Hindi News »Madhya Pradesh »Indore »News» One Of Dabangg Lady Police Officers Mp Cadre

ये लेडी IPS बेटे को गोद में लेकर करती हैं गश्त, इनके साथ सेल्फी लेने की मचती है होड़

जिले की एएसपी ज्योति सिंह ठाकुर की गिनती तेज-तर्रार पुलिस ऑफिसरों में की जाती है।

नितिन राजावत | Last Modified - Mar 08, 2018, 07:56 AM IST

  • ये लेडी IPS बेटे को गोद में लेकर करती हैं गश्त, इनके साथ सेल्फी लेने की मचती है होड़
    +1और स्लाइड देखें
    गश्त के दौरान अपने ढाई साल के बच्चे के साथ एएसपी ज्योति।

    शाजापुर (इंदौर).जिले की एएसपी ज्योति सिंह ठाकुर की गिनती तेज-तर्रार पुलिस ऑफिसरों में की जाती है। बता दें कि ज्योति सिंह लॉ एंड ऑर्डर के साथ-साथ अपने परिवार की जिम्मेदारी भी बखूबी निभा रही हैं। वे दो नन्हे बच्चे की मां हैं। ड्यूटी के साथ ढाई साल का वेद और 7 साल के देव का ख्याल रखना चुनौती भरा काम है, लेकिन वो दोनों जिम्मेदारियां निभा रही हैं। सख्त पुलिस अधिकारी की छवि के साथ हाईवे पर वारदात करने वाले कंजरों को अपराध छोड़ने के लिए प्रेरित किया, तो शहर की लड़कियों में इनके साथ सेल्फी लेने की होड़ मची रहती है। पति और सास-ससुर देते हैं प्रेरणा...

    - ज्योति सिंह बताती हैं 2006 में डीएसपी के पद पर पुलिस विभाग ज्वाइन किया था। पति रविराज सिंह बघेल भी विदिशा पुलिस महकमे सेवाएं दे रहे हैं।

    - ऐसे में बच्चों की जिम्मेदारी खुद ही संभाली। हालांकि कई बार नौकरी और परिवार की आवश्यकताओं को लेकर विपरीत परिस्थितियों का सामना भी करना पड़ा।

    - एएसपी के अनुसार उन्होंने अपनी दोनों जिम्मेदारी के बीच सामंजस्य बैठा लिया है। एक पुलिस अधिकारी की ड्यूटी के साथ बच्चों के लिए वक्त निकालना मुश्किल होता है।

    - कई बार इसका बुरा भी लगता है। ऐसे में उनके परिवार में पति रविराज सिंह बघेल, सास जानकीदेवी और ससुर जनार्दन सिंह बघेल भी प्रेरणा देते हैं।

    अपराध छुड़वाकर मुख्य धारा से जोड़ा
    - जिले से होकर गुजरे एबी रोड सहित अन्य क्षेत्रों में कंजरों के आतंक से भय का माहौल बना हुआ था। इसे लेकर एएसपी सिंह ने सख्ती से कंजरों को अपराध छोड़ने के लिए प्रेरित भी किया।

    - नतीजतन पंपापुर सहित अन्य डेरों के करीब 50-70 युवाओं ने शाजापुर पहुंचकर समाज की मुख्य धारा से जुड़ने का संकल्प लिया।

    इसलिए पुलिस में बनाया कॅरियर
    - एएसपी सिंह के अनुसार पुरुष प्रधान समाज की मान्यताओं को पीछे छोड़ते हुए उन्होंने पुलिस सर्विस को चुना। क्योंकि समाज सेवा के साथ आमजन के साथ सीधे संपर्क में बने रहने का अच्छा अवसर है। इसी सोच और पुलिस वर्दी के प्रति आकर्षण ने ही उन्हें इस मुकाम तक पहुंचाया।

  • ये लेडी IPS बेटे को गोद में लेकर करती हैं गश्त, इनके साथ सेल्फी लेने की मचती है होड़
    +1और स्लाइड देखें
    ज्योति सिंह ने 2006 में डीएसपी के पद पर पुलिस विभाग ज्वाइन किया था।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Indore News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: One Of Dabangg Lady Police Officers Mp Cadre
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×