--Advertisement--

रुपए की कमी के चलते बच्चों को दी ट्यूशन, मां ने गहने गिरवी रख बनाया तहसीलदार

पब्लिक सर्विस कमीशन एग्जाम 2016 में एक किसान के बेटे तहसीलदार बने हैं।

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2017, 04:41 AM IST
mother has mortgaged her jewelery made Tahsildar

खरगोन (इंदौर). पब्लिक सर्विस कमीशन एग्जाम 2016 में एक किसान के बेटे तहसीलदार बने हैं। उन्हें फिलहाल शाजापुर के मक्सी में पोस्टिंग दी गई है। आर्थिक तंगी को उन्होंने होम ट्यूटिंग करके दूर किया और सफलता पाई। पढाई के लिए मां ने जेवर रखे गिरवी...

- माता-पिता ने बेटे की पढ़ाई रिश्तेदारों से मदद ली। उनकी मां नानीबाई ने गहने भी गिरवी रखे।

- फैमिली अभी भी कच्चे मकान में रहते हैं। वे बताते हैं अजय अहिरवाल 2008 में गांव में हाईस्कूल 87 प्रतिशत अंकों से पास की।

- 12वीं की परीक्षा बमनाला व खरगोन कॉलेज से बीएससी की। इंदौर के होलकर कॉलेज में गणित से एमएससी की।

- छात्र गृह योजना में 44 हजार की सरकारी मदद मिली। अब अजय का कहना है परिवार का संघर्ष जानता हूं। गरीबों की मदद करूंगा।

mother has mortgaged her jewelery made Tahsildar
mother has mortgaged her jewelery made Tahsildar
X
mother has mortgaged her jewelery made Tahsildar
mother has mortgaged her jewelery made Tahsildar
mother has mortgaged her jewelery made Tahsildar
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..