--Advertisement--

संघ के सर सह कार्यवाहक बोले: MP के कई गांवों में आज भी दलितों को मंदिर नहीं जाने देते

मप्र के गांवों में आज भी इन वर्ग के हिंदुओं को मंदिरों में नहीं जाने दिया जाता।

Danik Bhaskar | Jan 19, 2018, 05:54 AM IST

शाजापुर (इंदौर). आरएसएस के अखिल भारतीय सर सह कार्यवाहक वी. भागैया ने मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान की मौजूदगी में गुरुवार को अनुसूचित जाति-जनजाति वर्ग के लोगों के साथ मध्यप्रदेश में होने वाले भेदभाव का मामला उठाया। उन्होंने कहा कि मप्र के गांवों में आज भी इन वर्ग के हिंदुओं को मंदिरों में नहीं जाने दिया जाता। श्मशान के मामले में भी ऐसा ही भेदभाव है।

- समाज में जब तक इस तरह का भेदभाव खत्म नहीं होगा, तब तक सारी बातें खोखली हैं। भागैया की इस बात को बाद में मुख्यमंत्री ने भी माना। बुधवार को शासकीय उत्कृष्ट स्कूल मैदान में आयोजित एकात्म यात्रा के दौरान जनसंवाद में यह चर्चा हुई।

- मुख्यमंत्री ने कहा कि एकात्म यात्रा के माध्यम से मप्र की धरती से जगत के कल्याण का मार्ग प्रशस्त हो रहा है। यह यात्रा भेदभाव मिटाकर सामाजिक समरसता का भाव जागृत कर रही है। आदिगुरु शंकराचार्य का अद्वैत वाद, अद्वैत दर्शन समाज से भेदभाव मिटा सकता है। समाज को एकजुट कर सामाजिक समरसता का मूलमंत्र देने वाला भी अद्वैत वाद है।