--Advertisement--

पृथ्वी के सबसे पास आया चांद, पूर्णिमा की रात हुए सुपरमून के दीदार

यूं तो सुपरमून की खगोलीय घटना 1 जनवरी को हुई, लेकिन मंगलवार रात भी पौष की पूर्णिमा के दिन इसके दीदार हुए। खगोलीय वैज्ञान

Danik Bhaskar | Jan 03, 2018, 07:35 AM IST

इंदौर. यूं तो सुपरमून की खगोलीय घटना 1 जनवरी को हुई, लेकिन मंगलवार रात भी पौष की पूर्णिमा के दिन इसके दीदार हुए। खगोलीय वैज्ञानिकों के अनुसार, जब चांद पृथ्वी के सबसे पास होता है तो इसे सुपरमून कहते हैं।

14 प्रतिशत तक बड़ा और 30 फीसदी चमकदार दिखता है चांद पृथ्वी के पास होने से

31 जनवरी को दिखेगा ऐसा ही नजारा
- 31 तारीख को भी चंद्रमा पृथ्वी के सबसे पास होगा। इसलिए सुपरमून उस दिन भी दिखेगा। एक माह में दूसरी बार पूर्ण चंद्रमा दिखने की घटना ‘ब्लू मून’ कहलाती है।