--Advertisement--

नम्रता हत्याकांड: CBI की क्लोजर रिपोर्ट से सहमत नहीं पिता, 18 को कोर्ट में रखेंगे पक्ष

18 जनवरी को सीबीआई कोर्ट में अपना पक्ष रखेंगे। व्यापमं से जुड़ी मौतों में सबसे रहस्यमय मौत नम्रता की ही थी।

Danik Bhaskar | Jan 09, 2018, 07:08 AM IST

झाबुआ (इंदौर). मेघनगर के रहने वाले एवं इंदौर के एमजीएम मेडिकल कॉलेज की छात्रा नम्रता डामोर की रहस्यमयी मौत के मामले में ढाई साल की जांच के बाद सीबीआई द्वारा इंदौर में सीबीआई की स्पेशल कोर्ट में क्लोजर रिपोर्ट प्रस्तुत किए जाने से उसके पिता मेहताबासिंह बिलकुल भी संतुष्ट नहीं हैं। वे अब 18 जनवरी को सीबीआई कोर्ट में अपना पक्ष रखेंगे। व्यापमं से जुड़ी मौतों में सबसे रहस्यमय मौत नम्रता की ही थी।

- इसमें पहले पुलिस ने और बाद में सीबीआई ने हत्या का मामला दर्ज किया था। ढाई साल तक जांच के बाद सीबीआई ने 30 दिसंबर को इंदौर में सीबीआई की स्पेशल कोर्ट में क्लोजर रिपोर्ट पेश कर दी।

- जिसमें उन्होंने फॉरेंसिक रिपोर्ट और मेडिको लीगल एक्सपर्ट की रिपोर्ट के हवाले से यह बताया है कि नम्रता की हत्या के सबूत नहीं मिले हैं। जब इसकी जानकारी नम्रता के पिता मेहताबसिंह को लगी तो वे हतप्रभ रह गए। चूंकि उन्हें विशेष न्यायिक मजिस्ट्रेट सीबीआई एवं आर्थिक अपराध इंदौर द्वारा 18 जनवरी को पेश होने के लिए समन जारी किया है लिहाजा अब वे वहां अपनी बात रखेंगे।

मैं अब बुरी तरह थक गया हूं

- नम्रता डामोर के पिता मेहताबसिंह ने बताया सीबीआई की क्लोजर रिपोर्ट से मैं बिलकुल भी सहमत नहीं हूं। मेरी बेटी की हत्या हुई थी। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट और फॉरेंसिक रिपोर्ट में यह बात सामने आई थी।

- पांच नामजद मुजरिमों के नाम भी बताए थे लेकिन ना तो पुलिस ने और ना ही सीबीआई ने उनसे ठीक से पूछताछ की। मैं अब बुरी तरह थक चुका हूं। ना पुलिस ने बात सुनी और ना सीबीआई ने।

- सीबीआई तो मप्र में हुई सारी हत्याओं को हत्या न मानते हुए क्लोजर रिपोर्ट लगा दी। एक भी केस में कुछ सामने नहीं आया। यह समझ से परे हैं। इस बारे में सीबीआई डायरेक्टर को भी पत्र लिखूंगा। 18 जनवरी को सीबीआई कोर्ट में पहले जो बात कही वही कहूंगा। मेरी बेटी की हत्या हुई है।