना बताया गया है। मौके के पास सड़क पर खून के निशान भी मिले। क्या है मामला...

- जानकारी के मुताबिक, रोज रतलाम से बदनावर अपडाउन करने वाले राहुल बैरागी गला घोंट कर हत्या कर दी गई। जिसके बाद उनका शव झाड़ियों में पड़ा मिला। प्राथमिक जांच में अंदेशा है कि लाश को यहां लाकर फेंका गया है।

- बैरागी ने मंगलवार शाम 6.30 बजे मोबाइल कॉल कर दोस्त राहुल जैन को बस नहीं मिलने से जीप से आने की सूचना दी थी लेकिन 8.20 बजे बदनावर में बड़ी चौपाटी पर एक होटल पर सामान खरीदते उसकी तस्वीर सीसीटीवी में आई है।
- बुधवार को रतलाम जाने वाले रोड से उलटी दिशा में पेटलावद रोड पर उसकी लाश मिली। देर रात तक हत्या के रहस्य से परदा नहीं उठ पाया।

प्राइवेट कंपनी में 7 का स्टाफ, बुधवार को लगा रहा ताला

- ऑफिस में 7 लोग है। 2008 से बदनावर में चल रहे इस ऑफिस पर बुधवार को ताला लगा था।

- मृतक के पिता महेंद्रकुमार जिला आयुष कार्यालय रतलाम में मुख्य लिपिक हैं। राहुल की दो साल पहले पूजा से शादी हुई थी। छह महीने की बेटी है।

- परिवार वालों ने फाइनेंस कंपनी के लोगों पर हत्या का आरोप लगाया है। नकद राशि लेकर रतलाम जाने के कारण उन्हें लूट की नियत से हत्या की शंका है। हालांकि मंगलवार को उनके पास नकद राशि नहीं थी।

सीसीटीवी कैमरे में दिखे ईयरफोन, जूते, जैकेट, चश्मा... सब गायब

- बड़ी चौपाटी पर बैजनाथ रेस्टोरेंट पर सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई तस्वीर में बैरागी के कानों में सफेद रंग के ईयर फोन लगे थे।

- रेस्टोरेंट से सामान लेते वक्त किसी प्रकार की हड़बड़ाहट नहीं दिखी। साथ में अन्य कोई व्यक्ति नहीं दिखा।

- आंखों पर चश्मा था, ब्लू रंग की जैकेट पहनी हुई थी। लाश मिली तो न ईयर फोन मिले न मोबाइल, न जूते, न जैकेट, न चश्मा।

भाई बोला- मां से हुई बात, ऑफिस वालों ने फोन नहीं उठाया
- राहुल के बड़े भाई योगेश बैरागी ने बताया मंगलवार शाम राहुल ऑफिस से रतलाम आने के लिए निकला था। मोबाइल पर मां से उसकी बात हुई। तनाव जैसी कोई बात नहीं बताई। बाद में दोस्त राहुल जैन को काॅल कर बताया बस के इंतजार में खड़ा था।

- अब जीप से आ रहा हूं लेकिन देर रात तक नहीं पहुंचा तो तलाश शुरू की। मोबाइल बंद आने पर ऑफिस वालों को फोन लगाया लेकिन किसी ने नहीं उठाया। परेशान होकर रतलाम में रिपोर्ट दर्ज करवाई।

- इधर बदनावर थाने के प्रभारी टीआई का कहना है कि हत्या की ही आशंका है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर जांच शुरू करेंगे।-

ये सवाल बरकरार....

सवाल : बिलपांक तक आकर लौटा क्यों, कानवन के समीप मोबाइल स्विच ऑफ

बैरागी बेल स्टार फाइनेंस कंपनी में मैनेजर था। परिजन ने बताया रोज की तरह मंगलवार को सुबह 8.30 बजे वह घर से निकला था। शाम को नहीं पहुंचा तो फोन लगाया लेकिन मोबाइल बंद था। रतलाम में पुलिस को सूचना दी।

- खोजबीन के लिए बदनावर आए और पुलिस से संपर्क किया। पुलिस को टॉवर लोकेशन से पता लगा कि वह मंगलवार शाम बदनावर से बिलपांक तक आया था, वहां से लौट गया। बाद में कानवन के पास पहुंचकर मोबाइल स्विच ऑफ हो गया।

- साइबर सेल ने मोबाइल की लोकेशन ट्रेस करने का प्रयास किया तो रात में बखतगढ़ रोड पर मांगलिया के आसपास लोकेशन आई। इसी आधार पर परिजन व पुलिस तलाश कर रहे थे। बुधवार दोपहर में पेटलावद रोड पर लाश होने सूचना पर पुलिस पहुंची। परिजन को बुलाया तो उन्होंने शव बैरागी का ही होना बताया।


यहां भी उलझन : हाथ पर पैन से लिखा चीराखान, तहसील में इस नाम के दो गांव

- मृतक के शरीर पर चोटों के निशान पाए है। पहने कपड़े भी फटे थे। दो मोबाइल थे, एक भी नहीं मिला।

- मृतक के बाएं हाथ के पंजे पर पैन से चीराखान लिखा था। चिराखान के नाम से बदनावर तहसील में दो गांव हैं।

राहुल बैरागी एक प्राइवेट कंपनी में मैनेजर थे। राहुल बैरागी एक प्राइवेट कंपनी में मैनेजर थे।
पुलिस ने मोबाइल से लोकेशन निकाली। पुलिस ने मोबाइल से लोकेशन निकाली।
राहुल बैरागी राहुल बैरागी
X
झाड़ियों के पास पड़ा मिला शव।झाड़ियों के पास पड़ा मिला शव।
राहुल बैरागी एक प्राइवेट कंपनी में मैनेजर थे।राहुल बैरागी एक प्राइवेट कंपनी में मैनेजर थे।
पुलिस ने मोबाइल से लोकेशन निकाली।पुलिस ने मोबाइल से लोकेशन निकाली।
राहुल बैरागीराहुल बैरागी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..